म्यूचुअल फंड में एचएनआई निवेश


बढ़ती अर्थव्यवस्था के बूते भारत में हाई नेटवर्थ इंडिविजुअल (एचएनआई) की संख्या और साथ ही साथ उनके निवेश में अच्छा खासा इजाफा हुआ है। किसी आम निवेशक की तरह एचएनआई भी रियल इस्टेट, शेयर, कमोडिटी, आर्ट, मुद्राएं एवं म्यूचुअल फंड आदि में निवेश करते हैं। हांलाकि उनको तुलनात्मक रूप से अधिक प्रतिफल मिल भी सकता है और नहीं भी पर वो बेहतर सेवाएं और बेहतर सूचनाओं की प्राप्ति जरूर पाते हैं। जैसे की यदि आप किसी बैंक के एचएनआई कस्टमर हैं तो मुमकिन है कि आपको बैंक जाने की जरूरत ही न पड़े। बैंक अधिकारी आपके घर आकर आपका काम करेंगे और यदि आप बैंक गए भी तो आपके लिए एक एक्सक्लूसिव कमरा होगा और आपके लिए एक तय रिलेशनशिप अफसर होगा।

एचएनआई यूं तो संख्या में कम होते हैं  पर उनका निवेश भारी भरकम होता है। यह वित्तीय संस्थानों को (जहां एचएनआई निवेश करना चाहते हैं) काफी आकर्षित करता है। दरअसल वित्तीय संस्थानों के लिए कम व्यक्तियों द्वारा दिए गए बड़े धन की तुलना में अधिक व्यक्तियों द्वारा दिए गए कम धन का परिचालन करना अधिक फलदायी होता है। यही वजह है कि संस्थाएं अपने  एचएनआई ग्राहकों को विशेष सुविधाएं और यहां तक कि विभिन्न कांसिआर्ज सेवाएं भी उपलब्ध कराती हैं। इन सेवाओं में मूवी टिकट, हेल्थ चेकअप, इनफॉरमेशन सर्विसेज, डिस्काउंट ऑफर आदि शामिल हैं। हैदराबाद स्थित एसबीआई का करोड़पति  ब्रांच तो अपने ग्राहकों को एयरपोर्ट पिकअप से लेकर गेस्टहाउस में रुकवाने जैसी सुविधा तक देता है। खैर यदि आप किसी म्यूचुअल फंड के एचएनआई ग्राहक हैं तो आपको इन सारी सेवाओं से महरूम रहना पड़ सकता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें

Leave a Reply