अर्थ जगत

गोल्ड ईटीएफ में निवेश यानि फायदे का सौदा  

सोने में निवेश करने के  बाजार में बहुत से पुराने तरीके आज भी चल रहे है, परन्तु यदि आप सोना खरीदने के बजे गोल्ड ईटीएफ में निवेश करते है तो यकीनन आपको अत्याधिक लाभ होगा | अब सवाल आता है कि गोल्ड ETF में निवेश कैसे करे तथा क्या ये फायदेमंद भी होता है | तो चलिए आपको इस बारे में विस्तार से बताते है –

सोने में निवेश यानि कि गोल्ड ईटीएफ : 

भारत देश में चाहे कोई नौकरीपेशा ऑफिस हो या किसान, हर कोई अपनी आय में से बचत कर सोने में निवेश करना पसंद करता है | अब सवाल आता है कि सोना यानि कि गोल्ड ही निवेश के लिए पहली पसंद क्यों ? दरअसल सोने को हमेशा एक रिस्क फ्री निवेश माना जाता है और यही कारण है कि भारत में निवेश के लिए सोना पहली पसंद बना हुआ है | भारत में कभी सोने को बेचा नहीं जाता और अक्सर देखा गया है कि परिवारों में सोना पीढ़ी दर पीढ़ी उपहार स्वरुप आगे चलता रहता है, परन्तु परिवार पर यदि कोई विपदा आ जाए तो ऐसे में यही सोना काम भी आता है |

कैसे करें म्यूचल फंड में इन्वेस्ट

पारंपरिक तरीके से सुनार के यहाँ से सोना खरीदने के एक आधुनिक विकल्प का नाम है  Gold ETF यानी कि एक्सचेंज ट्रेडेड फण्ड (Exchange Traded Fund) |

दरअसल Gold ETF एक प्रकार का फण्ड होता है जो कि निवेशकों के लिए उनके पैसे का सोने में निवेश करता है, जिसकी शुरुवात दस ग्राम, एक ग्राम या आधा ग्राम निवेश से भी कर सकते है | सोने के दाम के साथ साथ इसके दाम भी घटते बढ़ते रहते हैं | यदि आप इसे लेना चाहते है तो किसी ब्रोकर या म्यूचुअल फंड हाउस से भी खरीद सकते हैं |

खरीदे हुए Gold ETF यूनिट हमेशा निवेशक के डीमैट खाते में जमा होती हैं और वो जब चाहे इसको भुनाते हुए अपने गोल्ड ईटीएफ की कीमत के बराबर नकदी ले सकता हैं | हालाँकि कुछ Gold ETF स्कीम्स में आपको मैच्योरिटी के समय बराबर कीमत का सोना लेने का विकल्प भी दिया जाता है |

शेयर बाजार की एबीसीडी जानें और मुनाफा कमाएं

गोल्ड ईटीएफ के फायदे

खरीदने में आसान :  गोल्ड ईटीएफ खरीदने के लिए आपको कही जाने की जरुरत नहीं है,यदि आप इसमें निवेश करना चाहते है तो घर बैठे बैठे ही ऑनलाइन इसे खरीद सकते है|

रखने में आसान : चूँकि गोल्ड ईटीएफ आपके डीमैट एकाउंट में पड़ा रहता है, अत: इसके गुम या चोरी होने का कोई रिस्क नही होता और न ही रख रखाव की झंझट |

बहुत कम चार्जेज : इलेक्ट्रोनिक गोल्ड खरीदना व बेचने में बहुत कम चार्जेज लगते हैं, बजाय फिजिकल गोल्ड के मुकाबले|

शुद्धता की गारंटी : फिजिकल गोल्ड खरीदने में शुद्धता की गारंटी मिलनी बहुत मुश्किल है जबकि इलेक्ट्रॉनिक गोल्ड में किसी भी प्रकार की मिलावट की कोई आशंका ही नहीं होती |

SIP की सुविधा : अगर आप बड़ी मात्रा में सोना एक साथ नहीं खरीद सकते है तो Gold ETF गोल्ड ईटीएफ के जरिए हर माह एक निश्चित राशि में गोल्ड खरीदा जा सकता है, इस प्रक्रिया को SIP कहा जाता है | अर्थात आप चाहे तो एक या आधा ग्राम सोना प्रति माह भी खरीद सकते हैं|

कम मात्रा में खरीद :  गोल्ड ईटीएफ का एक फायदा यह भी है कि आप एक ग्राम अथवा आधा ग्राम के यूनिट में भी इसको खरीद सकते हैं जबकि र फिजिकल गोल्ड कम मात्रा में लेकर एकत्र करना असुविधाजनक होता है |

पूरी बात का निचोड़ सिर्फ इतना है कि यदि आप सोने में निवेश करने के इच्छुक है तो Gold ETF गोल्ड ईटीएफ में निवेश कर उसे डीमैट खाते में जमा कर के सुख की बांसुरी बजाये |

पॉलिसी बीच में बंद कराना चाहते हैं तो रखें इन बातों का ध्यान

सिप से करे शेयर बाजार में इन्वेस्ट और कमाएं मुनाफा

क्रेडिट कार्ड के ये फायदे जानकर आप रह जाएंगे हैरान

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें
Title: how to invest in gold etf | In Category: अर्थ जगत  ( arth jagat )

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *