इनकम टैक्स रेट वित्त वर्ष 2017-18


अक्सर छोटा-मोटा कारोबार करने वाले व्यापारी दुविधा में रहते है कि इस वित्त वर्ष में कितनी इनकम पर कितना इनकम टैक्स बनेगा या हम इनकम टैक्स की रेंज में आते है या नहीं | कभी कभी बात इतनी बढ़ जाती है कि वो किसी ऐसे इंसान से राय ले लेते है जिन्हें इसकी बिलकुल जानकारी नहीं होती | तो चलिए आज उन्ही कारोबारियों को बताते है कि वित्त वर्ष 2017-18 में इनकम टैक्स रेट क्या रहने वाला है

वित्त मंत्री ने 2.5 लाख से 5 लाख के स्लैब में इनकम टैक्स 10% से घटा कर 5% कर दिया है तथा इसी के साथ धारा 87A के तहत मौजूदा छूट (वर्तमान में 5 लाख रुपये की आय के तक) 3.5 लाख रुपये से 2.5 लाख रुपये के बीच की कमाई वाले व्यक्तियों के लिए मौजूदा 5000 रुपये से कम करके 2500 रुपये करने का प्रस्ताव पारित किया है, जिसके अनुसार तीन लाख रुपये तक की आय पर देय इनकम टैक्स जीरो हो जाएगी जबकि धारा 80C में दिए गए प्रावधान के अनुसार 1.5 लाख निवेश करने पर 4.5 लाख तक की आय पर देय इनकम टैक्स जीरो होगा |

साठ साल से कम आयु के लिए      Income Tax Rates
इनकम टैक्स स्लैबइनकम टैक्स रेट्स
रु 2,50,000 से कम आयशून्य
कुल आय रु 2,0,000 से ज्यादा मगर रु 5,00,000 से कमरु. 2,50,000 से अधिक जितनी आय है उस पर 5%
कुल आय रु 5,00,000 से ज्यादा मगर रु 10,00,000 से कमरु. 5,00,000 से अधिक जितनी आय है उस पर 20%
कुल आय रु 10,00,000 से जादारु. 10,00,000 से जितनी अधिक आय है उस पर 30 %

सरचार्ज 50 लाख से 1 करोड़ तक की आय पर 10% सरचार्ज  और 1 करोड़ से अधिक की आय पर 15% सरचार्ज लगेगा.

साठ साल से अधिक और अस्सी साल से कम आयु के लिए Income Tax Rates
इनकम टैक्स स्लैबइनकम टैक्स रेट्स
रु 3,00,000 से कम आयशून्य
कुल आय रु 3,00,000 से ज्यादा मगर रु 5,00,000 से कमरु. 3,00,000 से अधिक जितनी आय है उस पर 5%
कुल आय रु 5,00,000 से ज्यादा मगर रु 10,00,000 से कमरु. 5,00,000 से अधिक जितनी आय है उस पर 20%
कुल आय रु 10,00,000 से जादारु. 10,00,000 से जितनी अधिक आय है उस पर 30 %

सरचार्ज 50 लाख से 1 करोड़ तक की आय पर 10% सरचार्ज और 1 करोड़ से अधिक की आय पर 15% सरचार्ज लगेगा.

अस्सी साल से अधिक आयु के लिए Income Tax Rates
इनकम टैक्स स्लैबइनकम टैक्स रेट्स
रु 5,00,000 से कम आयशून्य
कुल आय रु 5,00,000 से ज्यादा मगर रु 10,00,000 से कमरु. 5,00,000 से अधिक जितनी आय है उस पर 20%
कुल आय रु 10,00,000 से जादारु. 10,00,000 से जितनी अधिक आय है उस पर 30 %

सरचार्ज 50 लाख से 1 करोड़ तक की आय पर 10% सरचार्ज और 1 करोड़ से अधिक की आय पर 15% सरचार्ज लगेगा.

 

गोल्ड ईटीएफ में निवेश फायदे का सौदा

कैसे करें म्यूचल फंड में इन्वेस्टमेंट

एटीएम कार्ड यूज करने वालों का भी होता है बीमा

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें

Leave a Reply