अर्थ जगत

क्या आप भी जानते हैं पैसा बचाने के आसान उपाय

आज के समय में सबसे बड़ी चुनौती है भविष्य के लिए पैसे कैसे बचाये और एक सीधी सी बात यह भी है कि यदि आप बचत नहीं करेंगे तो निवेश (Invest) कैसे करेंगे यानी कि यदि आप पैसो की बचत करते है तभी आप निवेश भी कर पायेंगे | तो चलिए आज आपको कुछ आसान तरीके बताते है या यूँ कहे कि छोटी छोटी आदतें जिन्हें बदलकर आप खर्चालू इंसान से बचत करने वाला इंसान बन सकते हैं |

अधिकतर युवा पीढ़ी के साथ यही समस्या है कि करियर के शुरुआती वर्षों में पैसे बचाना इनके लिए किसी महाभारत की जंग से कम नहीं होती, मगर आज आपको कुछ आसान तरीके बता रहे है, जिन्हें अपने जीवन में अपनाने से अधिक से अधिक बचत कर सकते हैं -

जानिए कैसें करें म्यूचलफंड में निवेश

खर्च से पहले बचत

Save before spending  अर्थात खर्च से पहले बचत | मशहूर निवेशक वॉरेन (Warren Buffett) के अनुसार हमेशा पहले बचत करे और जो बच जाए उतना ही खर्च करें | महीने के शुरूवात में ही  बचत कर लें, और जो बचे उतना ही खर्च करें | जबकि अधितर लोग अपनी आय से सभी खर्चों को निकाल कर जो शेष बच जाए उतनी ही बचत करते हैं |

दिखावा न करे

कुछ भी नया या महंगा खरीदने से पहले एक बार फिर सोच ले कि क्या वाकई आपको इस वस्तु की जरूरत है? कही ऐसा तो नहीं, कि आप दिखावा करने के चक्कर में महँगा या बजट से बाहर की वस्तु तो नहीं खरीद रहे ? मान लो आप आईफोन खरीदना चाहते है तो पहले एक बार सोच ले क्या सच में आईफोन आपकी जरुरत की वस्तु है | कभी भी इस मतलब से कोई वस्तु न ख़रीदे कि आपके दोस्त के पास भी है अत: आपको भी लेनी है | कुछ भी महंगा खरीदने से पहले अपने फैसले को तीस दिनों के लिए स्थगित कर दे और देखे कि क्या तीस दिन तक आप बिना उस वस्तु के रह सके या नहीं ? यदि आप तीस दिन तक बिना उस वस्तु के रह लेते है तो यकीनन आपको उसकी जरूरत नहीं है |

जानिए गोल्ड ईटीएफ में निवेश के तरीके

क्रेडिट कार्ड से जितना हो सके दूरी बनाये

जब हम बटुवे (wallet) में हाथ डालकर किसी को पैसा देते है तो हमे खर्च हुयी राशी का एहसास होता है, जबकि क्रेडिट कार्ड से की गयी पेमेंट का कोई अहसास नहीं होता और अगर एहसास होता भी है तो वो तब जब हमारे सामने एक लम्बा-चौड़ा बिल आकर हमारा दिल जलाता है | अत: बाजार से खरीददारी करने से पहले अपना बजट सुनिश्चित करें और उतना ही नकद जेब में रखकर घर से निकले और जितना हो सके  क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से दूरी बनाये |

छोटी बचत

कैरियर की शुरुवाती दिनों में जब आय कम या न के बराबर होती है, ऐसा वक़्त होता है जब बचत करना किसी ख्वाब जैसा होता है | अगर ऐसे वक़्त में भी थोड़ा थोड़ा बचाने की कोशिश करे तो धीरे धीरे आप छोटी बचत से बढ़ी बचत की और अग्रसर होने लगेंगे | जैसे SIP में निवेश या पोस्ट ऑफिस RD  में छोटा से निवेश कर आप एक बड़ी बचत कर सकते है |

एटीएम कार्ड यूज करने वालों का भी होता है बीमा

बजट बनाएं

जैसे ही महीना शुरू हो, सबसे पहले अपना बजट तैयार करे और बिना हिसाब किताब के कभी खर्च न करे | यदि आप पहले ही बजट बना लेंगे तो आपको ज्ञात रहेगा कि कहां और कितना खर्च करना है | निश्चित किये बजट पर कायम रहें और परिवार को भी इसी बजट में पालन करने को कहे, और यदि सभी मिल कर निर्णय लेंगे तो सभी उस निर्णय पर कायम भी रहेंगे |

एक बात हमेशा याद रखे कि अधिकतर लोगो ये सोचकर कभी बचत नहीं करते कि जब मेरी आय बढ़ेगी तब मैं बचत करूंगा, यह सोच का गलत तरीका है | मान लीजिये कोई व्यक्ति महीने का तीस हजार रुपये कमाता है और वो पूरे तीस हजार महीने के अंत तक खर्च कर देता है, जबकि एक अन्य व्यक्ति महीने का बीस हजार रुपये कमाता है और उसमे से भी महीने के अंत में दस हजार रुपये बचा लेता है, तो इस हिसाब से कौन जल्दी अमीर बनेगा तथा कौन सबसे अधिक समझदार है ? दोनों प्रश्नों का जवाब एक ही होगा वो व्यक्ति जो माह के अंत में रुपयों की बचत कर लेता है | मान लीजिये आप पूरे महीने कमाई राशी को खर्च कर देते है और कभी आप बीमार हो जाते है तो ऐसे में आपका बजट बिगड़ जायेगा या आपको किसी से उधार लेना पड़ेगा, जब आप यदि पैसो की बचत कर के चले तो बचाया हुआ धन ऐसे वक़्त में काम आता     है |

घर बैठे पैसा कमाने के दस तरीके जो बदल देंगे आपका जीवन

कला में निवेश कर कैसे कमाएं मुनाफा

म्यूचल  फंड में निवेश के अलग अलग तरीके

 

Read all Latest Post on अर्थ जगत arth jagat in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें
Title: step by step guide to money saving habits in Hindi  | In Category: अर्थ जगत arth jagat

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *