Home Articles posted by अवनीश मिश्रा
अर्थ जगत

गोल्ड लोन कंपनियों का मायाजाल

गोल्ड लोन देने वाली कंपनियों को लेकर आरबीआई की ढुलमुल नीति समझ से परे है। इन कंपनियों की विकास दर देखकर आप चौंक जाएंगे। मूथूत फाइनेंस और मनप्पुरम गोल्ड जैसी कंपनियों के दफ्तर गली गली में खुल गए हैं। ये कंपनियां किस आधार पर सोने की गुणवत्ता का आकलन करती हैं, किसी को पता नहीं। […]
अर्थ जगत

नियामकों की लेट लतीफी

का वर्षा जब कृषि सुखाने। जब समय पर कोई काम नहीं हो तो उस काम के होने का क्या मतलब? आजकल हमारे वित्तीय संस्थानों को भी नियामकों से कुछ ऐसी ही शिकायत है। वित्तीय संस्थान बाजार की जरूरतों के मद्देनजर नए-नए तरह के वित्तीय उत्पाद लेकर आते हैं। इन उत्पादों को आप तक पहुंचाने से […]
अर्थ जगत

सटोरिया बनने की कला

सटोरिया शब्द सुनते ही हम चौकस हो जाते हैं। शेयर बाजार सटोरिए की गिरफ्त में है, यह बोलकर हम अपने घाटे का ठीकरा सटोरिए के सर पर फोडऩे की कोशिश करते हैं। कभी किसी सटोरिए के अमीर बनने की खबर से सटोरिया बनने की हसरत हममें भी जग जाती है। सटोरिया मतलब सट्टा लगाने वाला। […]
अर्थ जगत

खबरों के बाजार में निवेशक बेजार

यदि आप शेयर बाजार में निवेश करते रहे हैं तो आर्थिक व व्यावसायिक खबरों के महत्व से भली भांति परिचित होंगे। इन खबरों के अचानक प्रकट हो जाने से आपको कई बार फायदा तो कई बार नुकसान भी उठाना पड़ा होगा। इन खबरों पर हमारा आपका कोई वश नहीं है। पर उन खबरों का क्या […]
अर्थ जगत

शेयर बाजार में मशीनी निवेशकों का हडक़ंप

शेयर बाजार में पैसा लगाने वाले निवेशकों को इन दिनों नई तकनीक से चुनौती मिलने लगी है। तकनीक से लैस विदेशी संस्थागत निवेशक, घरेलू संस्थागत निवेशक और कुछ समृद्ध संस्थागत निवेशक तकनीकी के प्रयोग से बिजली की गति से शेयर बाजार में खरीद फरोख्त के आर्डर प्लेस कर देते हैं। इससे बाजार पलक झपकते छलांग […]
अर्थ जगत

निवेश के क्षेत्र में भावना का क्या काम?

जब कभी शेयर बाजार में मंदी का दौर शुरू होता है, निवेश के लिए मन ललचाने लगता है। शेयर बाजार को लेकर भय और लालच की यह मन:स्थिति बहुत हद तक रिटेल निवेशकों तक सीमित है। म्यूचुअल फंड के फंड मैनेजर्स, एचएनआई के पोर्टफोलियो मैनेजर्स और विदेशी संस्थागत निवेशकों के वेल्थ मैनेजर्स इस तरह की […]
अर्थ जगत

किस दुकान से खरीदें वित्तीय उत्पाद

जब कभी आप उपभोग की वस्तुएं खरीदने जाते हैं, कई दुकानों पर उसी सामान का दाम पता करते हैं, गारंटी व वारंटी की तुलना करते हैं, डेलिवरी फ्री में होगी या उसके लिए अलग से पैसा देना होगा जैसी बातों की चर्चा करते हैं। कई दुकानों पर एक ही सामान का भाव पता करने के […]
अर्थ जगत

पोर्टफोलियो को पहनाएं सुरक्षा कवच

कई बार ऐसी स्थितियां आती हैं जब आपका निवेश या तो ठहर जाता है या उसमें गिरावट आने लगती है। शेयर की कीमत को नियंत्रित करना या उसके मूल्यों में गिरावट का सटीक अनुमान लगाना किसी के लिए भी मुश्किल है। ऐसी दशा में आपके पास दो परंपरागत रास्ते हैं- या तो आप अपने पोर्टफोलियो […]
अर्थ जगत

प्रॉपर्टी को कैश में कन्वर्ट करने का नुस्खा

शेयर बाजार में निवेश को लेकर परिवार के लोग शायद ही सपोर्ट करें पर मकान, दुकान या प्लॉट खरीदने के नाम पर उनका भावनात्मक सहयोग बिन मांगे मिल जाता है। इस बात में कोई दोमत नहीं कि रियल एस्टेट में निवेश से बेहतरीन रिटर्न मिलता है पर उसमें किया गया निवेश उतना लिक्विड नहीं होता। […]
अर्थ जगत

निवेश क्षेत्र के नीम हकीम व पूंजी का मातम

जब आपका बच्चा दसवीं में जाता है और उसे साइंस व आट्र्स में से कोई खास स्ट्रीम चुनना होता है तो आप किससे पूछते हैं? आप किसी अनुभवी अघ्यापक से मशविरा करते हैं, उसके क्लास टीचर से सलाह लेते हैं, बच्चे कीरुचि का पता लगाते हैं और बच्चे की पढ़ाई के लिए एक दिशा तय […]