होली के विभिन्न रूप


बच्‍चों तुम्‍हें रंग-बिरंगी होली तो याद होगी, अरे होगी क्‍यों नहीं यही तो त्‍योहार है जिसमें आप अपने हाथों में रंगबिरंगी पिचकारी लेकर खूब धमाल मचाते हो और क्‍या मजाल जो कोई आप से बचकर निकल जाए। पर क्‍या तुम जानते हो कि हमारे देश में ही नहीं रंग और अबीर का यह पर्व अन्‍य देशों में भी मनाया जाता है। बेशक इसका स्‍वरूप कुछ भिन्‍न्‍ा होता है आइए जाने कि किस किस देश में होली को कैसे मनाते हैं।
• रूस में 31 मार्च को होली के समान ही मूर्ख दिवस मनाया जाता है। इसमें भांति-भांति के हास्य एवं महामूर्ख सम्मेलनों का आयोजन किया जाता है।
• श्रीलंका में होली का त्योहार बिल्कुल भारत के समान ही मनाया जाता है। होली की भांति ही रंग, गुलाल और पिचकारियां सजती हैï। सब लोग गिले-शिकवे भुलाकर गले मिलते हैï।
• चीनी भाषा में इसे च्वैजे की संज्ञा दी गयी है। इस दिन लकडि़यों का ढेर लगाकर आग लगाते हैï। एक-दूसरे पर रंग डालते हैï। उसके पश्चात रंगबिरंगे वस्त्र पहनकर एक-दूसरे को शुभकामनाएं देते हैï।
• यूनान में यह उत्सव पोल नाम से मनाया जाता है। इस दिन यूनानी देवता टायनोसियस की पूजा की जाती है। लोग आग जलाकर नाचते-गाते हैï। लोगों की मस्ती देखते ही बनती है।
• फ्रांस में स्थानीय पर्व गाचो के नाम से होली मनायी जाती है, जिसमें वहां के लोग घास के पुतले जलाकर एक-दूसरे पर रंग डालते हुए मौज-मस्ती करते हैï।
• बेल्‍िजयम में भी कुछ स्थानों पर होली जैसा उत्सव मनाने का रिवाज है। हंसी-खुशी से भरे हुए इस पर्व पर लोग पुराने जूते जलाते हैï। सब लोग आपस में मिलकर हंसी-मजाक करते हैï। जो लोग इस उत्सव में शामिल नहीï होते, उनका मुंह रंगकर उन्हेï गधा बनाया जाता है और उनका जुलूस निकाला जाता है।
• पोलैंड में होली को आरशिना के नाम से जाना जाता है। इस अवसर पर फूलों से बनाए गए रंग एक-दूसरे पर डाले जाते है। यह त्योहार समूह रूप में मनाया जाता है।
• मॉरिशस में यह पर्व बिल्कुल भारत के समान ही मनाया जाता है। यहां पर 15 दिन पूर्व ही इस पर्व की तैयारियां प्रारंभ हो जाती हैï। रंग, अबीर से पूरा वातावरण ही रंगमय हो जाता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *