पांच सेकेंड में किसी को प्रभावित कर सके आपका रेज्‍युमे  


आज जब एक ही जॉब के लिए हजारों लोगों की लाइन होती है ऐसे में माहौल बहुत प्रतिस्पर्धा से भरा है। कई बार कंपनी सिर्फ रेज्युमे के आधार पर ही लोगों को इंटरव्यू के लिए कॉल करती हैं, और काफी लोगों को सिर्फ रेज्युमे देखकर ही रिजेक्ट कर दिया जाता है। ऐसे में आपको बायोडाटा इतना इंप्रेसिव होना चाहिए कि वह पांच सेकंड में ही दूसरों को प्रभावित कर दे। इसके लिए आप अपनी स्किल्‍स व योग्‍यताओं को अलग-अलग वर्गों में बांटकर हेडिंग्‍स के जरिए पेश करें। हालांकि ये हेडिंग्‍स जॉब की जरूरत से मैच करने चाहिए।
अच्छा डिजाइन
रेज्‍युमे को देखने के दौरान आपकी एक इमेज बना ली जाती है। ऐसे में अगर देखने वाले को जॉब प्रोफाइल से मैच करती चीजें नहीं मिलेंगी, तो वह आपको जॉब के लिए सही कैसे मानेगा। इसलिए बायोडेटा का डिजाइन ऐसा रखें, जिसमें आपकी क्‍वॉलिफिकेशंस व एकसपीरियंस उभरकर आए। ध्‍यान रखिए कि इस डिजाइन के जरिए आपको पहली ही नजर में पढ़ने वाले को प्रभावित करना है।
सही कंटेंट चुनें
रेज्‍युमे का अच्‍छा डिजाइन सही कंटेंट के बिना कुछ नहीं कर पाएगा। इसलिए इसमें दी जाने वाली जानकारियों का खास ध्‍यान रखें। इंटरव्‍यू के लिए अने वाली कॉल्‍स की संख्‍या इस बात पर काफी डिपेंड करती है कि आप अपने बारे में जानकारी किस तरह देते हैं।
पावर वर्ड चुनें
नंबर्स और क्‍वांटिटी वाले डाटा का प्रयोग एक अच्‍छी इमेज क्रिएट करता है, जबकि आम स्‍टेटमेंट्स जल्‍दी ही भुला दी जाती हैं। साथ ही, जॉब के लिए अप्‍लाई करते समय शब्‍दों का चयन बेहद सोच समझकर करें। आपकी कोशिश जॉब के प्रोफाइल से मैच करते शब्‍दों को चुनने की होनी चाहिए
कीवर्डस पहचानें
जॉब्‍स के लिए विज्ञापन देते समय कई तरह के की वर्ड्स इस्‍तेमाल किए जाते हैं। इन शब्‍दों को पहचानें और इन्‍हें रेज्‍यूमे में डालें। इससे आपका इंप्रेंशन बहुत अच्‍छा बनेगा।
एंप्लॉयर की जरूरत पहचानें
आज के प्रतियोगी युग में आपको जॉब तभी मिल सकती है, जब आप खुद को अच्‍छे से प्रजेंट करने के साथ जॉब ऑफर करने वाले की जरूरत को भी समझेंगे। ऐसे में आप अपने रेज्‍युमे में यह लिख सकते हैं कि इस जॉब में आने वाली परेशानियों को आप किस तरह सुलझाने में सक्षम हैं।
अपनी स्किल् बढ़ाएं
अपनी स्किल्‍स को पहचानें व इन्‍हें और मजबूत बनाने की ओर काम करें। साथ ही, रेज्‍यूमे में इस बात को अच्‍छी तरह हाइलाइट करें। ध्‍यान रखें कि इंटरव्‍यू के दौरान इस पक्ष पर आपसे सबसे ज्‍यादा सवाल पूछे जा सकते हैं, लिहाजा इसे उसी तरह पेश करें।
सैलरी के मुताबिक इमेज बनाएं
जॉब के लेवल व सैलरी हाइक को ध्‍यान में रखते हुए ही बायोडाटा तैयार करें। साथ ही, अपनी ऐसी इमेज भी तैयार करें, जिसमें लगे कि आप वाकई इस लेवल तक पहुंचने के काबिल हैं।
कंटेट सही तरह रखें
रेज्‍युमे तैयार करते समय अक्‍सर लोग महत्‍वपूर्ण कंटेंट को नीचे कर देते हैं और कम जरूरी जानकारियां पहले डाल देते हैं। इसलिए जब भी अपना बायोडाटा तैयार करें, तो उस दौरान सारी जानकारी को प्रायोरिटी के हिसाब से अरेंज करें। ध्‍यान रखें कि एक अच्‍छी व स्‍ट्रांग स्‍टेटमेंट बाद में आने वाली अच्‍छी स्‍टेटमेंट को ज्‍यादा प्रभावी बना देती है।
जॉब के अनुसार बनाएं रेज्यूमे
हर जगह एक ही रेज्‍यूमे भेज देने से काम नहीं चलेगा, बल्कि इसमें जॉब की जरूरत के मुताबिक बदलाव लाना चाहिए। यह बात आपके कवर लेटर पर भी लागू होती है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *