पत्रकारिता फील्ड में भी बढ़ रही है प्रोफेशनल्स की जरूररत


आज करीब दो दशक पहले तक खबरों के लिए आम आदमी सिर्फ और सिर्फ अखबार या रेडियों पर ही निर्भर था। सिर्फ दूरदर्शन ही एकमात्र ऐसा चैनल था जिस पर खबरें प्रसारित होतीं थीं। पर बदलते वक्त के साथ आज पत्रकारिता के क्षेत्र में भी आमूलचूल परिवर्तन हुए हैं, अब आप हर पल की खबर जब चाहें, जहां चाहें देख सकते हैं। टीवी, इटंरनेट और मोबाइल की दुनिया ने पत्रकारिता जगत की काया ही पलट कर रख दी है। अब चाहे कहीं दो देशों के बीच लड़ाई चल रही हो या फिर पीस मीटिंग, चाहे कहीं आग लगी हो या कहीं आतंकवादी हमला हो गया हो, पत्रकार सबसे पहले आपकी उस जगह से रिपोर्ट करते नजर आते हैं। इसके अलावा अखबारों के सर्कुलेशन में भी काफी बढ़ोत्‍तरी हुई है। एक अनुमान के मुताबिक भारत के करीब 10 करोड़ से ज्‍यादा लोग अपनी सुबह की शुरूआत किसी हिंदी या अंग्रेजी न्‍यूजपेपर से करते हैं।
अगर आप एक पत्रकार के रूप में करियर बनाना चाहते हैं तो यह एक बेहद चैलजिंग काम है। बाहर से बेहद ग्‍लैमरस और ठसकदार नजर आने वाले इस क्षेत्र में वही कामयाब है, जिसके पास कुछ कर गुजरने का जज्‍बा है। अगर आप खुद को इसी कैटेगरी में पाते हैं, तो जर्नलज्मि की दुनिया को आपका इंतजार है।
बदल रहा है मीडिया
बदलते जमाने के साथ मीडिया फील्‍ड की चुनौतियां भी काफी तेजी से बढ़ी हैं। ब्रेकिंग न्‍यूज का कांसेप्‍ट आने के बाद से जर्नलिस्‍ट का रोल काफी एक्टिव हो गया है। अगर आप थोड़ा भी चूके तो आपका कॉम्पिटीटर उसे बतौर एक्‍सक्‍लूसिव पेश कर देगा। इसलिए अब इस फील्‍ड में भी प्रोफेशनल लोगों की जरूरत महसूस की जाने लगी है। इसी वजह से अब मीडिया ग्रुप इधर-उधर से नियुक्तियां करने की बजाय बाकायदा मीडिया इंस्‍टीटट्यूटों में कैंपस इंटरव्‍यू करके प्रोफेश्‍नल्‍स जर्निलिस्‍ट की भर्ती करना पंसद करते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *