दिन पर दिन बढ‍़ रही है अच्छे पटकथा लेखकों की मांग


क्या आप भाषा के धनी है मतलब आपकी भाषा पर अच्छी पकड़ है। आप में मानव मन में चल रहे विचारों को भांप लेने की क्षमता है, क्या आप अपने चारों ओर चल रहे हैं माहौल में कोई कहानी देखते हैं, अगर वास्तव में आप में यह सब प्रतिभाएं हैं तो आप भी पटकथा लेखन में भी अपना हाथ आजमा सकते हैं। रोज नए नए चैन्लस आने से इस क्षेत्र में काम करने वाले अच्छे पटकथा लेखकों की मांग दिन पर दिन बढ़ रही है। भारतीय सिनेमा जगत दिन पर दिन बढ‍़ता जा रहा है और अच्छे पटकथा लेखकों की कमी सदा यहां रही है।

लेखन में रुचि रखने वाले पटकथा लेखक के रूप में भी एक सुनहरे भविष्‍य की आशा कर सकते हैं। पटकथा लेखन भी नाम के साथ पैसा देने वाला करियर है, लेकिन भाषा-विषय आदि पर अच्‍छी पकड़ रखने वाले सृजनात्‍मक व्‍यक्ति ही इसमें सफलता की ऊंचाईयों को छू सकते हैं। पटकथा लेखन एक कौशलपूर्ण सृजनात्‍मक कार्य है और इसमें आकर्षण, मनोरंजन व यहां तक कि रोमांच की गुंजाइश भी बराबर बनी रहती है।
क्या है पटकथा लेखन
फिल्‍म-सीरियल, डॉक्‍युमेंट्री आदि निर्माण से पूर्व एक कथा-कहानी लिखी जाती है। कथा-कहानी लेखन के बाद की चीज है पटकथा लेखन, जिसे स्‍कूल प्‍ले भी कहा जाता है। एक कहानी, जो दृश्‍यों, बिम्‍बों व संवादों के द्वारा कही जाती है। पटकथा लेखन को चित्र लेखन भी कहते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *