वेब डिजाइनिंग में है रोजगार की अपार संभावनाएं


आजकल के दौर में जब सारी दुनिया सिमटकर आपके मोबाइल या टैब में समा गई है ऐसे में वेबसाइटों की महत्ता दिन पर दिन बढ‍़ती जा रही है। हर कंपनी वो छोटी हो या बड़ी नेट पर अपनी प्रजेंस के लिए अपनी वेबसाइट जरूर बनाती है। ऐसे में वेब डिजाइनर प्रोफेशन्लस की मांग दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। इस कोर्स के लिए आपको बहुत अधिक एकेडमिक पढ़ाई की आवश्यकता नहीं है बस आपको चाहिए डिजाइनिंग की बेसिक समझ और थोड़ी सी क्रिएटविटी। वेब डिजाइनिंग मल्‍टीमीडिया कोर्स का एक छोटा सा हिस्‍सा है, जिसमें वेब पन्‍नों की डिजाइनिंग सिखाई जाती है।
वेब डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए जरूरी नहीं है कि आप ग्रजुऐट या पोस्‍ट ग्रेजुएट हों। आप दसवीं या बारहवीं के बाद भी यह कोर्स कर सकते हैं। बस इसके लिए कंप्‍यूटर की बेसिक जानकारी होने के अलावा तीन चीजें इंट्रेस्‍ट क्रिएटिविटी और डिजाइनिंग सेंस जरूरी है क्‍योंकि यह क्रिएटिविटी का काम है। आपकी इमैजिनेशन और क्रिएटिविटी जितनी ज्‍यादा होगी, आप उतना अच्‍छा वेब पेज बना पाएंगे।
वेब डिजाइनिंग में वैरायटी की जरूरत है, इसलिए इसमें इंट्रेस्‍ट और इमैजिनेशन महत्‍वपूर्ण योग्‍यता है। इसके बिना आप चाहें कितना ही बढि़या इंस्‍टीट्यूट से कोर्स कर लें अच्‍छे वेब डिजाइनर नहीं बन सकते।
कहां से करें पढ़ाई
एनआईआईटी, एरिना मल्‍टी मीडिया, पंपकिन एकेडमी ऑफ डिजिटल आर्ट्स के अलावा अपने आसपास के कंप्‍यूटर इंस्‍टीट्यूट से वेब डिजाइनिंग का कोर्स कर सकते हैं। इसके लिए आपको कंप्‍यूटर की बेसिक जानकारी होनी चाहिए। यह तीन से चार महीने का शॉर्ट टर्म कोर्स होता है। इसके लिए फीस संस्‍थान के ऊपर निर्भर करती है। आप अपने बजट और सुविधा के हिसाब से यह कोर्स कर सकते हैं।
रोजगार के अवसर
आज जब सारी चीजें ऑनलाइन हो गई हैं, तो वेब डिजाइनर्स के लिए अच्‍छा स्‍कोप है। हिंदी अंग्रेजी पब्लिकेशन, न्‍यूज चैनल्‍स के अलावा भी वेब डिजाइनिंग में रोजगार की तमाम संभावनाएं हैं, इसलिए वेब डिजाइनिंग का कोर्स करने के बाद आपको रोजगार के लिए भटकना नहीं पड़ेगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *