ओंकारेश्वर जाएं तो जरूर करें रूद्राक्ष वृक्ष के दर्शन


मान्यता है कि ओंकारेश्वर मंदिर और ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन के साथ साथ रूद्राक्ष के वृक्ष का दर्शन करने का बहुत महत्व है । माना जाता है कि रूद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शंकर के आंसुओं से हुआ है यही कारण है कि भगवान शिव की पूजा में रूद्राक्ष की माला का प्रयोग किया जाता है। रुद्राक्ष को भगवान शंकर का आशिर्वाद भी माना गया है | लोगों को ओंकारेश्वर मंदिर में पूजा पाठ करने के साथ साथ ओंकारेश्वर के दरवाजे के पास लगे हुए रुद्राक्ष के पेड़ कि पूजा जरूर करनी चाहिए । रूद्राक्ष का दर्शन करना लाभकारी होता है परन्तु यदि आप दर्शन करने के बाद प्रतिदिन जल भी चढ़ाएं तो घर में सुख शांति बनी रहती है क्योंकि ऐसा करने से भगवान शिव की कृपा आप पर बनी रहती है |

घर से भागे प्रेमियों को मिलती है यहां पर शरण

रुद्राक्ष एक फल का बीज है। रुद्राक्ष के पहनने या अपने पास रखने से लोगों के अंदर पॉजीटिव एनर्जी आती है, अत: शिवभक्तों के लिए इसका पूजन करना लाभकारी होता है। रुद्राक्ष  कई प्रकार के होते है और उनके फायदे भी अलग अलग होते है | जैसे एकमुखी रुद्राक्ष को भगवान शंकर का प्रतीक माना जाता है तथा इसे धारण करने के बाद मनुष्य सभी प्रकार के भौतिक सुख व शांति को प्राप्त करता है।

दो मुखी रुद्राक्ष शिवपार्वती का प्रतीक होता है तथा इसे धारण करने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं तथा जीवन में सुख समृद्धि और शरीर को कांति बढती है। तीनमुखी रुद्राक्ष अग्नि का प्रतीक होता है तथा इसे पास रखने से  सुख शांति ऐशोआराम कि प्राप्ति होती है । चारमुखी रुद्राक्ष पन्चदेव का सूचक होता है तथा यह धन, धर्म, काम और मोक्ष देता है।

दस गुना ज्यादा लाभ मिलता है महामृत्युजंय मंत्र के जाप से

पांच मुखी रुद्राक्ष सभी देवी देवता का सूचक है तथा यह सुख देने वाला होता है व छह मुखी रुद्राक्ष प्रभु कार्तिकेय का प्रतीक होता है और यह सभी पापो से छुटकारा व पुत्र देने वाला होता है। सात मुखी रुद्राक्ष भगवान अनन्त का प्रतीक है और इसको धारण करने से गरीबी दूर होती है।

आठ मुखी रुद्राक्ष गणपति जी का सूचक है तथा ये लम्बी उम्र की प्राप्ति के लिए धारण किया जाता है । नव मुखी रुद्राक्ष मां शक्ति स्वरूपा का प्रतीक है तथा इसके समीप होने से मृत्यु के भय से छुटकारा मिलता है। दस मुखी रुद्राक्ष भगवान विष्णु का सूचक है तथा ये सुन्दरता प्रदान करता है। ग्यारह मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से हर जगह सफलता मिलती है ।

आर्थिक तंगी से परेशान हैं तो करे ये उपाय होगा लाभ

बारह मुखी रुद्राक्ष से घर में लक्ष्मी व तेरह मुखी रुद्राक्ष जो कि इंद्र देव का प्रतीक होता है तथा ये शुभ व लाभ देने वाला होता है। चौदह मुखी रुद्राक्ष बजरंग बली का सूचक है और ये सभी पापों से मुक्ति दिलाता है।

 

जहां जाने से होती है सारी मुराद पूरी

जहां तांत्रिक और अघोरी करते हैं मनोकामना पूरी करने के लिए अनुष्ठान

ध्यान जो ले जाता है समाधि के मार्ग पर

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें

Leave a Reply