काली हल्दी का प्रयोग बदल देगा आपकी रूठी किस्मत, जाने अचूक उपाय  


ज्योतिषीय उपायों में हल्दी की विशेष प्रजाति का प्रयोग किया जाता है, जिसे काली हल्दी के नाम से जाना जाता है । काली हल्दी, धन व बुद्धि का कारक तो है ही, साथ में काली हल्दी अनेक तरह के बुरे प्रभाव को भी कम करती है |

शुक्ल या कृष्ण किसी भी पक्ष की अष्टमी तिथि की सुबह सूर्यादय से पहले उठकर स्नान करने के बाद साफ कपड़े पहनकर पूर्व दिशा की ओर मुख करके बैठ जाए । बैठने के लिए ऐसे स्थान का चयन करे जहाँ से सूर्यदर्शन में में किसी प्रकार की कोई अड़चन न आये । तत्पश्चात काली हल्दी की गठान की पूजा धूप-दीप से करनी चाहिए | उसके बाद पूजा की हुयी काली हल्दी की गठान को नमस्कार करे तथा सूर्यदेव के मंत्र का जाप करे | सूर्यदेव का मन्त्र है ओम ह्रीं सूर्याय नम: | इस मन्त्र का जाप लाल चंदन की माला से 108 बार करना चाहिए । ऐसा आने वाली अष्टमी तिथि तक प्रत्येक दिन करे । अष्टमी तिथि पर उपवास रखकर ब्राह्मणों को भोजन अवश्य कराये । काली हल्दी की गठान सिद्ध करने का यह एक सरल उपाय है। सिद्ध की हुई काली हल्दी की गठान को एक काले कपड़े में लपेटकर घर के मुख्य द्वार के बाहर टांग देंने से घर को किसी की नजर नहीं लगती और घर में सुख-शांति बनी रहती है |विभिन्न ज्योतिषीय उपायों में काली हल्दी का उपयोग किया जाता है।

ओंकारेश्वर जाएं तो जरूर करें रुद्राक्ष के दर्शन

काली हल्दी के 7 से 9 दाने बनाकर धागे में पिरोये तथा उसके बाद थोड़ी देर तक धूप, गूगल या लोबान के धुएं में रखने के बाद इसे पहन लें। ग्रहों के दुष्प्रभावों, टोने- टोटके व नजर के प्रभाव से बचने के लिए इस तरह माला बनाकर पहनी चाहिए |

यदि किसी नए कार्य के लिए जा रहे हैं, तो काली हल्दी का टीका लगाना चाहिए | ऐसा करने से सफलता मिलने के योग बढ़ जाते हैं। नजर उतारने के लिए एक काले कपड़े में काली हल्दी की गठान बांधकर 7 बार नज़र लगे हुए इंसान के  ऊपर से उतार कर बहते हुए जल में बहा देना चाहिए | ऐसा करने से नजर जल्दी ही उतर जाएगी।

यहां घर से भागे प्रेमियों को देते हैं महादेव पनाह

अधिकतर बीमार रहने वाले व्यक्ति के लिए किसी भी गुरुवार को आटे के दो पेड़े बनाकर उसमें गीली चने की दाल के साथ गुड़ और थोड़ी सी पिसी काली हल्दी को दबाकर रोगी के ऊपर से 7 बार उतार कर गाय को खिलानी चाहिए । उसके बाद बीमार की सेहत में सुधार देखिये |

जिन लोगो के पास पैसा नहीं टिकता उन्हें शुक्ल पक्ष के प्रथम शुक्रवार को चांदी की डिब्बी में काली हल्दी, नागकेसर व सिंदूर को रखकर देवी लक्ष्मी की तस्वीर के सामने रखना चाहिए तथा थोड़ी देर के बाद डिब्बी को अपने लॉकर या कैश बॉक्स में रख लेनी चाहिए, ऐसा करने से बरकत बनी रहेगी।

आर्थिक तंगी से परेशान हैं तो करें ये उपाय होगा फायदा

बिजनेस में अगर नुकसान हो रहा है तो पीले कपड़े में काली हल्दी, 11 गोमती चक्र, चांदी का सिक्का व 11 कौड़ियां बांधकर ऊं नमो भगवते वासुदेव नमः का जाप करना चाहिए | जाप 108 बार करना है | ऐसा करने के बाद धन रखने के स्थान पर पीले वस्त्र को रखने से बिजनेस में दिन-ब-दिन तरक्की होती है |

जो मशीनों से संबंधित कार्य करते है तथा आए दिन मशीनें खराब हो जाती हैं, तो काली हल्दी को पीसकर उसमें केसर व गंगा जल मिलाकर मशीनों पर स्वास्तिक का चिह्न बनाना चाहिए। ऐसा करने से मशीनें जल्दी खराब नहीं होंगी।

ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह जहां है एकता की मिसाल

अंबुबाची जहां लगता है अघोरियों और तांत्रिकों का मेला

तांत्रिकों की रहस्यमय दुनिया, जिसके बारे में जानकर रह जाएंगे हैरान


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *