धर्म कर्म यात्रा

तमिलनाडु का गोल्डन टेम्पल जिसमे लगा है 1500 किलो सोना, जाने और क्या है खास

पूरी दुनिया में गोल्डन टेम्पल के नाम से मात्र अमृतसर का गुरुद्वारा प्रसिद्ध है, पंरतु आपको बता दे कि भारत में एक और गोल्डन टेम्पल है । जी हां, एक और गोल्डन टेम्पल । तमिलनाडु के वैल्लोर में स्थित 1500 किलो सोने से बना गोल्डन टेम्पल दुनिया के अजूबों में भी शामिल    है ।

तमिलनाडु राज्य के वेल्लोर शहर के दक्षिण भाग में स्थित इस मंदिर को श्रीपुरम अथवा महालक्ष्मी स्वर्ण मन्दिर के नाम से भी जाना जाता है।  इस मंदिर का निर्माण 2007 में करवाया गया, जिसमे करीबन 1500 किलोग्राम शुद्ध सोने का इस्तेमाल हुआ है । जब रात के वक़्त इस मंदिर के ऊपर रोशनी रोशनी पड़ती है तो आँखे चौंधिया जाती है । मंदिर का यह नजारा ऐसा होता है, जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता ।

इस मंदिर का क्षेत्रफल करीबन 100 एकड़ है, जो कि वृताकार संरचना में है तथा इस मंदिर में हरियाली का काफी ध्यान रखा गया है । इस मंदिर की एक विशेषता यह भी है कि इसके परिसर में देश की सभी प्रमुख नदियों से पानी लाकर एक सरोवर का निर्माण किया गया है, जिसका नाम सर्व तीर्थम सरोवर रखा गया है । चूँकि मंदिर के निर्माण में 1500 किलो सोने का इस्तेमाल हुआ है अत:  24 घंटे यहाँ सुरक्षा हेतु पुलिस सिक्योरिटी फोर्स मौजूद रहती है ।

Naraini Golden Temple - Vellore

यदि अब आपका मन भी इस मंदिर को देखने का हो रहा है तो आपको बता दे कि वेल्लोर में तीन मुख्य रेलवे स्टेशन वेल्लूर कट्पडी जंक्शन, वेल्लोर छावनी, सूर्यकुलम और वेल्लोर टाउन स्टेशन है । आप चाहे तो यहाँ हवाई मार्ग से भी आ सकते है, जिसके लिए यहाँ से 100 किमी की दूरी पर स्थित तिरुपति एयरपोर्ट तक की फ्लाइट ले सकते है, जो कि यहाँ का निकटतम घरेलू हवाई अड्डे है । यहाँ एक और अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है जिसका नाम चेन्नपई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है, जिसकी इस मंदिर से दूरी 130 किलोमीटर है, जबकि बेंगलुरू अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है । यदि आप बस के द्वारा यहाँ आना चाहते है तो आपको बता दे कि वेल्लोर तक नियमित बसें चलती रहती हैं । जबकि हवाई अड्डे से यहाँ तक पहुँचने के लिए टैक्सी सेवा भी यहाँ उपलब्ध हैं ।

यहाँ का मौसम इतना सुहावना है कि आप वर्ष के किसी भी मौसम या महीने में यहाँ घूमने के लिए आ सकते है । मगर इस मंदिर के कुछ नियम है अत: यहाँ आने से पहले उन्हें जान ले ।

शॉर्ट पैंट, मिडी और केपरी पहनकर इस मंदिर में प्रवेश वर्जित है तथा आप मोबाइल फोन, कैमरा और अन्य इलेक्ट्रॉनिक आइटम लेकर भी इस मंदिर के अंदर नहीं जा सकते | इतना ही नहीं  अन्य मंदिरों की तरह यहाँ भी तंबाकू, शराब और ज्वंलनशील सामान को साथ ले जाने पर पूर्ण मनाही है । साल के सभी दिनों में इस मंदिर में दर्शन करने का समय  सुबह 8 से रात्रि 8 तक का समय है, जबकि यहाँ अभिषेकम सुबह 4 बजे से 8 बजे तक होता है व शाम 6 से 7 बजे के बीच आरती का आयोजन किया जाता है ।

एक चमत्कारिक पत्थर जिसे देखकर लगता है अब  गिरा तब गिरा

क्यों आते हैं मृत लोग आपके सपने में जानिए

ध्यान ही एक मात्र रास्ता है ईश्वर प्राप्ति का

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *