आर्थिक संकट दूर करने के लिए श्रावण मास में करे ये उपाय


शास्त्रों के अनुसार सांसारिक सुखों का आधार शिव ही हैं तथा शिव की उपासना से तन, मन व धन से जुडी कामनाओं में आने वाली बाधाओं दूर हो जाती है अत: स्थिर लक्ष्मी की प्राप्ति   के लिए सावन के महीने में दारिद्रय दहन स्तोत्र का पाठ अवश्य करना चाहिए | शास्त्रों के अनुसार दरिद्रता एक अभिशाप है | शास्त्रों में अनेक अनुष्ठान और स्तोत्र ऐसे बताये गए है जिनके नियमानुसार पाठ कराने से दरिद्रता दूर हो जाती है | श्रावण मास में भगवान शिव का अभिषेक करने व साथ में ‘दारिद्रय दहन स्तोत्र’ का पाठ करने से मनुष्य को स्थिर लक्ष्मी की प्राप्ति होती है।

विश्वेश्वराय नरकार्णवतारणाय कर्णामृताय

शशिशेखराय धारणाय कर्पूरकांति धवलाय जटाधराय

दारिद्रय दु:ख दहनाय नम: शिवाय…।1।

 

गौरी प्रियाय रजनीश कलाधराय कालान्तकाय

भुजंगाधिप कंकणाय गंगाधराय गजराज विमर्दनाय

दारिद्रय दु:ख दहनाय नम: शिवाय…।2।

 

भक्ति प्रियाय भवरोग भयापहाय

उग्राय दुर्गमभवसागर तारणाय

ज्योतिर्मयाय गुणनाम सुनृत्यकाय

दारिद्रय दु:ख दहनाय नम: शिवाय…।3।

 

चर्माम्बराय शवभस्म विलेपनाय

भालेक्षणाय मणिकुंडल मण्डिताय

मंजीर पादयुगलाय जटाधराय

दारिद्रय दु:ख दहनाय नम: शिवाय….।4।

 

पंचाननाय फणिराज विभूषणाय

हेमांशुकाय भुवनत्रय मण्डिताय

अनन्त भूमि वरदाय तमोमयाय

दारिद्रय दु:ख दहनाय नम: शिवाय…।5।

 

भानुप्रियाय भवसागर तारणाय

कालान्तकाय कमलासन पूजिताय

नेत्रत्रयाय शुभलक्षण लक्षिताय

दारिद्रय दु:ख दहनाय नम: शिवाय…।6।

 

रामप्रियाय रघुनाथ वर प्रदाय

नागप्रियाय नरकार्णवतारणाय

पुण्येषु पुण्यभरिताय सुरार्चिताय

दारिद्रय दु:ख दहनाय नम: शिवाय…।7।

 

मुक्तेश्वराय फलदाय गणेश्वराय

गति प्रियाय वृषभेश्वर वाहनाय

मातंग चर्मवसनाय महेश्वराय

दारिद्रय दु:ख दहनाय नम: शिवाय…।8।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *