कुछ बुरी आदतों को छोड़कर आप कर सकते हैं अपने धन की बचत


राम कुमार एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करते हैं। रोजना 9 बजे सुबह वे दफ्तर के लिए घर से निकलते हैं एवं रात करीब 8.15 बजे घर पहुंच पाते हैं। चूंकि घर से दफ्तर काफी दूर है इसलिए उनका काफी समय आने-जाने में भी खर्च हो जाता है। विनय ने एचडीएफसी बैंक में अपना खाता खुलवा रखा है। लेकिन संयोग से एचडीएफसी बैंक एटीएम उनके दफ्तर से कुछ दूरी पर है। लेकिन फिर भी एटीएम इतना दूर नहीं है कि वहां आराम से जाया न जा सके परंतु चार कदम चलकर अपने बैंक एटीएम इस्तेमाल करने में परेशानी होती है इसलिए वे आदतन अपने करीबी एटीएम ही इस्तेमाल करते हैं। चाहे वह किसी भी बैंक का हो।
हालांकि आरबीआई के नियमानुसार दूसरे बैंक के एटीएम का महीने में पांच बार तक के इस्तेमाल पर कोई चार्ज नहीं लगता लेकिन उसके बाद के प्रत्येक ट्रांजेक्शन पर पेनाल्टी देनी होती है। आदतों से मजबूर राम कुमार को भी यह होश नहीं रहता था कि उन्होंने दूसरे बैंक का एटीएम कितनी बार इस्तेमाल किया है। उनके खाते से प्रत्येक महीने कुछ रकम कट जाया करती थी।
हमारे चारों ओर ऐसे कई रामकुमार जो अपनी वित्तीय गतिविधियों को लेकर बड़े लापरवाह होते हैं एवं इसका नुकसान उन्हें उठाना पड़ता है। हम अपने रोजमर्रा की जिंदगी में कई तरह की वित्तीय गतिविधियों को अंजाम देते हैं परंतु थोड़ी लापरवाही की वजह से हमे जितना रकम अदा करना होता है उससे ज्यादा करते हैं। थोड़ी सी सावधानी बरत कर हम हमारी जेब से होने वाली इस कटौती को रोक सकते हैं।

[masterslider id=”18″]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *