आधा घंटे का नियमित व्यायाम दे सकता है दमा रोगियो को राहत


टोरोंटो। कनाडा में मोंट्रियाल स्थित कोनकोर्डिया यूनिवर्सिटी में प्राध्यापक रहे प्रमुख शोधकर्ता सिमोन बेकन का दावा है कि आधा घंटे प्रतिदिन का हल्की कसरत दमा मरीजों में अभूतपूर्व परिवर्तन ला सकती है और उन्हें दमा से होने वाली समस्याओं में आराम मिल सकता है।

बेकन ने दमे से पीड़ित 643 लोगों पर व्यायाम की आदतों का निरीक्षण किया और उन्होंने अपने अध्ययन में पाया कि जो लोग नियमित रूप से समुचित शारीरिक गतिविधि करते थे, उनमें व्यायाम न करने वालों की तुलना में अस्थमा के लक्षणों पर ढाई गुना अधिक नियंत्रण देखा गया।

बेकन कहते हैं कि आमतौर पर डॉक्टर दमा पीड़ितों को व्यायाम न करने की सलाह देते हैं क्योंकि माना जाता है कि इससे सांस उखड़ने से दमा का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है, लेकिन  सैर और योग जैसे व्यायाम नियमित रूप से 30 मिनट किए जाएं तो दमा (अस्थमा) के लक्षणों में सुधार आ सकता है

बेकन ने कहा, “व्यायाम के कारण इन समस्याओं के बढ़ने की बात सही है, लेकिन अगर आप व्यायाम से पूर्व रिलिवर दवा ‘ब्ल्यू पफर’ लेते हैं और व्यायाम के बाद शरीर को थोड़ा आराम देते हैं तो सब ठीक रहता है।”

बेकन ने कहा, “अगर आपको अस्थमा है तब भी आपको व्यायाम जरूर करना चाहिए। हमारे अध्ययन में पता चला है कि जो लोग नियमित रूप से वर्ष भर शारीरिक रूप से सक्रिय रहते हैं उन्हें सबसे ज्यादा लाभ मिलता है।”

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *