हर साल 70 लाख लोगों की मौत कम होगी अगर संसार शाकाहारी हो जाए


12 जून का दिन विश्व भर में मांस मुक्त दिवस के रूप में मनाया जाता है | एक अनुमान के अनुसार यदि सन 2050 तक दुनिया पूरी तरह से शाकाहारी हो जाए तो मृत्यु दर घट कर हो जाएगी तथा पशु से जुड़े उत्पादों को  बिल्कुल न खाया जाए तो मृत्यु दर और कम हो जाएगी, तक़रीबन हर साल 80 लाख लोग कम मरेंगे |

रेड मीट से करें तौबा

एक शोध के अनुसार ऐसा करने से खाद्य समाग्रियों से जुड़े उत्सर्जन में लगभग 60 फ़ीसदी की गिरावट आ सकती है और ऐसा रेड मीट खाने से तौबा करने से होगा क्योंकि रेड मीट मिथेन गैस उत्सर्सिज करने वाले पशुओं से मिलता है|  परन्तु इसका प्रभाव विकासशील देशो के किसान पर बुरा होगा |

अगर आप तीस के हो गए हैं तो करें फाइनेंसिल प्लानिंग

ऐसा करने से जंगल जलवायु परिवर्तन से कम प्रभावित होंगे तथा ख़त्म हो रही जैव विविधता में कमी आएगी | साथ ही साथ जंगलो में एक किस्म का संतुलन बनेगा |इसका सबसे ज्यादा प्रभाव उन लोगो पर होगा जो पशुओं से जुड़ी इंडस्ट्री में कार्यरत हैं | ऐसा करने से उन्हें अपने लिए नए ठिकाने और कार्य की तलाश करनी पड़ेगी | इसके बाद हो सकता है वो लोग कृषि, बायोऊर्जा और वनीकरण के क्षेत्र में कार्य करने लगे | परन्तु इन्हें दूसरा रोजगार नहीं मिलता है तो बेरोजगारी व्यापक पैमाने पर होंगी |

अगर शरीर से आती है बदबू तो रखें इन बातों का ख्याल

यदि सम्पूर्ण दुनिया शाकाहारी हो जाए तो फिर क्रिसमस टर्की (एक तरह का पक्षी जिसे लोग खाते हैं) नहीं रहेगा | शाकाहारी होने से परंपराएं बुरी तरह से प्रभावित होंगी | दुनिया भर में कई ऐसे देश है जहाँ के निवासी विवाह और उत्सव में मांस उपहार में देते हैं |

बहुत से बिमारीी से मिलेगी निजात

मांस की खपत नहीं या कम होने की वजह से दिल की बीमारी, डायबिटीज़, स्ट्रोक और कुछ तरह के कैंसर की आशंका नहीं रहेगी तथा मेडिकल बिल पर खर्च होने वाली दो या तीन फ़ीसदी जीडीपी भी बच जाएगी |मगर  पोषण की कुछ वैकल्पिक चीज़ें के बदले ही मांस को हटाना सही होगा | एक अनुमान के मुताबिक दुनिया भर के दो अरब लोग कुपोषित हैं | अनाज के मुकाबले मांस और उससे जुड़े उत्पादों से लोगों को ज़्यादा पोषण मिलता है |

बढ़ते कॉलेस्ट्रोल से हो सकता है आपको गंभीर खतरा

ये चीजें आपको दिलाएंगी दर्द से निजात

अगर आप भी हैं पिंपल्स से परेशान तो रखें इन बातों का ध्यान

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें

Leave a Reply