आलेख मनोरंजन साक्षात्कार

खाने-पीने के लिहाज से दिल्ली बेहतर है : बोमन ईरानी

फाइव स्‍टार होटल में वेटर का काम करने वाला तो कभी  जीवन यापन के लिए बीमा पॉलिसी बेचनी तक पड़ी, तो कभी पेशे के रूप में बॉक्सिंग फोटोग्राफी की इतना संघर्ष करने वाला शख्‍स आज भारतीय फिल्‍म इंडस्‍ट्री के सम्‍मानित कलाकारों में से एक है, नाम है बोमन ईरानी । बहुत ही कम लोगों को ये बात मालूम है कि उन्‍होंने अपनी होटल की नौकरी में मिलने वाले नियमित टिप के पैसे बचाकर अपना पहला कैमरा खरीदा था ।

2000 के दशक के शुरूवाती वर्षों में बोमन ईरानी ने सिनेमा जगत में अपना पहला कदम रखने से पहले 14 वर्षों तक थियेटर कलाकार के रूप में कार्यरत रहे । उन्‍होंने फैंटा, सिएट और क्रैकजैक बिस्किट्स (क्रैक और जैक दोनों के मिस्‍टर जैक के रूप में) जैसे विज्ञापनों से अपने करियर की शुरूवात की और मुन्‍ना भाई एम.बी.बी.एस. के बाद से देश का बच्चा बच्चा इस नाम को जानने लगा जिसका नाम था बोमन ईरानी | गजब की कॉमिक टाइमिंग वाले बोमन ईरानी ने वीर-जारा, लक्ष्‍य और वेल डन अब्‍बा जैसी कई बेहतरीन फिल्‍मों से दर्शको का मनोरंजन किया|

मैं काफी संघर्ष के बाद यहां पहुंचा : अरसद

एक साक्षात्कार में बोमन ईरानी ने शानदार पार्टी के लिए सबसे बेहतरीन जगह घर को बताते हुए कहा कि पिछले वर्ष नये साल के अवसर पर, हम सात लोग घर पर थे, तो हमने ड्रेस पहने, शानदार तरीके से खाया-पीया, जिंदगी से जुड़ी बातें की, भावी योजनाएं बनाईं, एक-दो गेम खेले और खूब डांस किया इसलिए, मेरे विचार में घर पर शानदार पार्टी पारिवारिक एवं शांतिपूर्ण होनी चाहिए |”

बोमन को लाउड म्‍यूजिक बिलकुल पसंद नहीं है और बोमन के अनुसार किशोरावस्था में भी वो शोरगुल वाली जगहों पर कभी नहीं गये या वहां जाने से बचते थे । उन्हें भीड़भाड़ वाली जगहें भी पसंद नहीं है। डांस को लेकर बोमन ने बताया कि “मुझे डांस पसंद रहा, लेकिन मेरे घनिष्‍ठ दोस्‍तों और परिजनों के साथ। कभी-कभी, फिल्‍म सेट्स पर, हम पैक अप करने के बाद डांस करते हैं। मुझे पार्टीज में जाना पसंद है, लेकिन ऐसी जगहों पर नहीं, जहां कानफाड़ू म्‍यूजिक हो |”

बोमन को गैस्‍ट्रोनॉमिक (Gastronomic) के हिसाब से दिल्ली बहुत लुभाता है और वो बिना किसी हिचकिचाहट के इस बात को स्वीकारते है कि खाने-पीने के लिहाज से दिल्‍ली मुंबई से बेहतर है और अच्‍छे भारतीय भोजन की बात आने पर, दिल्‍ली का कोई जवाब नहीं है।

कर्नाटक के कूर्ग को पसंदीदा हॉलिडे डेस्टिनेशन मानने वाले बोमन घुमने-फिरने के शौक़ीन है और अधिकांश वो भारत में ही घूमना पसंद करते है |

हम दौड़ेंगे तो हर खेल में अच्छे रहेंगे

अपने साथी कलाकारों में से जिनसे वो प्रेरित हुए के बारे में बोमन बताते है कि “ऐसे कई कलाकार हैं, लेकिन मुझे लगता है कि उस दृष्टि से इरफान खान आगे हैं। समय के साथ उनमें काफी प्रगति देखने को मिली है। मुझे उनका अभिनय पसंद है, वह कमाल के कलाकार हैं। और हां, उनकी अपनी अनूठी स्‍टाइल भी है |”

साल 2018 में बोमन की परमाणु: द स्‍टोरी ऑफ पोखरण रिलीज होने वाली है, जिसमे उनके साथ जॉन अब्राहम है और फिल्म का काफी हिस्सा दिल्‍ली में शूट किया गया है ।

बॉलीवुड की इन अदाकाराओं के साथ भी हुई छेड़छाड़

देश प्रेम से ज्यादा अब पैसा महत्वपूर्ण हो गया जफर इकबाल

अमेरिका में भी हैं कुमुद दीवान के दीवाने

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *