आभूषण के प्रति क्यों होता है स्त्री का आकर्षण

स्त्री और आभूषण भारतीय लोक साहित्य में अगर देखा जाए तो इनका प्रयोग एक-दूसरे के पूरक और पर्याय की तरह

Read more

जलन से न जलाएं जिया, आपका ही होगा नुकसान

पार्टी में हर किसी की नजर उसी की तरफ है। पुरुष अपनी पत्नियों से निगाह बचाकर उसे ही बार-बार देखे

Read more

कॉस्ट्यूम ज्यूलरी अब स्त्रियों को ज्यादा है पसंद

अपने लिए गहनों का चुनाव करते समय हर स्त्री की यही इच्छा होती है कि उसके आभूषण सबसे ज्यादा आकर्षक

Read more

डबल चिन को कहे अलविदा सिर्फ 5 मिनट में

आजकल लोगों में डबल चिन की समस्या, जो महिला और पुरुष दोनों को होती है, बहुत आम हो गई है

Read more

खुश रहना चाहती हैं तो समय के साथ खुद को बदलते रहिए

आजकल के लोगों में तो नैतिकता और संस्कार जैसी चीजें हैं ही नहीं। यह वक्तव्य आप कभी-कहीं भी सुन सकती

Read more

मेनोपॉज के बाद महिलाओं के ह्रदय रोग से बचाव के तरीके 

मेनोपॉज (मासिक धर्म के बंद होना ) के बाद महिलाओं में ह्रदय रोग का खतरा बढ़ जाता है। मेनोपॉज (मासिक

Read more

रसमलाई

4 लोगों के लिए सामग्री: छेना 250 ग्राम, बेकिंग पाउडर चुटकी भर, रबड़ी 500 ग्राम, मैदा 2 बड़े चम्मच, शक्कर 750 ग्राम, पिस्ता 2 छोटे

Read more

चिली पनीर

4 व्यक्तियों के लिए सामग्री: 500 ग्राम पनीर के क्यूब्स, 2 टी स्पून नमक, 1/2 टी स्पून लहसून का पेस्ट, 1/2 टी स्पून

Read more

वेजिटेबल्स विद आमंड

4 व्यक्तियों के लिए सामग्री: 2 टेबल स्पून तेल 2 टी स्पून कतरा लहसुन 1/2 कप हरा प्याज पत्तों समेत

Read more

गार्लिक प्रॉन्स

4-6 व्यक्तियों के लिए सामग्री: 500 ग्राम प्रॉन्स, 2 टेबल स्पून नींबू का रस, स्वादानुसार नमक, 2-3 साबुत लाल मिर्च,

Read more

लैमन पेपर फिश

4-6 व्यक्तियों के लिए सामग्रीः मछली के 8 टुकड़े, 1/4 कप मैदा, 1 टी स्पून नमक, 1/2 टी स्पून काली

Read more

शेडेड लैंब शैजवॉन स्टाइल

4 व्यक्तियों के लिए सामग्री: 500 ग्राम मटन पंसद (बोनलेस, साढ़े तीन सेमी, के क्यूब्स पीटकर चपटे किए हुए), 2

Read more

क्या आप रखती हैं हाइजीन का ख्याल?

पिछले दिनों हुए ग्लोबल हाइजीन काउंसिल के एक अध्ययन से पता चलता है कि लोगों में हाईजीन की या स्वास्थ्य

Read more

किराए की कोख चाहिए तो यहां आइए !

सुनकर थोड़ा अजीब लग रहा होगा, पर सच है भारत में किराए की कोख का कारोबार करीब 3 बिलियन डॉलर

Read more

आज भी अपनी स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ रही है औरत

प्रतिबंधों के साथ जीवन का आरंभ और इसी के साथ अंत। यही त्रासदी है भारतीय समाज में स्त्री स्‍वतंत्रता की।

Read more