शहंशाह ए तरन्नुम मोहम्मद रफी जिनकी आवाज ने बहुत से नए गायकों को प्रेरित किया


हिंदी सिनेमा के श्रेष्ठतम पार्श्व गायकों में से एक मोहम्मद रफी (great singer Mohammad Rafi) ने अपने दौर में एक अलग ही पहचान बनाई। शहंशाह-ए-तरन्नुम’  के नाम से प्रसिद्ध मोहम्मद रफी का जन्म 24 दिसंबर 1924 को कोटला सुल्तानसिंह (पाकिस्तान) में हुआ था हिन्दी सिनेमा के श्रेष्ठतम पार्श्वगायकों में से एक मोहम्मद रफी की आवाज ने वर्तमान के कई गायकों जैसे सोनू निगम, मुहम्मद अजीज तथा उदित नारायण को प्रेरित किया है। इनकी पत्नी का नाम बिलकिस है तथा इनके चार बेटे व तीन बेटियां हैं।

मो. रफी को हमसे बिछुड़े हुए इस 31 जुलाई 2017 को पूरे 37 वर्ष हो गए है । 37 साल के अंतराल के बाद भी रफी साहब की आवाज का जादू आज भी जस का तस है | ये बात बहुत कम लोग जानते है कि उन्होंने मराठी गीत भी गाये है | 35 सालों के संगीतमय सफ़र में रफ़ी साहब ने कुल 4,518 गीत‍ गाए हैं, जिनमे हिन्दी गीतों के अलावा भजन, देशभक्ति गीत, गजल, कव्वाली तथा अन्य भाषाओं में गाये गीत भी हैं।

कुछ पुरानी फिल्में जो आपने नहीं देखी तो कुछ नहीं देखा

13 वर्ष की अल्पआयु में मोहम्मद रफी ने अपनी कला का पहला सार्वजनिक प्रदर्शन किया था। कहा जाता है कि एक बार आकाशवाणी के प्रोग्राम के लिए मशहूर गायक कुंदनलाल सहगल ने प्रस्तुती देनी थी मगर बिजली गुल हो जाने की वजह से उन्होंने गाने से मना कर दिया , जिस कारण भीड़ बेकाबू होने लगी तथा भीड़ को शांत करने के लिए मोहम्मद रफी को गाने का मौका दिया गया था|, जिस पर वो खरे उतरे |

मो. रफी ने अपना पहला गीत पंजाबी फिल्म ‘गुल बलोच’ (1944) के लिए तथा आखिरी गीत धर्मेन्द्र अभिनीत फिल्म ‘आसपास’ के लिए गाया था ।

रफ़ी साहब और शम्मी कपूर की जोड़ी ने सदाबहार नगमे तो दिये ही है मगर शम्मी जी पर रफ़ी साहब की आवाज़ इतनी फब्ती थी कि लगता था मानो शम्मी जी की अपनी आवाज़ है |

सुप्रसिद्ध पार्श्वगायक किशोर कुमार की एक फिल्म में मो. रफी ने किशोर कुमार के लिए गाना गाया था और इसके बदले में केवल 1 रुपया शगुन के तौर पर पारिश्रमिक लिया था ।

31 जुलाई 1980 का दिन संगीत प्रेमियों के लिए मनहूस दिन बन गया जब 56 वर्ष की उम्र में great singer Mohammad Rafi  का हार्टअटैक से निधन हुआ । उस दिन भारी वर्षा हो रही थी  ऐसा लग रहा था मानो  आसमान भी इस अजीम फनकार के निधन पर रो रहा था।

पाकिस्तान की एक मूवी जिन्हें सिर्फ मूवी देखना पंसद है

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें

Leave a Reply