गेम ओवर : सस्पेंस की कमजोर कड़ी 


कभी कभी बॉलीवुड में ऐसी फिल्मे बन जाती है, जिनको बनाने के पीछे निर्माता-निर्देशक का मकसद समझ नहीं आता और इससे भी बड़ी चौकाने वाली बात यह होती है कि इस फिल्म में ऐसे स्टार होते है जिन्हें आप एक सार्थक सिनेमा में देखना ही पसंद करते है | ऐसी ही एक फिल्म इस हफ्ते सिनेमा हाल पर लगी है नाम है “गेम ओवर” | फिल्म में राजेश शर्मा और यशपाल शर्मा जैसे बेहतरीन कलाकार होने के बावजूद यह एक कमजोर फिल्म के अलावा और कुछ नही है |

फिल्म एक सस्पेंस थ्रिलर है जिसमे सेक्स का तड़का लगाया गया है, फिर भी फिल्म न सिर्फ कमजोर है बल्कि कभी न देखे जाने वाली फिल्म है | इस तरह की फिल्मे कभी कांती शाह जैसे निर्देशक बनाया करते थे मगर अब इस तरह की फिल्मो का ज़माना जा चूका है ये बात निर्माता-निर्देशकों को समझना चाहिए | फिल्म की कहानी अच्छी है और इसे और अच्छा बनाया जा सकता था मगर फिल्म में बोल्डनेस दिखाने के चक्कर में फिल्म मार खा जाती है |

गुरलीन चोपड़ा फिल्म में कॉर्न गर्ल और यशपाल शर्मा इंस्पेक्टर के रोल में अच्छे लगे है, तो राजेश शर्मा के करियर का अब तक का सबसे बेहूदा रोल है | गीत संगीत न के बराबर है | बाकी फिल्म में कुछ भी ऐसा नहीं है जिसके लिए फिल्म को देखा जाए | आप फिल्म न भी देखे तो कोई फर्क नही पड़ता |

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें

सुमित नैथानी

सुमित नैथानी

सुमित नैथानी पेशे से ब्लॉगर व लेखक हैं। कई क्षेत्रीय पत्र पत्रिकाओं के लिए लेखन के साथ जागरण जंक्शन (दैनिक जागरण का ब्लॉग ) पर भी लगातार लिखते रहे हैं।