फिल्म समीक्षा

साहेब, बीवी और गैंगस्टर 3 : पुरानी और बासी पेशकश

साहेब, बीवी और गैंगस्टर (2011), साहेब, बीवी और गैंगस्टर रिटर्न्स (2013) और अब आप सबके सामने आई है साहेब, बीवी और गैंगस्टर 3। खुलासा डॉट इन में पढ़िए साहेब बीवी और गैंगस्टर थ्री का रिव्यू

जहाँ संजू फिल्म ने संजय दत्त की छवि को साफ़ करने का प्रयास किया है तो इस फिल्म में एक बार फिर साहेब, बीवी और गैंगस्टर में संजयदत्त गैंगस्टर की भूमिका में नज़र आये है। अब तक गैंगस्टर की भूमिका में सिर्फ और सिर्फ रणदीप हुड्डा ही जंचे है अन्यथा इरफ़ान खान और अब संजय दत्त बिलकुल निरर्थक नज़र आये हैं। खैर फिल्म तिग्मांशू धूलिया की है, फिर भी बकवास है और मुझे लगता है अब इस थीम पर इन्हें फुल स्टॉप लगा देना चाहिए।

फिल्म की कहानी रानी माधवी देवी को केंद्र में रखकर लिखी गयी है । उनके एक साहेब भी है, जिनका नाम आदित्य प्रताप सिंह हैं, जो अपने राजसी रुतबे और खोए प्यार को पाने में व्यस्त रहते है और कहानी में एक  गैंगस्टर भी है, जिसका नाम कबीर है। फिल्म की कहानी अपने पिछले दो भागों की तरह है, बीवी का दिल गैंगस्टर पर आ जाता है, जिसकी भनक साहेब को भी है और फिर शुरू होता है शह और मात का खेल | इस दौरान कहानी में कई किरदार आते है और जाते है और अंत फिल्म का वही जो होता आया है।

कद-काठी के हिसाब से संजय गैंगस्टर ही नज़र आते हैं, परन्तु अभिनय के मामले में वो मात खा जाते हैं और डायलॉग डिलीवरी में तो खासकर। चित्रागंदा सिंह स्क्रीन पर खूबसूरत नजर आती है तो सोहा अली खान को इस बार सिर्फ शो-पीस बनाकर रख दिया है। हां, नायिका के तौर पर माही गिल बाज़ी मार ले जाती है। आते जाते किरदारों में कबीर बेदी, नफीसा अली और दीपक तिजोरी प्रभावित करते हैं। मगर फिल्म की पूरी जिम्मेदारी जिम्मी शेरगिल अपने कन्धों पर सँभालते हुए नज़र आते हैं।

यदि कहानी की बात की जाए तो 2 लाइन की स्टोरी में इतने ट्विस्ट और टर्न डाले गए हैं कि कई बार आप भी चकमा खा जाते हैं और होनी वाली घटना का अंदाज़ा नहीं लगा पाते। परन्तु इस फिल्म पर बहुत काम होना बाकी था। डायरेक्टर तिग्मांशू चाहते तो फिल्म को दमदार बना सकते थे। फिल्म में दमदार पंच हैं। हालाँकि काफी लोगों को यह फिल्म खूब पसंद आ रही है, तो कई लोगों ने फिल्म को बकवास करार दिया है। देखा जाए तो पिछले दो भागो की तरह इस फिल्म में भी धोखा, वासना, हत्याएं और गोलियों की आवाज़ के सिवा कुछ ऐसा नहीं है, जो इसे खास बनाते हो ।

वीडियो में देखिए फिल्म का रिव्यू

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें
Title: film review saheb biwi aur gangster 3 is a mess | In Category: फिल्म समीक्षा  ( movie_review )
सुमित नैथानी

सुमित नैथानी

सुमित नैथानी पेशे से ब्लॉगर व लेखक हैं। कई क्षेत्रीय पत्र पत्रिकाओं के लिए लेखन के साथ जागरण जंक्शन (दैनिक जागरण का ब्लॉग ) पर भी लगातार लिखते रहे हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *