सैफ अली खान ने अपना 46 वां जन्मदिन परिवार के साथ मनाया


मुंबई: बॉलीवुड के छोटे नवाब सैफ अली खान आज 46 साल के हो गए। 16 अगस्त 1970 को दिल्ली में पैदा हुए सैफ अली खान को अभिनय की कला विरासत में मिली। उनकी मां शर्मिला टैगोर फिल्म इंडस्ट्री की मशहूर अभिनेत्री रही जबकि पिता नवाब पटौदी क्रिकेटर रहे हैं। घर में फिल्मी माहौल रहने के कारण उनका भी रुझान फिल्मों की ओर हो गया और वह भी अभिनेता बनने का सपना देखने लगे।

सैफ अली खान ने अपनी पढ़ाई अमेरिका के प्रसिद्ध वेनचसटर कॉलेज से पूरी की। इसके बाद उन्होंने बतौर अभिनेता अपने सिने कैरियर की शुरूआत वर्ष 1992 में प्रदर्शित फिल्म ‘परपमरा’ से की। यश चोपड़ा के निर्देशन में बनी यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर असफल साबित हुई। साल 1993 में सैफ अली खान की ‘पहचान’ और ‘आशिक आवारा’ जैसी सफल फिल्मों से हुई। ये अलग बात है कि फिल्म पहचान की सफलता का श्रेय अभिनेता सुनील शेट्टी को अधिक दिया गया। फिल्म आशिक आवारा के लिए सैफ अली खान को ‘न्यू कोमर’ के लिए फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

सैफ अली खान के सिने कैरियर में वर्ष 1994 महत्वपूर्ण साबित हुआ। इस वर्ष उनकी फिल्म ‘मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी’ फिल्में प्रदर्शित हुई। इस फिल्म में उनकी जोड़ी अभिनेता अक्षय कुमार के साथ काफी सराही गई। विशेष रूप से फिल्म मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी में अक्षय कुमार और सैफ अली खान ने अपनी जोड़ी के माध्यम से दर्शकों को भरपूर मनोरंजन किया। इस फिल्म में उन पर फिल्माया यह गीत ‘मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी दर्शकों के बीच काफी लोकप्रिय हुआ था। वर्ष 1995 से 1998 तक का समय सैफ अली खान के सिने कैरियर के लिए बहुत अच्छा नहीं रहा।

इस दौरान उनकी यार गद्दार, आओ प्यार करें, दिल तेरा दीवाना, बम्बई का बाबू, एक था राजा, तो चोर सिपाही, हमेशा उड़ान, कीमत जैसी कई फिल्में बॉक्स ऑफिस पर असफल हो गईं। हालांकि परीक्षा और विद्रोही जैसी फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर औसत कारोबार किया लेकिन उनसे सैफ अली को कुछ खास फायदा नहीं मिला। साल 1999 में सैफ अली खान के सिने करियर का अहम वर्ष साबित हुआ। इस दौर की फिल्मों में सैफ अली खान के अभिनय अलग रूप देखने को मिले। फिल्म कच्चे धागे में जहां सैफ अली खान ने गंभीर अभिनय किया। वहीं हम साथ साथ हैं में उन्होंने अपने चुलबुल शैली से दर्शकों का दिल जीत लिया।

साल 2001 में आई फिल्म दिल चाहता है से सैफ अली खान के सिने करियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में से एक है। फरहान अख्तर के निर्देशन में तीन दोस्तों के जीवन पर बनी इस फिल्म में उनके साथ आमिर खान और अक्षय खन्ना जैसे मंझे हुए सितारे थे लेकिन सैफ ने अपनी मजबूत अभिनय से दर्शकों के साथ ही पर्यवेक्षकों का भी दिल जीतने में सफल रहे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें

Leave a Reply