तेरा इंतजार : कभी कभी पैसो की बचत भी जरुरी है


बॉलीवुड में कुछ फिल्मे देखने के बाद महसूस होता है, आखिर इसको बनाया क्यों गया ? ऐसी ही फिल्म है तेरा इंतज़ार, जो इस हफ्ते फिरंगी के साथ रिलीज हुयी है | इस बात में कोई दो राय नही है कि यदि फिरंगी एक अच्छी फिल्म होती तो तेरा इंतज़ार को कोई पूछता भी नहीं | बहराल दोनों ही फिल्मे एक ही कस्ती की सवार है, तो देखते है कौन डूबता है और कौन नैया पार लगाता है | इस फिल्म को टीवी पर देखकर आप पैसे बचाये मैं यही एडवाइस दूंगा आपको |

फिल्म की कहानी रौनक और राजीव की है, जो एक दुसरे को बेहद पसंद करते है | एक दिन राजीव गायब हो जाता है | रौनक राजीव की तलाश में इधर-उधर भटकती है, जिसके बाद उसे पता चलता है कि राजीव की हत्या कर दी गयी है | जब रौनक को सच पता चलता है तो गुंडे उसके पीछे पड़ जाते है ऐसे में रौनक की मदद के लिए राजीव की आत्मा आती है, जो काफी हास्यप्रद लगता है और अंत में इन्साफ की जीत होती है |

अरबाज खान, सनी लियोनी, आर्य बब्बर, सुधा चंद्रन, सलिल अंकोला, रिचा शर्मा व गौहर खान जैसी स्टार कास्ट होने के बावजूद इनमे सिर्फ अरबाज़ ही कही कही पर प्रभावी नज़र आते है | फिल्म में न तो कोई गीत ही अच्छा है और न ही कोई संवाद | बैकग्राउंड सिर्फ शोर ही मचाता है | फिल्म में कुछ ऐसा नहीं है जिसकी बात की जाए या जिस पर पैसे खर्च किये जाए |


सुमित नैथानी

सुमित नैथानी

सुमित नैथानी पेशे से ब्लॉगर व लेखक हैं। कई क्षेत्रीय पत्र पत्रिकाओं के लिए लेखन के साथ जागरण जंक्शन (दैनिक जागरण का ब्लॉग ) पर भी लगातार लिखते रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *