तुम्हारी सुलू – सपनो की उड़ान


वैसे तो फिल्म का निर्माण महिला वर्ग को रख कर किया गया है, फिर भी यदि आपने बहुत दिनों से कोई पारिवारिक फिल्म नही देखी है तो यक़ीनन तुम्हारी सुलु आपके ही लिए ही है | फिल्म में कुछ कमियां है, चाहे तो आप उन्हें नज़रंदाज़ कर फिल्म का लुफ्त उठा सकते है | फिल्म का फर्स्ट हाफ बहुत ही स्लो है तो सेकंड हाफ को रोचक बनाने के लिए फालतू एलिमेंट को जोड़ा गया है |

फिल्म की कहानी एक महिला की है जो कि एक साधारण जीवन जी रही होती है, मगर अचानक ही उसे रेडियो जोकी (RJ) बनने का मौका मिलता है | सुलोचना उर्फ़ सुलु इस मौके को हाथ से जाने नही देना चाहती और वो आर जे बन जाती है | मगर कहानी तब रोचक मोड़ लेती है जब सुलु को पता चलता है कि उसको रात में शो करना है यानि कि मध्यरात्रि आर जे | इसके बाद क्या होता है, ये बताने वाली कोई बात नहीं है, हल्का सा कॉमन सेन्स आपको आगे आपने वाले दृश्य का अंदाज़ा पहले ही करा देगा |

विद्या बालन सुलु के किरदार में तो मानव कौल सुलु के पति के किरदार में बिलकुल फीट है | छोटे से रोल में नेहा धूपिया छा जाती है | फिल्म का सबसे कमजोर पक्ष फिल्म गीत-संगीत है, जब फिल्म आर जे की कहानी कहती है तो फिल्म का गीत-संगीत कुछ ऐसा होना चाहिए जो लम्बे समय तक याद रहे है, फिल्म कोई गीत ऐसा नही है |

सुरेश त्रिवेणी की ये पहली फिल्म है और इस लिहाज़ ने सुरेश ने अच्छा प्रयास किया है |

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें

Leave a Reply