krishan ki chetavani - बड़ी खबरें

ramdhari singh dinkar poem krishna ki chetavani रामधारी सिंह दिनकर की कविता: कृष्ण की चेतावनी Hindi Poem
रामधारी सिंह दिनकर की कविता कृष्ण की चेतावनी
कविता

रामधारी सिंह दिनकर की कविता: कृष्ण की चेतावनी

वर्षों तक वन में घूम-घूम, बाधा-विघ्नों को चूम-चूम, सह धूप-घाम, पानी-पत्थर, पांडव आये कुछ और निखर। सौभाग्य न सब दिन सोता है, देखें, आगे क्या होता है।   मैत्री की राह बताने को, सबको सुमार्ग पर लाने को, दुर्योधन को समझाने को, भीषण विध्वंस बचाने को, भगवान् हस्तिनापुर आये, पांडव का संदेशा लाये।