poem on himalaya in hindi - बड़ी खबरें

गिरिराज हिमालय से भारत का कुछ ऐसा ही नाता है: गोपाल सिंह नेपाली Hindi Poem on Himalaya by Gopal singh nepali Giriraj himalaya se bharat ka kuchh esa hi naata hai
कविता

गिरिराज हिमालय से भारत का कुछ ऐसा ही नाता है 

इतनी ऊँची इसकी चोटी कि सकल धरती का ताज यही । पर्वत-पहाड़ से भरी धरा पर केवल पर्वतराज यही ।। अंबर में सिर, पाताल चरण मन इसका गंगा का बचपन तन वरण-वरण मुख निरावरण इसकी छाया में जो भी है, वह मस्‍तक नहीं झुकाता है । ग‍िरिराज हिमालय से भारत का कुछ ऐसा ही नाता […]