जमीं पर जन्‍नत स्‍पेन


यूरोप के किसी देश में अगर संकरी गलियों में घूमते-फिरते अचानक आपको खूबसूरत इमारतें  भव्‍य संग्राहलय और बड़े-बड़े मयखाने मिल जाएं तो चौंकिएगा नहीं। आपका स्‍पेन में स्‍वागत है। बेजोड़ वास्‍तुकला, रात भर चलने वाले डिस्‍को बुल फाइटिंग, आर्ट गैलरीज व वाइन के लिए मशहूर यह देश हर साल करीब पचास करोड़ सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है।
मैडरिड – राजधानी मैडरिड को स्‍पेन का सर्वाधिक धड़कता हुआ शहर कहते हैं। यहां मौज-मस्‍ती रात भर चलती रहती है। अजनबी चंद मिनटों में दोस्‍त बन जाते हैं और प्रेमी युगलों के लिए तो यह किसी जन्‍नत से कम नहीं। इसलिए पर्यटक भी इस शहर के आकर्षण से स्‍वयं को अछूता नहीं रख पाते। सत्रहवीं शताब्‍दी में बनाया गया प्‍लाजा न रक्‍वेअर यहां का एक प्रमुख दर्शनीय स्‍थल है। इसी के पास स्थित है प्‍लाजा दी ओरीयेंटे, ओपेरा हाउस व आधुनिक वास्‍तुकला का परिचायक अलमुडेना गिरजाघर।
कला और संस्‍कृति यहां के जीवन शैली में रची-बसी है। शहर में लगभग 73 म्‍यूजियम हैं जो मानव ज्ञान के हर पहलू को छूते हैं। इसके अलावा अगर आप कलाप्रेमी हैं तो आपके लिए यहां विश्‍व की सबसे बड़ी आर्ट गैलरी प्रांडो गैलरी है जहां आप एक से बढ़कर एक बेजोड़ कलाकृतियों को देख सकते हैं। प्रकृति प्रेमियों को भी मैडरिड निराश नहीं करता। वे रिटेरो पार्क, कासा-दी-काम्‍पो व जुआन कारलोस पार्क में गिलहरियों की चुहलबाजियों के बीच दूर-दूर तक फैली हरी घास पर चलने का लुत्‍फ उठा सकते हैं। अपनी इन्‍हीं खूबियों के कारण मैडरिड को यूरोप की सबसे ग्रीनेस्‍ट राजधानी भी कहा जाता है।
रात के शौकीनों के लिए तो मानो यह शहर किसी स्‍वर्ग से कम नहीं। उनके लिए यहां पर डिस्‍को, डांस बार व क्‍लब है जो ‘नाइट लाइफ’ का भरपूर आनंद देते हैं। यहां की प्रसिद्ध बुल-फाइटिंग होश उड़ाने के लिए काफी है। व्‍यापार की दृष्टि से यह यूरोप का सर्वोत्‍तम शहर है। यहां ऐसे बड़े-बड़े कांफ्रेंस हाल हैं जहां एक साथ अस्‍सी हजार तक लोग मीटिंग कर सकते हैं। पूरे विश्‍व से हर हफ्ते करीब एक हजार विमान मैडरिड के अंतर्राष्‍ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरते हैं।
ग्रनाडा- अतीत में मुस्लिम साम्राज्‍य के दौरान यह इस प्रायद्वीप का सबसे बेजोड़ शहर हुआ करता था। कैथोलिक धर्म के शासकों ने सन् 1492 में इसका अधिग्रहण किया पर आज भी इस शहर की पाक कला, वास्‍तु कला व शिलप कला पर अरबी प्रभाव साफ झलकता है। यहां आप देख सकते हैं यूरोप के सबसे खूबसूरत महल अहम्‍बरा को। यह स्‍पेन का एक प्रमुख दर्शनीय स्‍थल है। इसी के पास स्थित कोरडोबा में सड़क के दोनों तरफ एक कतार में खड़े ऑलिव के वृक्ष प्रकृति के साथ का सुखद अहसास कराते हैं। अपने चमत्‍कारिक जलवायु, हिम आच्‍छादित पर्वतों व खूबसूरत समद्र तटों के लिए भी ग्रनाडा आपको बहुत अच्‍छा लगेगा।
बारसीलोना: यह विश्‍व के सबसे परिवर्तनशील शहरों में से एक है। यहां साल भर नयी वास्‍तुकला, नये-नये व्‍यंजन, नये फैशन व मयूजिक की धूम रहती है। यह शहर अपनी विश्‍व  प्रसिद्ध फुटबॉल टीम के लिए भी विख्‍यात है। महान शिल्‍पकार एंटोनी गाओदी द्वारा निर्मित यहां की इमारतें शिल्‍पकला के बेजोड़ नमूने हैं। इनमें से एक है अधूरा सैंगरैडा गिरजाघर जो रात को किसी अजूबे से कम नहीं लगता और पार्क गुअल। यह पार्क ‘ब्रोकेन टाइल्‍स’ व अपनी सुन्‍दर गोलाइदार डिजाइन के लिए मशहूर है। सभी उम्र के लोग भरपूर आनंद उठा सकते हैं। यहां पर महान चित्रकार पिकासी व मिरो की कलाकृतियां भी पर्यटकों को खूब लगती हैं। यहां की वाइन मशहूर है।
वैलोनिशिया : स्‍पेन का तीसरा सबसे बड़ा शहर वैलेनिशिया पर्यटकों को सुखद आनंद देता है। यह पवित्र ग्रेल अपने खूबसूरत मौसम व बसन्‍त उत्‍सव लास-फालास के कारण प्रसिद्ध है। यहां स्थित भुसियां-द-बेल्‍लास आर्ट म्‍यूजियम कला प्रेमियों के लिए किसी आश्‍चर्य से कम नहीं। इस म्‍यूजियम में एल ग्रेको, गोआ और वेलाजक्‍यूज जैसे कलाकारों की कृतियां संकलित हैं।
सिवेली- यह जिंदादिल शहर घुड़सवारी, साइकिलिंग व हाइकिंग जैसे बाह्य खेलों के लिए जाना जाता है। अगर आप गोल्‍फ खेलने के शौकीन हैं तो खुश हो जाइए। सिवेली में बार उत्‍कृष्‍ट गोल्‍फ कोर्स हैं जहां आप जी भरकर इस खेल का लुत्‍फ उठा सकते हैं।
मैडरिड की तरह यहां भी आप बुल-फाइटिंग का भरपूर मजा ले सकते हैं। इस क्षेत्र में बहुत सी प्राचीन इमारते हैं, जिनमें से कुछ को विश्‍व की ऐतिहासिक धरोहर का दर्जा भी प्रापत है। सिवेली का तीसरा बड़ा आकर्षण है यहां के त्‍यौहार-ईस्‍ट वीक ओर फेरिया-द-अप्रैल अप्रैल में लगने वाला मेला जिसे स्‍पेनवासी बड़ी ही धूमधाम के साथ मनाते हैं।
कैसे पहुंचे – स्‍पेन में अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे बहुसंख्‍या में हैं। वायु मार्ग व सड़क मार्ग द्वारा यह देश शेष यूरोप से जुड़ा हुआ है। अगर आपकी आयु 26 वर्ष से अधिक है तो आपको बस की तुलना में रेलयात्रा कहीं ज्‍यादा महंगी पड़ेगी।
कब जाएं – यूं तो स्‍पेन में मौसम हमेशा खुशगवार रहता है पर मई, जून व सितम्‍बर के महीने पर्यटन के लिए उत्‍तम हैं। अगर सिर्फ मैडरिड जाना हो तो मई व नवम्‍बर का समय अच्‍छा रहेगा।
कहां ठहरे – मैडरडि, सिवेली, बात्‍सीलोना, वैलेनिसिया में अच्‍छे बड़े होटल व होलीडे इन हैं।
नोट- एक और खास बात स्‍पेन जाकर ‘फ्लोमेनको’ सुनना-देखना व स्‍पेन के लोकप्रिय फास्‍ट फूड ‘टापा’ को चखना न भूलिएगा। आपने पिफल्‍म ‘दिल चाहता है’ में अभिनेता सैफ अली को ‘वो लड़की है काहं’ गीत पर नृत्‍य करते देखा था न जूते की एड़ी पर किए जाने वाले इसी संगीत-नृत्‍य को फ्लोमेनको कहते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *