यूरोप का दिल स्विटजरलैंड


स्विटजरलैंड को सीधा-सीधा यूरोप का दिल कह सकते हैं। जर्मनी, फ्रांस, इटली और आस्ट्रिया से घिरे धरती के इस स्‍वर्ग तक यूरोप के अधिकतर बड़े शहरों से घंटों में पहुंचा जा सकता है।
वैसे तो स्विटजरलैंड छोटा सा खूबसूरत देश है। लेकिन यहां कई संस्‍कृतियां और अलग-अलग भाषाएं बोलने वाले लोग रहते हैं। फिर भी यहां मुख्‍यत: जर्मन, फ्रैंच और इटलेयिन भाषाएं बोलने वाले लोग अधिक हैं।
क्‍या देखें –
स्विटजरलैंड को ऐसा देश है जहां के चप्‍पे-चप्‍पे पर खूबसूरती बिखरी हुई है। यहां के लोग, यहां के शहर, झीलें, नदियां, पहाड़ बसें और रेल गाडि़यां सभी आपका दिल जीतने के लिए हमेशा तैयार मिलेंगे।
शहर
ज्‍यूरिख– स्विटजरलैंड का सबसे बड़ा शहर ज्‍यूरिख झील के किनारे बसा हुआ है। हालांकि यह स्विस की राजधानी नहीं है लेकिन बिजनेस और बैकिंग के लिए ज्‍यूरिख सारी दुनिया की नजरों में प्रमुख केन्‍द्र है।
जिनेवा – जिनेवा झील के किनारे पर स्थित जिनेवा स्विटजरलैंड का कास्‍मोपोलिटन अंदाज का शहर है जोकि विश्‍व का मिलन स्‍थल है क्‍योंकि यहां पर संयुक्‍त राष्‍ट्र मुख्‍यालय के अलावा और बहुत से अंतराष्‍ट्रीय संगठनों के मुख्‍यालय हैं।
बेसेल- फ्रांस और जर्मनी की सीमाओं से सटा स्विट्जरलैंड का यह दूसरा सबसे बड़ा शहर स्विस का नार्दन गेटवे कहा जाता है। यहां कम से कम 30 म्‍यूजियम हैं इसलिए इसे स्विटजरलैंड का सांस्‍कृतिक दिल भी कहा जाता है।
बर्न – स्विस राजधानी विश्‍व की सांस्‍कृतिक धरोहर जहां के बाजार मध्‍ययुगीन संस्‍कृति की झलक पेश करते हैं। बर्न राजधानी होने के कारण सभी सरकारी गतिविधियों का केंद्र है इस कारण बर्न में हमेशा चहल पहल बनी हुई है।
बर्न के अलावा, ल्‍यूसर्न और लौसेन शहर भी स्विस पर्यटन के प्रमुख केंद्र हैं। लौसेन जाकर अल्‍पाइन पर्वत श्रंखला और कई ऐतिहासिक स्‍थलों को देखा जा सकता है। 1995 में यहां ओलमिपक म्‍यूजियम ने यूरोपियन म्‍यूजियम ऑफ द इयर का खिताब हासिल किया है वहां ल्‍यूसर्न अपनी प्राकृतिक खूबसूरती के लिए मशहूर है। ल्‍यूसनी झील के किनारे बसा यह शहर 14वीं शताब्‍दी के चैपल ब्रिज के लिए भी याद रखा जाता है। लकड़ी का यह पुल युरोप में सबसे पुराना है।
स्विटजरलैंड की झीलों का देश भी कहा जाता है। ज्‍यादातर बड़े शहर झीलों के किनारे बसे हैं। झीलों के  नाम पर ही शहर का नाम होना आम बात है। ऐसा ही एक और शहर है लुमानो। यहां मुख्‍यत: इटली भाषी आबादी है और यह सांस्‍कृतिक व्‍यावसायिक और पर्यटक गतिविधियों का आकर्षण है जिसे स्विटजरलैंड का सन पार्लर भी कहते हैं। झीलों से घिरा एक और महत्‍वपूर्ण शहर है न्‍यूचेटल। यहां की घडि़यां विश्‍व भर में मशहूर हैं।
झीलों और महानगरों के सौंदर्य के प्रतीक स्विस की खरीदारी म्‍यूजियम, उत्‍सव स्‍नो होली डे, न भुला सकने वाली रेल यात्रा और गुदगुदाने वाली सड़क यात्रा के लिए भी याद रखा जाता है। हमारी हिंदी फिल्‍मों में तो स्विटजरलैंड की खूबसुरत वादियां, पर्वत मालाएं, रेल और होटल अब आसानी से देखने को मिल जाते हैं।
म्‍यूजियम
स्विटजरलैंड में म्‍यूजियम भी खूब हैं। सबसे मशहूर है लयूसर्न का स्विस ट्रांसपोर्ट म्‍यूजियम। इसके बाद जिनेवा का बाटनीकल गार्डन। बेसल का चिडि़याघर इसके अलावा स्विस की पारमपरिक पहचान यानी पनीर डेयरी देखी जा सकती है एम्‍मेटल क्षेत्र की एफाल्‍टर्न में।
उत्‍सव-
हर साल यहां सैंकड़ों उत्‍सव मनाए जाते हैं। ल्‍यूसर्न में अंतराष्‍ट्रीय संगीत महोत्‍सव हर साल आयोजित किया जाता है।
स्‍टील बैंड्स फिल्‍म संगीत ब्रास बैंड्स, आर्गन म्‍यूजिक, मिलिट्री म्‍यूजिक तथा पाश्‍चात्‍य म्‍यूजिक जैसे संगीत समारोह वर्ष भर चलते रहते हैं। लोकानों इंटरनेशनल फिल्‍म फेस्टिवल यूरोप का बेहद प्रतिष्ठित और चर्चित फेस्टिवल है।
कैसे घूमें –
स्विटजरलैंड सारी दुनिया में एकमात्र देश है जहां की सार्वजनिक परिवहन व्‍यवस्‍था अपनी गति, समयबद्धता और सहज उपलब्‍धता के लिए विख्‍यात है। आप अपनी सुविधानुसार रेल, बस, समुद्री अथवा हवाई यात्रा के जरिए स्विस सौंदर्य की नजदीकी से निहार सकते हैं।
अपना समय और पैसा बचाने के लिए आप स्विस फ्लैक्‍सी पास अथवा फैमिली कार्ड खरीद सकते हैं और इससे भी बढ़कर आप सड़क यात्रा करते-करते हवाई अथवा रेल यात्रा कर सकते हैं क्‍योंकि स्विटजरलैंड के सभी पर्यटक स्‍थल, शहर, पिकनिक केंद्र सड़क रेल और हवाई मार्गों से जुड़े हैं।
इसके अतिरिक्‍त आप क्‍लासिक पैनोरमा टूर का फायदा उठा कर एक अनोखी रोमांचकारी यात्रा का आनंद उठा सकते हैं। पैनोरमा टूर सभी मौसम में आयोजित होते हैं। चार प्रमुख पैनोरमा टूर ये हैं।
ग्‍लेश्यिर एक्‍सप्रैस- यह दुनिया का सबसे धीमी गति से चलने वाली रेलगाड़ी है। यूरोप के दो मुख्‍य एल्‍पाइन रिसोर्ट्स सेंट मोरिज और जेरमट्ट के बीच चलने वाली ये रेलगाड़ी 291 पुलों से गुजरती है।
विलियम टैल एक्‍सप्रेस
13वीं शताब्‍दी में हुए स्विस हीरों के नाम पर चलने वाली यह एक्‍सप्रेस सेंट्रल स्विटजरलैंड और सूरज को चूमते दक्षिण में टिसिनो के बीच चलती है।
बर्निना एक्‍सप्रैस –
इससे आप स्विस के साथ साथ इटली के कुछ हिस्‍सों को भी देख सकते हैं। समुद्र तट से 2253 मीटर की ऊंचाई तक जाने वाली इस रेलगाड़ी से चालीस किलोमीटर की यात्रा बेहद रोमांचक होती है क्‍योंकि यह चालीस किलोमीटर नीचे घाटियों से गुजरती है और इस बीच आप एल्‍पाइन की पर्वत श्रंखला भी देख सकते हैं।
गोल्‍डन पास
गोल्‍डन पास में बैठ कर आप जर्मन भाषी स्विटजरलैंड और फ्रैंच भाषी स्विटजरलैंड की जिंदगी तथा खेत खलिहानों को सड़क, रेल और हवाई यात्रा के बाद भी पूरा नहीं देख सकते जब तक आप स्‍नो होली डे की योजना नहीं बनाते शहर बर्फ के धुएं से घिरा भले ही हो लेकिन ऊपर पहाड़ों पर आपको सूरज चमकता दिख जाएगा इसी तरह पहाड़ों पर बर्फ जमी होगी लेकिन दूर नीचे गांव में रोशनी ही रोशनी होगी। ऐसे अद्भुत नजारे क्‍या आप छोड़ना चाहेंगे नहीं न।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *