यात्रा

जॉब बदलने से पहले इसे जरुर पढ़े

जब हम नौकरी कर रहे होते है तो हमे एक अच्छी छुट्टी मनाने के मौके की तलाश रहती है, जो कि काम की व्यस्तता में कभी मुमकिन नहीं हो पाता, परन्तु जब पुरानी नौकरी छोड़कर नई नौकरी की तलाश में होते हैं, तो उस समय अच्छे से अपनी छुट्टियों को एन्जॉय किया जा सकता हैं।

ऐसा हरगिज सम्भव नहीं है कि जैसे ही आप नौकरी छोड़े तुरन्त ही कोई नयी नौकरी मिल जाये, ऐसे वक़्त में आप खुद के लिए कुछ समय निकालकर रिफ्रेश हो सकते है, ताकि नई उर्जा और पाजिटिविटी के साथ आप अपनी नयी नौकरी की शुरूवात कर सकते है ।
अगर आप जॉब बदलने के मूड में है तो नई नौकरी करने से पहले कुछ अच्छा वक्त बिताये, ऐसा करने से आपको नयी नौकरी बोरिंग नहीं लगेगी। कुछ खास जगहों के बारे में आपको बता रहे है जहां आप खुद को रिफ्रेश कर सकते हैं -

spiti
लेह लद्दाख

शायद ही कोई ऐसा शख्स हो लेह लद्दाख घुमने का सपना न देखता हो | यदि आपको इस जगह की प्राकृतिक सुन्दरता का पूरा लुफ्त उठाना है तो कम से कम 20 दिन आपके पास होने चाहिए | यदि आपने नौकरी छोडी हुयी है और आप खुद को रिफ्रेश करना चाहते है तो लेह लद्दाख की सुन्दरता बाहें खोलकर आपका इंतजार कर रही है | और आप इस ट्रिप को रोड ट्रिप में बदल दे तो इस बात की शर्त है कि ये आपके जीवन के सबसे अनमोल पल बन जायेंगे | मनाली और श्रीनगर से होते हुए रोड के जरिये लेह लद्दाख आसानी से पहुंचा जा सकता है, जहाँ पैंगोग झील, पहाड़ और मठ आदि आपके मन को लुभाने के लिए आपकी राह देख रहे होते हैं।

 

lachung
लाचुंग

उत्तरी सिक्किम में स्थित छोटा सा जिला लाचुंग दुनिया भर के लेखकों का पसंदीदा स्थान रहा है। लाचुंग का अर्थ है "छोटी सी घाटी" | यह स्थान अपने मठों के लिए प्रसिद्ध है, जिन्हें देखने के लिए दुनिया भर से हजारों सैलानी यहाँ पहुँचते है । इसे युमथांग घाटी का प्रवेश द्वार भी माना जाता है। इस स्थान की सुन्दरता से प्रभावित होकर जोसेफ डॉल्टन हुकर, जो कि एक विख्यात ब्रिटिश घुमक्कड है, ने अपने लेख द हिमालयन जर्नल में इसे "सिक्किम के सबसे सुन्दर ग्राम" कह कर संबोधित किया है। विशेषतया लाचुंग सुन्दर झरनों, प्राचीन नदियों और विशाल सेबों के बगीचों के लिए प्रसिद्ध है | यहाँ की प्राकृतिक सुन्दरता को देखने के लिए ज्यादा तर सैलानी अक्टूबर से लेकर मई महीने के बीच आते हैं। बर्फबारी का लुफ्त उठाने के लिए भी आप यहां आ सकते हैं।

 

jadro
जाइरो

समुद्र तल से 5754 फीट की ऊंचाई पर अरुणाचल में जाइरो नाम का एक छोटा सा हिल स्टेशन स्थित है, जो अपनी खूबसूरती की वजह से यूनेस्को के विश्व विरासत स्थलों में से एक हैं। यह स्थान पाइन के पेड़ों से भरी पहाड़ियों से घिरा हुआ है और पूरे क्षेत्र में फैले घने जंगल ही आदिवासी लोगों के घर हैं। जाइरो पौधों और जन्तुओं के मामले में काफी धनी है तथा अपनी विविधता की वजह से प्रकृति प्रमियों के लिए आदर्श स्थान बना हुआ है । जाइरो में पर्यटक हरी-भरी शाँन्त टैली घाटी, जाइरो पुटु, तरीन मछली केन्द्र, कर्दो में स्थित ऊँचा शिवलिंग आदि देखने के लिए आते है ।
gaunkrni

गोकर्णा

आप खुद को रिफ्रेश करने के लिए यदि समुद्री तट की तलाश कर रहे हैं, तो गोकर्णा आपकी मंजिल बन सकता है | यहाँ स्थित कुडेल तट, गोकर्ण तट, हॉफ मून तट, पैराडाइज तट और ओम तट , हमेशा से पर्यटकों का मन मोहते आये है। शांत समुन्द्र तट पर अपने पार्टनर का हाथ पकड़कर समुद्री तट पर चलना एक रूमानी एहसास है।

varkla
वर्कला

केरल में वर्कला सबसे अच्छे समुद्र तट में से एक है जो कि तिरुवनंतपुरम से 51 मील की दूरी पर स्थित है। प्राकृतिक आकर्षण और उच्च चट्टानों के कारण यह स्थान दुनिया भर के पर्यटकों को लुभाने की क्षमता रखती है। यहां का समुंद्र तट अन्य देशों में प्रसिद्ध होने के साथ साथ रोमांचक व रोचक गतिविधिया के लिए भी जाना जाता है, जिनमे सूर्य स्नान , नाव की सवारी, सर्फिंग और आयुर्वेदिक मालिश आदि शामिल है |

poundecheri
पोंडेचेरी

यात्रा के विविध अनुभवों के शौक़ीन लोगो के लिए पांडिचेरी एक उत्कृष्ट स्थान है, यहाँ समुद्र और अनूठी वास्तुकला से समृद्ध यह शहर यात्रियों को सुखद अहसास कराती है। शहर को एक ग्रिड पैटर्न पर बनाया गया है | इस शहर पर फ्रांसीसी प्रभाव पूर्ण रूप से दिखायी देता है, जिस कारण  शहर की अनेक सड़कों के नाम फ्रेंच भाषा में हैं | महलनुमा घर और औपनिवेशिक वास्तुकला से बने विला यात्रियों के लिए एक शानदार नज़ारा प्रस्तुत करते हैं। प्रोमनेड तट, पैराडाइस तट, सेरेनिटी तट तथा आरोविले तट, यहाँ के इस शहर में चार बेहतरीन तट हैं, जो यात्रियों की  छुट्टियों को खास बना देते हैं। यहाँ श्री अरबिंदो आश्रम और योग केंद्र स्थित है, जो पूरे भारत में प्रसिद्ध है ।

05-1512472529-1

आरोविले शहर

आरोविले शहर, जिसे प्रातःकाल का शहर कहा जाता है, अपनी अद्वितीय संस्कृति, विरासत रूपी स्मारक और वास्तुकला से पर्यटकों को आकर्षित करता रहा है।

gavi

गावी

केरल के पेरियार टाइगर रिजर्व के नजदीक ही इद्दुकी जिले में गावी स्थित है जो बेहद ही खूबसूरत जिला है, परन्तु पेरियार टाइगर रिजर्व के नजदीक होने के कारण यहां आने के लिए परमिशन लेनी पड़ती है। ट्रेकिंग लवर्स के लिए यह जगह स्वर्ग से कम नहीं है।
vinsar

बिनसर

उत्तराखंड का छोटा सा गांव बिनसर प्राकृतिक प्रेमियों की बीच बहुत प्रसिद्ध है । घने देवदार के जंगलों से निकलते हुए शिखर और हिमालय पर्वत श्रृंखला अदभुत नजारा, किसी स्वर्ग से कम नहीं है । बिनसर से हिमालय की केदारनाथ, चौखंबा, त्रिशूल, नंदा देवी, नंदाकोट और पंचोली चोटियों की 300 किलोमीटर लंबी शृंखला आसानी से दिखाई देती है, जो बिनसर का सबसे बडा आकर्षण हैं।

spiti
स्पीती

स्पीती भारत और तिब्बत के पास स्थित है, जिसका अर्थ होता है "मिडल लैंड"। यह स्थान रेगिस्तान पहाड़ी घाटी है, जो कि प्राचीन मठों की प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है। स्पीती की यात्रा को तब तक पूरा नहीं समझा जाता, जब तक यहां के प्राचीन मठों की सैर न कर ली जाए । सिर्फ ट्रैकिंग ही नहीं बाइकिंग का लुत्फ भी यहाँ उठाया जा सकता हैं।

trecking

त्रिउंड ट्रेक

नई नौकरी को ज्वाइन करने के कुछ ही दिन बचे हैं और आप खुद को रिफ्रेश करना चाहते हैं, तो त्रिउंड ट्रेक जरुर ट्राय करें | त्रिउंड, हिमाचल प्रदेश का ऐसा रोमांचक ट्रेकिंग सफ़र है, जो लोगो को अपनी ओर आकर्षित करता है। झरनों पहाड़ों के साथ होता हुआ यह ट्रेकिंग सफ़र आपको प्रकृति के हर रंग से रूबरू कराता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें
Title: read it before you change jobs

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *