यात्रा

तस्मानिया: प्रकृति की खूबसूरती है बिखरी जहां

समंदर की गोद में खेलता तस्मानिया द्वीप ऑस्ट्रेलिया का एक बहुत ही आकर्षक हिस्सा है, जिसकी खूबसूरती का आनंद लेने लाखों देशी व विदेशी सैलानी प्रतिवर्ष यहां आते हैं। तस्मानिया को प्रकृति की अनुपम देन कहा जा सकता है। मीलों तक फैले रेतीले समुद्रतट, अजीबोगरीब पहाडों की श्रृंखलाएं, घने जंगल, भयंकर व अजूबे जीव-जंतु व खूबसूरत झीलें-इस द्वीप को एक बेहद रोमांचक जगह बनाती हैं।

ऐतिहासिक पृष्ठभूमि

लोगों का मानना है कि इस द्वीप के प्रथम निवासी तस्मानिया के आदिवासी थे जो लगभग 40,000 साल पहले यहां आए। इतिहास की एक झलक तस्मानिया के हर कोने में दिखाई देती है। इस द्वीप की कोलोनियल इतिहास 1800 से शुरू हुआ माना जाता है जब 1803 में ब्रिटिश द्वारा इस द्वीप को एक अपराधियों को भेजने की जगह के रूप में बनाया गया।

भारत में जिस प्रकार अपराधियों को काला पानी की सजा सुना कर अंडमान व निकोबार द्वीपों पर भेज दिया जाता था, उसी प्रकार तस्मानिया में भी ब्रिटिश द्वारा भेजे गए अभियुक्तों को रहना पडता था। पोर्ट आर्थर में, जो द्वीप के पश्चिमी तट पर है, आज भी अपराधियों को कैद में रखने वाले कारागारों के खंडहर देखे जा सकते हैं। रिचमंड नामक शहर में सडकों के किनारे फुटपाथों पर आज भी अपराधियों के नाम, अपराध व वर्ष से खुदी टाइलें व ईटें देखी जा सकती हैं।

सन् 1642 में हॉलैंड निवासी एबेल तस्मन ने इस द्वीप को खोज निकाला था और इसीलिए तस्मन के नाम पर द्वीप का नाम तस्मानिया रखा गया। 1901 में यह द्वीप ऑस्ट्रेलिया का हिस्सा बना।

 

#Islanad #Australia #Tasmania #khulasaa.in #yatra #travel #guide

सागर से गहरा संबंध

इस द्वीप के निवासियों का सागर से उतना ही गहरा संबंध है जितना मछली का पानी से होता है और हो भी क्यों न! मीलों तक फैली समुद्र की रेखा और चारों और सागर ही सागर होने के कारण द्वीपवासियों के प्रेम व जीविका का आधार सागर ही तो है। सैकडों वर्षो से तस्मानिया के निवासी किसी न किसी रूप में सागर से जुडे हैं। चाहे वह छोटी नौका से लेकर विशाल जहाज बनाने का काम हो या मछलियां व अन्य समुद्री जीव पकडने का। तस्मानिया का सीफूड आज यहां का सबसे बडा निर्यात उत्पाद है।

समुद्र से गहरा प्यार रखने वाले यहां के अधिकांश लोगों के पास किसी न किसी प्रकार की बोट है, जिसे वे कभी िफशिंग, कभी सेलिंग और कभी दूर की समुद्री यात्रा करने के लिए प्रयोग करते हैं। तस्मानिया के सबसे बडे शहर व राजधानी होबार्ट में समुद्री इतिहास को दर्शाता मैरीटाइम संग्रहालय बेहद लोकप्रिय जगह है। यहां बहुत से पुराने जहाजों के डूबने, टकराने और समुद्री यात्रा से जुडी चीजों का संग्रह है, जो किसी भी दर्शक को रोमांचित कर सकता है।

tasmaniya_image_5

समुद्र से जुडी अनेक गतिविधियां यहां आने वाले पर्यटकों को विशेषकर बहुत लुभाती हैं। यहां समुद्री सील, फर सील, एलबा ट्रॉस, सी क्रैग्स और समुद्री जगत को देखने के लिए विशेष सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती हैं। समुद्री लहरों में उछलती-कूदती डॉलिफन को देखना बेहद आकर्षक लगता है। तस्मन समुद्र के सहारे आने वाले इस द्वीप में ताजा भोजन का स्वाद वर्ष भर उठाया जा सकता है। सिडनी से होबार्ट तक होने वाली यॉट रेस देखने भी लाखों दर्शक आते है।

होबार्ट एक खूबसूरत शहर

तस्मानिया द्वीप की राजधानी और द्वीप के सबसे घनी आबादी वाले शहर होबार्ट की खूबसूरती देखते ही बनती है। डरवेन्ट नदी के पूर्वी किनारे पर बसा यह शहर ऑस्ट्रेलिया का सबसे बडा अछा बंदरगाह है। यहां नावों व जहाजों को बनाने का व्यवसाय बहुत पुराना है। इस शहर में आने वाले हर पर्यटक के लिए बहुत से आकर्षण हैं।

हर शनिवार को सालामान्का प्लेस पर लगने वाले क्राफ्ट बाजार में जरूरत के सामान से लेकर घर, बगीचे, ऑफिस, शोरूम को सजाने के सामान तक सब कुछ मिलता है। ऑस्ट्रेलिया को आप घर आकर भी अपनी यादों में ताजा रख सकें, इसके लिए आप एक से एक सुंदर व विशेष सुवीनियर्स इस बाजार में खरीद सकते हैं। सब्जी, फल, फूल , हैट, जूते आदि सभी कुछ यहां उपलब्ध होता है। इतना ही नहीं, मनोरंजन के लिए स्थानीय कलाकार अपने गीत-संगीत से दर्शकों के मन मोह लेते है।

ऑस्ट्रेलियन कैडबरी चॉकलेट फैक्ट्री, पोर्ट आर्थर, ह्यूओन वैली, ताह्यून फॉरेस्ट एयर वॉक, कॉक्ल क्रीक और साउथ केप बे बीच पर सैर यहां के अन्य मुख्य आकर्षण है। तस्मानिया के बेहतरीन फूलों की एक झलक देखनी हो तो रॉयल तस्मानियन बोटैनिकल गार्डन चले जाएं, जहां दुनिया के बहुत से ऐसे पेड व पौधे भी हैं जो बहुत दुर्लभ हैं। सिटी सेंटर के नजदीक यह गार्डन ऑस्ट्रेलिया का दूसरा सबसे पुराना गार्डन है।

होबार्ड शहर को खासियत व खूबसूरती प्रदान करता यहां का तस्मन ब्रिज है, जो इस शहर में प्रवेश करते ही सबसे पहले आकर्षित करता है। 1395 मीटर की लंबाई का यह पुल सिडनी हार्बर ब्रिज से ज्यादा लंबा है और होबार्ड शहर के पूर्व व पश्चिमी ट्रैफिक को बांधता है।

tasmaniya_image_4

पानी से घिरे इस शहर के निवासियों को जल से जुडे अनेक उत्सवों को मनाने का शौक रहा है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली यॉट रेस इनमें सबसे अधिक लोकप्रिय है। दुनिया भर से जहाजों का यहां एकत्र होना अपने आप में एक उत्सव है। यह रेस सिडनी से शुरू होकर होबार्ट में समाप्त होती है।

रॉयल तस्मानियन बोटैनिकल गार्डन में वार्षिक टयूलिप समारोह होता है, जो बसंत मनाने के उपलक्ष्य में आयोजित किया जाता है। ऑस्ट्रेलिया का सबसे पुराना थियेटर भी होबार्ट में है, जिसमें वर्ष भर म्यूजिकल कॉन्सर्ट व नाइक आदि शो हो ते रहते हैं।

होबार्ट फिन्ज फेस्टिवल, समर फेस्टिवल, सदर्न रूट्स फेस्टिवल, फॉल्स फेस्टिवल आदि अन्य उत्सवों का आनंद भी इस शहर में भरपूर उठाया जा सकता है।

स्वाद तस्मानिया के

खाने व पीने के शौकीन इस द्वीप के लोग भोजन से संबंधित एक उत्सव का आयोजन करते हैं- द टेस्ट ऑफ तस्मानिया। इस द्वीप की मिट्टी के बहुत ही उपजाऊ होने व जलवायु के अनुकूल होने के कारण यहां की पैदावार बेहद अछी है। विनया‌र्ड्स (अंगूरों की खेती) की संख्या अत्यधिक होने के कारण यहां वाइन का उत्पादन व सेवन अधिक है। सेब, अंगूर, रसबरी, स्ट्रॉबेरी आदि अनेक फलों के बडे-बडे बागान भी यहां देखे जा सकते हैं। समंदर की समीपता होने के कारण यहां सी फूड की भी कोई कमी नहीं। सी फूड के बहुत से प्रोडक्ट्स यहां से विभिन्न देशों में निर्यात भी किए जाते हैं। तरह-तरह के स्वाद वाली चीज (पनीर) भी यहां की मशहूर है। इसके साथ ही अन्य डेयरी प्रोडक्ट्स का स्वाद भी यहां लिया जा सकता है।

फलों के पेडों व नाना प्रकार की बेरियों वाले बडे-बडे खेत तस्मानिया की पृष्ठभूमि को अधिक खूबसूरती प्रदान करते हैं। इन खेतों में जाकर आप अपनी पसंद की स्ट्रॉबेरी, रैस्पबैरी या अन्य कोई बेरी खुद चुन या तोड सकते हैं। विभिन्न प्रकार के जैम, जेली, अचार व सॉस इत्यादि की इस द्वीप में भरमार है, जो आपको किसी भी फॉर्म या दुकान पर आसानी से मिल जाएंगे।

मौसम कोई भी हो

तस्मानिया घूमने के लिए हर मौसम बेहतरीन मौसम है। गर्मियों (जनवरी-फरवरी) में आप समंदर की लहरों व ठंडी हवाओं का मजा ले सकते हैं और पहाडों में रहने का भी। उत्सवों का आयोजन मौसम की खूबसूरती को देख कर ही किया जाता है। तापमान 21 डिग्री सेल्सियस से 12 डिग्री सेल्सियस तक रहता है। पतझड के मौसम (मार्च-अप्रैल) में भी आप इस द्वीप के मीलों तक फैले समुद्री किनारों, झील और नदियों का पूरा लुत्फ उठा सकते हैं। सेबों के बागों में लोग सेब के जायकों का मजा लेते दिखेंगे और अंगूरों के पकने पर आप अंगूरों का वाइन के लिए तोडा जाना भी विनया‌र्ड्स में इसी समय देख सकते हैं।

औसत तापमान 17 डिग्री सेल्सियस से 9 डिग्री सेल्सियस तक रहता है। सर्दी का मौसम (मई-अगस्त) भी यहां कोई कम आकर्षक नहीं। बर्फ से ढके पहाड, सूरज की नर्म धूप और वीराने तटों का लुत्फ उठाना हो तो यह मौसम सबसे अछा है। बर्फ से जुडे खेलों जैसे स्कीइंग, स्नो बॉल आदि का मजा सर्दी में ही है। अधिकांश सडकें व दुकानें इस समय खाली दिखेंगी, पर यही तो आनंद है भीडभाड से बचने का। चाय व कॉफी की चुस्कियां लेते हुए शाम को फायर प्लेस के किनारे बैठ कर तस्मानियन सर्दियों का भरपूर आनंद उठाया जा सकता है। इस समय औसत तापमान 12 डिग्री सेल्सिसय से 5 डिग्री सेल्सियस तक रहता है।

 

tasmaniya_image_6

बसंत का मौसम (सितंबर-दिसंबर) हर देश में ही, विभिन्न रंगों से भरा होता है। इस द्वीप में भी सेबों के बागों व फूलों के रंग अपनी खूबसूरती की चरम सीमा पर होते हैं। रंगों की उमंग दिखाने के लिए बसंत से जुडे अनेक उत्सव व कार्यक्रम आयोजित होते हैं। जिन्हें ट्राउंट मछली पकडने का शौक हो उनके लिए यह मौसम सर्वोत्तम है। प्रकृति की शोख व निराली छटा को निहारने का मजा बसंत में लीजिए। तापमान 17 डिग्री सेल्सियस से 8 डिग्री सेल्सियस तक रहता है।

जानकारी

तस्मानिया के लिए पहले ऑस्ट्रेलिया के किसी भी बडे शहर जैसे सिडनी या मेलबर्न पहुंचना जरूरी है। मुंबई से एयर इंडिया व कॉन्टाज एयरवेज की सीधी उडान है, जिसमें करीब 13 घंटे लगते हैं। मेलबर्न से शिप या एयर द्वारा तस्मानिया के होबार्ट या लासेस्टन शहर पहुंचा जा सकता है। किसी भी ट्रैवल एजेंट से या कॉन्टाज एयरवेज से संपर्क करें, जो आपको सबसे कम दाम में रिटर्न फेयर दे सके। ऑनलाइन बुकिंग भी करा सकती हैं आप। समय-समय पर कम दाम वाली डील ऑफर की जाती है।

मुद्रा: ऑस्ट्रेलिया डॉलर

मुद्रा किसी भी लोकल बैंक या एयरपोर्ट पर करेंसी एक्सचेंज काउंटर पर बदल सकती हैं। बेहतर होगा कि भारत में ही मुद्रा बदल कर ले जाएं, अन्यथा क्रेडिट कार्ड की सुविधा हर जगह है।

होटल: तस्मानिया में सभी बजट के होटल उपलब्ध हैं। जनवरी-फरवरी में यदि यात्रा कर रही हैं तो होटल महंगे मिलेंगे, क्योंकि वहां पर यह गर्मी का मौसम है और पर्यटकों की मात्रा अधिक होती है। ऑनलाइन बुकिंग भी की जा सकती है।

रेस्टोरेंट: लगभग हर किस्म के रेस्टोरेंट होबार्ट में हैं। इंडियन, जापानी, थाई, चाइनीज, मेक्सीकन आदि सभी तस्मानिया के शहरों में आराम से घूमने के लिए वाजिब दामों में टैक्सियां भी मिल जाती हैं।

 

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें
Title: tasmania a beautiful island of australia

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *