अर्थ जगत - बड़ी खबरें

Latest Business News & Article in Hindi

शख्सियत साहित्य

बेबी हालदार, घरों में मामूली काम करते करते बन गईं लेखिका

घरों में काम करने वाली मामूली-सी नौकरानी बेबी हालदार कैसे लेखिका बन गई, इसकी बेहद प्रेरणादायक और संघर्षपूर्ण दास्तान है। वह जिस घर में चौका-बरतन करती थी, उसके एक कमरे की तीन अलमारियां किताबों से भरी थीं। उनमें बांग्ला की भी बहुत सी किताबें थीं। उन्हें देखकर बेबी के मन में यह बात उठती कि […]
अजब गजब खासखबर शख्सियत

व्हीलचेयर पर भारत भ्रमण करके मिसाल बन गए अरविंद

जहाँ कई बार मनुष्य शारीरिक रूप से स्वस्थ होने के बावजूद मानसिक चुनौतियों के सामने घुटने टेक देता है, तो क्या ऐसे में कोई कल्पना कर सकता है कि एक इन्सान शारीरिक रूप से अक्षम (Disabled) होने के बावजूद सकारात्मक जिंदगी जी रहा है और लोगो के लिए मिसाल बन रहा है। जी हां आप […]
खासखबर महिला जगत शख्सियत

कभी इंजीनियर, कभी फैशन डिजाइनर और आख़िरकार एसीपी बनकर अपराधियों में खौफ भर दिया इस जांबाज महिला ने

रात के दो बजे, अपने सहयोगी के साथ एक लेडी पुलिस ऑफिसर सीक्रेट ऑपरेशन के तहत बुर्का पहनकर जुए के अड्डे पर छापेमारी (Raid) करती है, जहाँ से 2 सरगना समेत 28 लोगों को गिरफ्तार कर लिया जाता है। आपको सुनने में भले ही यह कोई फ़िल्मी कहानी लग रही हो, मगर फ़िल्मी कहानी न […]
अर्थ जगत खेत खलिहान

लाखों का मुनाफा देते हैं गांव में शुरू होने वाले व्यापार

अधिकांश लोगो का मानना है कि गांव में रहते हुए एक सफल व्यापारी बन पाना बेहद ही मुश्किल है, परिणामस्वरूप लोग गाँव छोड़ शहर की ओर चल देते हैं। यदि बीते ज़माने की बात की जाए तो काफी हद तक यह बात सही मानी जा सकती थी, पर आज के दौर में ऐसा नहीं है, […]
अर्थ जगत

टर्म इन्श्योरेन्स खरीदने से पूर्व जान ले इन बातों को

क्या कभी आपने टर्म इन्श्योरेन्स खरीदने से पूर्व किसी प्रकार का कोई सर्वे किया है, जैसे कि इन्श्योरेन्स को खरीदने से पूर्व खुद का मूल्य आंकलन। वैसे तो जिंदगी अनमोल है, परन्तु आने वाले बुरे वक़्त या परिवार को सुरक्षित रखने के लिए हमे बीमा जरूर खरीदना चाहिये, जिसके चलते यदि कोई अनहोनी घट जाए […]
अर्थ जगत

क्या होती है ये आर्थिक अश्लीलता, कहीं आप तो नहीं हुए इसके शिकार

अश्लीलता (porn) से तो आप सब लोग परिचित ही होंगे।  यह एक ऐसा शब्द है जो लोगों के मन में लालच को जन्म देता है, समाज के सामने बेशक हम सभ्य बने रहें लेकिन अकेले में लोगों का अलग रूप होता है। बहरहाल यहां हम पोर्न पर बात नहीं करेंगे। यहां हम आपको परिचय करा […]
अर्थ जगत

खर्चे बहुत हैं, बचत नहीं हो पा रही! तो हमसे जानिए आसान उपाय

आज के दौर में जब हर आदमी जीवन की आपाधापी में इस कदर मशगूल है कि उसके पास समय बिल्कुल नहीं है, उसे सबकुछ फटाफट चाहिए या युं कहिए कि आज ही चाहिए। जैसे महंगे सेलफोन, अच्छी बाइक या कार, अच्छा घर और अच्छी लाइफस्टाइल, और मजे की बात ये है कि इन सब इच्छाओं […]
अर्थ जगत वीडियो

नोकिया Nokia 8110 4G होने वाला है लॉन्च, वीडियो में जाने इसकी खूबी

यदि बात मोबाइल की हो तो आज भी सबसे ज्यादा विश्वसनीय ब्रांड नोकिया है। मोबाइल क्षेत्र में नोकिया ने कई वर्षो तक अपनी धाक जमकर रखी है। हालाँकि नोकिया की एक गलती ने भारत में उसके जमेजमाये साम्राज्य को उखाड़ फेंका था। जिस वक़्त भारत में एंड्राइड फोन अपने पैर जमा रहे थे तब नोकिया […]
शख्सियत

अब जवानों की जान की सलामती रोबट के हाथ में

भारतीय सैनिकों की बॉर्डर पर सुरक्षा के लिए 17 साल के एक लड़के, जो कि तालनगर जूनियर कॉलेज में 12वीं का छात्र है, ने ऐसा एक रोबाट बनाया है, जिसे इंसानी जवानों की बजाय बॉर्डर पर तैनात कर के देश के वीर सपूतों की जान सलामत रहेगी। ओडिशा के बालासोर जिले में रहने वाले नीलमादाब […]
शख्सियत

एक चोर जो बन गया बेसहारा लोगों का मसीहा

क्या कभी एक चोर नेकदिल बन दूसरों की मदद करने वाला हो सकता है, ज्यादा न सोचे, टी राजा इसकी जीती-जागती मिसाल है । ज़िन्दगी का असली सुख दूसरों की मदद करने के बाद ही मिलता है, जब टी राजा को इस बात का अहसास हुआ तो मानों उसके जीने का मकसद ही बदल गया […]