• यस बैंक सभी बैंकिंग सेवाओं को जल्द से जल्द बहाल करने के लिए काम कर रहा है
  • प्रशांत कुमार ने कहा ग्राहक हमारी पहली प्राथमिकता
  • 3 अप्रैल तक अधिकतम निकासी की सीमा 50,000 रुपये तय

नई दिल्ली, 09 मार्च (एजेंसी)।  प्रशांत कुमार, जिन्हें आरबीआई ने यस बैंक के प्रशासक के तौर पर नियुक्त किया गया है,  ने कहा कि  बैंक अपने ग्राहकों के लिए सभी बैंकिंग सेवाओं को जल्द से जल्द बहाल करने के लिए प्रयासरत  है। एक टीवी चैनल को इंटरव्यू देते समय कुमार ने कहा कि उन्हें लगता है कि सबसे पहली प्राथमिकता ग्राहक हैं इसलिए अपने ग्राहकों को सुविधाजनक व्यापार मुहैया कराना जरुरी है । उन्होंने ये भी कहा कि सभी ने देखा होगा कि बैंक के सभी एटीएम ग्राहकों के लिए चालू थे ।

प्रशांत कुमार ने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा कि शनिवार शाम से दूसरे बैंकों के एटीएम से भी ग्राहक नकदी निकाल सकते थे। सीएनबीसी टीवी 18  से वार्ता करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी सभी शाखाओं में सभी कर्मचारी ग्राहकों को सेवाएं दे रहे हैं और उनके मसलों का निवारण कर रहे हैं। कुमार ने ग्राहकों का शुक्रिया अदा करते हुए कि ये ग्राहकों के सहयोग और धैर्य से ही संभव हो सका है ।

आपको बता दे कि 5 मार्च 2020 को रिजर्व बैंक ने यस बैंक के बोर्ड को निलंबित करते हुए एसबीआई के पूर्व अधिकारी कुमार को उसका प्रशासक नियुक्त किया। इतना ही नहीं अपने ग्राहकों के लिए 3 अप्रैल तक अधिकतम निकासी की सीमा 50,000 रुपये तय की गयी | कुमार ने भरोसा दिलाते हुए कहा कि बैंकिंग से जुडी सभी सेवाओं को जल्द से जल्द बहाल कर दिया जाएगा जिसके लिए  बैंक के कर्मचारी कठिन परिश्रम कर रहे हैं। आरबीआई की रोक से यस बैंक के विनिमय लेनदेन, क्रेडिट कार्ड, डिजिटल भुगतान जैसे वित्तीय बाजार के लेनदेन भी प्रभावित होने से बच न सके ।

कुमार ने बताया कि उन्हें उम्मीद है कि  14 मार्च को वो अपना परिणाम घोषित कर देंगे चूँकि आरबीआई की कार्रवाई से पहले बैंक ने 2019-20 की तीसरी तिमाही के लिए अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा को टाल दिया था। बैंक की पूंजी आवश्यकता एसबीआई द्वारा 2,450 करोड़ रुपये में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के मुकाबले काफी अधिक है इस मामले में जब कुमार की राय ली गयी तो उन्होंने कहा कि जब बोर्ड तीसरी बैठक में तिमाही आय की घोषणा करेगा,तो इस बारे में स्पष्टता आएगी। उन्होंने कहा कि एसबीआई ने 49 प्रतिशत के लिए जो रुचि दिखाई है, निश्चित रूप से जरूरत उससे काफी अधिक होगी और हम समान सोच वाले निवेशकों के साथ बातचीत कर रहे हैं।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें