Online course for translation in hindi : हम जब भी अपने क्षेत्र से कही दूर जाते हैं तो हमारे सामने सबसे पहली और बड़ी समस्या जो आती है वो है संचार यानी कि कम्युनिकेशन (communication), इस समस्या से निपटने के लिए हमे उस क्षेत्र की भाषा का ज्ञान होना अतिआवश्यक है। ऐसे में या तो हमें उनकी भाषा का ज्ञान हो अन्यथा हमे किसी अनुवादक की आवश्यकता होती है ।

कई बार अनुवादक की मदद से बात उलझ जाती है या परिस्थिति काफी जटिल हो जाती है । ये तो हम जानते ही हैं कि आज पूरा विश्व एक ‘ग्लोबल विलेज’ (Global Village)  की तरह बन चुका है अत: अपनी भाषा के अतिरिक्त भी हमारा सामना अन्य भाषाओं से भी होता है, जो कि हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण भी होती हैं । अगर सीधे और सरल शब्दों में कहा जाए तो आज वही इंसान कामयाब है, जिसे कम से कम तीन भाषाओं का ज्ञान हो अर्थात उसे कम से कम तीन भाषाए लिखना, पढ़ना और समझ आती हों ।

आज के समय में अलग अलग भाषाओं का ज्ञान जरूरी

आज की दुनिया इन्टरनेट (Internet) की दुनियां है जिसके चलते आज हम अलग अलग भाषाओँ के गीत-संगीत, साहित्य आदि से जुड़ने को आतुर रहते हैं, परन्तु भाषा रूपी अड़चन सामने आती है अत: आज के समय में भिन्न भिन्न भाषाओँ का ज्ञान अतिआवश्यक है ।

अनुवाद (Translation) एक रचनात्मक कला

आपको बता दें कि किसी भी भाषा का अन्य भाषा में अनुवाद (Translation) करना, रचनात्मक कला है, जिसके लिए काफी प्रैक्टिस करनी पड़ती है । यह एक सत्य तथ्य है कि जब हम किसी चीज़ का अनुवाद करते हैं तो सबसे ज्यादा परेशानी हमे लिखने में उठानी पड़ती है क्योंकि यहाँ सिर्फ शब्द का अनुवाद ही नहीं बल्कि  भावानुवाद भी करना होता हैं और हमे दूसरी भाषा के मुहावरे व टोन का सही ज्ञान नहीं होता । ऐसा सिर्फ भारतवासियों के साथ नहीं, बल्कि दुनिया के हर कोने में ऐसी ही समस्या का सामना हर किसी को करना पड़ता है |

अनुवाद के हैं कई  तरह के कोर्स

दुनिया भर में लोगों को इस तरह की समस्या का सामना न करना पड़े अत: आज के समय में कई इस विषय से सम्बंधित कई आनलाइन कोर्स चलाये जा रहे हैं, जिनमे से एक प्लेटफार्म ‘फ्यूचर लर्न’ द्वारा संचालित ‘वर्किंग विद ट्रांसलेशन: थ्योरी एंड प्रैक्टिस’ भी शामिल है, जिसे कार्डिफ यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ नामीबिया ने मिलकर तैयार  किया है।

कोई भी अपना सकता है इस कोर्स को

आपको बता दें कि इस कोर्स का उद्देश्य छात्रों को अधिक से अधिक अनुवाद का अभ्यास करवाना है, ताकि वो अनुवाद की बारीकी से वाकिफ हो सके और विभिन्न भाषाओ का ज्ञान अर्जित कर सके । आपको बता दें कि यह कोर्स पूरी तरह अंग्रेजी भाषा (English Language) में है तथा इस कोर्स को कोई भी ऑनलाइन (Online) अपना सकता है।

कोर्स के बाद रोजमर्रा के जीवन में अनुवाद को समझना आसान

चूँकि यह कोर्स ऑनलाइन ( Online course) है अत: इस कोर्स के द्वारा छात्र को अनुवाद की परिभाषा (Definition of translation) और मेटाफर तथा अनुवाद के प्रकार आदि का अध्ययन ऑनलाइन ही कराया जायेगा । इतना ही नहीं अनुवादकों का इतिहास व भूमिका, प्रोफेशनल एथिक्स और कोड ऑफ कंडक्ट आदि की जानकारी भी दी जायेगी। इस कोर्स को अपनाने के बाद अनुवाद करने की पूरी प्रक्रिया छात्र को समझ आ जाएगी तथा अपनी रोजमर्रा की जिन्दगी में अनुवाद की भूमिका को भी समझना आसान हो जायेगा ।

कोर्स करने के लिए किसी विशेष शैक्षिक योग्यता की आवश्यकता नहीं

आपको बता दें कि इस कोर्स को अपनाने के लिए किसी विशेष शैक्षिक योग्यता की जरुरत नहीं है अत: ऐसे छात्र जो भाषा – अनुवाद के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए उत्सुक हैं, वो बिना हिचकिचाहट के इस कोर्स को अपना सकते है, जिसके चलते आप अनुवादक या इंटरप्रेटर (Interpreter)के रूप में अपना भविष्य सुरक्षित कर सकते हैं ।

कोर्स पूरा होने पर सर्टिफिकेट ऑफ अचीवमेंट भी मिलता है

आपको एक खास बात और बता दें कि यह कोर्स छात्रों के लिए एकदम मुफ्त है, जिसके चलते आप लेख, वीडियो (Video) और क्विज में भाग ले सकेंगे, परन्तु कोई छात्र इस कोर्स को अपग्रेड करना चाहता है तो उसे करीबन छह हजार रुपये की फीस अदा करनी होगी, जिसके बाद वो कभी भी लॉग इन कर संबंधित लेख व वीडियो देख सकेंगे । इसके अतिरिक्त कोर्स पूरा होने पर उन्हें ‘सर्टिफिकेट ऑफ अचीवमेंट’ भी दिया जायेगा।

इस कोर्स का नाम वर्किंग विद ट्रांसलेशन: थ्योरी एंड प्रैक्टिस है, जिसमे आप अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं | यह कोर्स मुफ्त है परन्तु यदि आप सर्टिफिकेट पाना चाहते है तो ऐसे में करीबन छह हजार रुपये आपको देने होंगे | आप अपना रजिस्ट्रेशन http://bit.ly/2mZECNR पर जाकर करा सकते है |

 

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें