Dance of Death at Sea in hindi :  समुद्र में कई तरह के जहाज़ चलते हैं जिसमें खास तौर से merchant ship, merchant vessel, cruise ship aur navy ship इत्यादि शामिल होते हैं। लगभग 16-17 लाख लोग अलग अलग रूपों एवं ज़िम्मेदारियों के साथ यहां काम करते है। समुंदरी जहाज़ के ज़रिए 90% सामानों का व्यापार एक जगह से दूसरी जगह होता है।

मालवाहक जहाजों पर काम करने वाले लोगों को अलग अलग पेशों के साथ काम करना पड़ता है। अधिकतर युवाओं का सम्बन्ध निम्नवर्गीय परिवारों से होता है जो अच्छी नौकरी और बेहतर ज़िन्दगी की चाह में ये काम करते हैं। हालाकि एग्रीमेंट करने के बावजूद एक बार काम शुरू होने के बाद कंपनियां उन्हें प्रायः भूल जाती हैं और उनके साथ बहुत ही निर्दयता भरा क्रूर व्यवहार किया जाता है जिससे उनकी ज़िन्दगी बदतर बन जाती है।

इन कंपनियों का एक ही मकसद होता है कि इन कामगारों के ज़रिए खूब दौलत कमाएं। उनकी धड़ल्ले से हत्या कर दी जाती है और उसे आत्महत्या बता कर छुपाने की कोशिश की जाती है। ऐसे सारे अपराधों में न केवल जहाज़ पर करने वाले लोग शामिल होते हैं बल्कि उनमें जहाजरानी कम्पनी के आला अधिकारी, सरकारी अफसरों, बीमा कम्पनी के एजेंट्स और स्मगलर्स भी शामिल होते हैं।

दुर्भाग्य से पिछले चार सालों में 62 नाविकों की समुंदरी डाकुओं के हाथों दर्दनाक मौत हो चुकी है। उनमें से कुछ की मौत कैद के दौरान दी गई यातनाओं के कारण खुदकुशी करने से हुई तो कुछ की भूख और प्यास से। इन सारे अपराधों को अंजाम देने के पीछे सबसे बड़ी वजह ये भी थी वो अंगो की तस्करी पर और बीमा कंपनी से मिलने वाली रकम हड़पना चाहते थे। यह सिलसिला दुर्भाग्य से आज भी जारी है और हमारे सरकार आंख मूंदे बैठी है।

इसी विषय को सामने लाने के लिए इस डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म का निर्माण किया गया है जिसके लेखक एवं निर्देशक डॉक्टर मोहम्मद अलीम हैं। इसका निर्माण किया है Magnifera Media House ने।

समुद्र में मौत का तांडव | Dance of Death at Sea (Hindi ) | Documentary film

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें