आरती - बड़ी खबरें

आरती

चामुण्डा देवी की आरती

जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी। निशिदिन तुमको ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवजी॥ जय अम्बेमाँग सिन्दूर विराजत, टीको, मृगमद को। उज्जवल से दोउ नयना, चन्द्रबदन नीको॥ जय अम्बेकनक समान कलेवर, रक्ताम्बर राजे। रक्त पुष्प गलमाला, कंठ हार साजे॥ जय अम्बेहरि वाहन राजत खड्ग खप्पर धारी। सुर नर मुनिजन सेवत, तिनके
आरती

शीतला माता की आरती

जय शीतला माता, मैया जय शीतला माता, आदि ज्योति महारानी सब फल की दाता।। जय शीतला माता… रतन सिंहासन शोभित, श्वेत छत्र भ्राता। ऋद्धिसिद्धि चंवर डोलावें, जगमग छवि छाता।। जय शीतला माता… विष्णु सेवत ठाढ़े, सेवें शिव धाता। वेद पुराण बरणत पार नहीं पाता।। जय शीतला माता.. इन्द्र मृदंग बजावत चन्द्र वीणा हाथा। सूरज ताल […]
आरती

वैष्णो माता की आरती

जय वैष्णव माता, मैया जय वैष्णव माता। द्वार तुम्हारे जो भी आता, बिन माँगे सब कुछ पा जाता।। ऊँ जय वैष्णो माता। तू चाहे तो जीवन दे दे, चाहे पल मे खुशियां दे दे। जन्म मरण हाथ तेरे है शक्ति माता ।। ऊँ जय वैष्णो माता। जब जब जिसने तुझको पुकारा तूने दिया है बढ़ […]
आरती

आरती पशुपतिनाथ की

ॐ जय गंगाधर जय हर जय गिरिजाधीशा । त्वं मां पालय नित्यं कृपया जगदीशा ॥ ॐ हर हर महादेव कैलासे गिरिशिखरे कल्पद्रमविपिने । गुंजति मधुकरपुंजे कुंजवने गहने ॥ ॐ हर हर महादेव कोकिलकूजित खेलत हंसावन ललिता । रचयति कलाकलापं नृत्यति मुदसहिता ॥ ॐ हर हर महादेव तस्मिंल्ललितसुदेशे शाला मणिरचिता । तन्मध्ये हरनिकटे गौरी मुदसहिता ॥ […]
आरती

माता पार्वती की आरती

जय पार्वती माता, मैया जय पार्वती माता ब्रह्म सनातन देवी ,शुभ फल की दाता। ऊँ जय पार्वती माता.. अरिकुल पद्मा विनासनी, जय सेवक त्राता जग जीवन जगदम्बा, हरिहर गुण गाता। ऊँ जय पार्वती माता.. सिंह को वाहन साजे, कुंडल है साथा देव वधु जहं गावत, नृत्य कर ताथा। ऊँ जय पार्वती माता.. सतयुग शील सुसुन्दर, […]
आरती

श्री हनुमान जी की आरती

आरति कीजै हनुमान लला की। दुष्ट दलन रघुनाथ कला की।। जाके बल से गिरिवर कांपै। रोग-दोष जाके निकट न झांपै।।अंजनी पुत्र महा बलदाई। संतन के प्रेम सदा सहाई।। आरति कीजै हनुमान लला की… दे बीरा रघुनाथ पठाये। लंका जारि सिया सुधि लाये।।लंका सो कोट समुद्र सी खाई। जात पवनसुत बार न लाई।। आरति कीजै हनुमान […]
आरती

भगवान बालकृष्ण की आरती

आरती बालकृष्ण की कीजे। अपना जनम सफल करि लीजे।। श्री यशोदा का परम दुलारा। बाबा की अखियन का तारा ।। गोपिन के प्राणन का प्यारा। इन पर प्राण निछावर कीजे।। आरती बालकृष्ण की कीजे… बलदाऊ का छोटा भैया। कान्हा कहि कहि बोलत मैया।। परम मुदित मन लेत वलैया। यह छबि नैनन में भरि लीजे।। आरती […]
आरती

तुलसी माता की आरती

जय तुलसी माता, मैया जय तुलसी माता। सब सुख की दाता वर माता ।। जय जय तुलसी माता… सब योगों के ऊपर, सब रोगों के ऊपर। रज से रक्षा करके भव त्राता।। जय जय तुलसी माता… बहु पुत्री है श्यामा, सुर बल्ली हे ग्राम्या। विष्णु प्रिय जो तुमको सेवे सो नर तर जाता।। जय जय […]
आरती

साईनाथ आरती

आरती उतारे हम तुम्हारी साईँ बाबा। चरणों के तेरे हम पुजारी साईँ बाबा । विद्या बल बुद्धि, बन्धु माता पिता हो। तन मन धन प्राण, तुम ही सखा हो । हे जगदाता अवतारे, साईँ बाबा। आरती उतारे हम तुम्हारी साईँ बाबा ।। ब्रह्म के सगुण अवतार तुम स्वामी। ज्ञानी दयावान प्रभु अंतरयामी । सुन लो […]
आरती

श्री श्यामबाबा की आरती

ॐ जय श्री श्याम हरे , बाबा जय श्री श्याम हरे | खाटू धाम विराजत, अनुपम रुप धरे ॥ ॐ जय श्री श्याम हरे.... रत्न जड़ित सिंहासन, सिर पर चंवर ढुले| तन केशरिया बागों, कुण्डल श्रवण पडे ॥ ॐ जय श्री श्याम हरे.... गल पुष्पों की माला, सिर पर मुकुट धरे| खेवत धूप अग्नि पर, […]