Holi 2020: भारत की ही तरह पाकिस्तान का भी होली से है गहरा नाता

Colours of Holi

Holi 2020: First Narasimha prahladpuri Temple in Multan Pakistan: प्रति वर्ष भारत में होली (Holi) का त्यौहार हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। तरह तरह के पकवानों की महक और चारों और रंग बिरंगे बिखरे हुए रंग इस त्यौहार को और रंगीन बना देते हैं। मगर आपको बता दे कि जितना सम्बन्ध भारत (India) देश का इस त्यौहार से है उतना ही सम्बन्ध पाकिस्तान (Pakistan) से भी हैं। चौक गए, जी हां आज जिस त्यौहार की धूम पूरे भारत में देखने को मिलती है, उसकी शुरुवात पाकिस्तान से हुयी थी, जिसका जीता जागता प्रमाण है पाकिस्तान के मुल्तान शहर में मौजूद प्रल्हादपुरी मंदिर। साथ ही पढ़िए अलग अलग देशों में होली के त्योहार (Holi 2020) के बारे में विस्तार से।

हम सभी होलिका दहन (Holika Dahan) और हिरण्यकश्यप वध की कथा से भली-भाति वाकिफ हैं, साथ ही साथ भगवान नरसिंह के प्रति प्रल्हाद के भक्ति भाव से भी हम परिचित हैं। मान्यता है कि इसी भक्ति भाव में प्रल्हाद ने विष्णु-अवतार भगवान नरसिंह के सम्मान में मंदिर बनवाया थी तो तत्कालीन पाकिस्तान के शहर मुल्तान में स्थित है। भगवान नरसिंह ने खंभे से प्रकट होकर अपने भक्त प्रल्हाद की जान बचाई थी तथा इसी मंदिर से सर्वप्रथम होली त्यौहार का आयोजन किया गया था। आपको बता दें कि होलिका दहन का  उत्सव यहाँ 2 दिन तक मनाया जाता है, जबकि  होली नौ दिनों तक मनाई जाती थी।

First Narasimha prahladpuri Temple in Multan Pakistan
First Narasimha prahladpuri Temple in Multan Pakistan

Also Read: Holi 2020: यहाँ खेलते है महाश्मशान पर जलती चिताओ के बीच चिता भस्म से होली

यहाँ होली (Holi 2019) मनाने का अपना ही तरीका है। जनमाष्टमी (भारत) की तरह यहाँ होली के दिन मक्खन और मिश्री से भरी मटकी को ऊंचाई पर लटका कर फोड़ने का रिवाज़ है। मुल्तान (पाकिस्तान) में इस पर्व को चौक-पूर्णा त्यौहार के नाम से पुकारा जाता है। बताया जाता है  पाकिस्तान में मौजूद भगवान नरसिंह के इस मंदिर को नुकसान पहुँचाया गया था। दरअसल जब भारत में बाबरी मस्जिद को गिराने की कोशिश की गयी थी तब पाकिस्तान ने इसका बदला लेने की मंशा से कई हिंदू मंदिरों को गिराया गया था, जिनमे यह मंदिर भी था। आपको बता दे कि प्रल्हादपुरी मंदिर (Prahladpuri Temple) में मौजूद भगवान नरसिंह की मूर्ति को अब हरिद्वार में स्थापित किया गया है। प्रसिद्ध वयोवृद्ध संत बाबा नारायण दास बत्रा इस मूर्ति को भारत लेकर आये थे। बाबा बत्रा को समाज के उत्थान किये गए कार्यों के चलते वर्ष 2018 में पद्मश्री से भी नवाज़ा गया था।


Also Read: Holi Festival 2020 : कैसे कैसे मनाया जाता है होली का त्यौहार

 

 

Read all Latest Post on धर्म कर्म dharm karam in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें
Title: holi 2020 first narasimha prahladpuri temple in multan pakistan in Hindi  | In Category: धर्म कर्म dharm karam

Next Post

कोरोना वायरस के संदिग्धों के आते ही 8 मंज़िला अस्पताल हुआ वीरान

Thu Mar 5 , 2020
कोरोना वायरस का असर भारत में किस क़दर लोगों को डरा रहा है यह जयपुर में तब देखने को मिला जब शहर के एक अस्पताल में इसके संदिग्ध मरीज़ पहुंचे. जब अस्पताल में पहले से भर्ती मरीज़ों के बीच यह ख़बर पहुंची तो उनमें हड़कंप मच गया और एक-एक कर […]
8-storey hospital deserted as soon as corona virus suspects arrive

All Post


Leave a Reply