Holi 2020: ke upay in hindi : होलिका पूजन (Holika pujan) को लाभ की दृष्टि से देखा जाता है अर्थात माना जाता है कि होलिका (Holika) की पूजा करने से व्यक्ति को शुभ फल की प्राप्ति होती है। साथ ही साथ कुछ ऐसे टोटके (Totke) भी है जिन्हें अपनाने से […]

Astrology remedies for year 2020 in hindi : जीवन में आ रही परेशानियों को दूर करने के लिए वैसे तो वैदिक ज्योतिष में, लाल किताब में और हस्तरेखा विज्ञान में तरह तरह के उपाय बताए गए हैं जिन्हें अपनाकर मानव अपने जीवन में आने वाली परेशानियों को काफी हद तक […]

दिल्ली में विधानसभा चुनाव में हार के बाद जहाँ बीजेपी आत्ममंथन में लगी हुयी है वहीँ जीत का परचम लहराने वाली आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ के लिए पूरी तरह से तैयार हो चुके हैं । 16 फरवरी को शपथ ग्रहण करने […]

Planet Saturn (Shani) and its effects on different houses of Astrology : यह बात तो हम सभी जानते है कि हमारी कुंडली नौ ग्रहों से प्रभावित होती है और इन नौ ग्रहो में सबसे ज्यादा प्रभावशाली ग्रह शनि है । इसके अलावा हमारे ग्रंथो में शनि को न्यायाधीश भी माना […]

Rahu in Twelvth House in Hindi: वैदिक ज्योतिष में कुंडली के बारहवें भाव को व्यय भाव भी कहा जाता है। इस भाव से जातक पर होने वाले कर्जे, नुकसान, परदेश गमन, सन्यास, अनैतिक आचरण, व्यसन गुप्त शत्रु, आत्महत्या, जेल यात्रा और मुकदमेबाजी का भी विचार किया जाता है। खुलासा डॉट […]

Rahu in Eleventh House in Hindi वैदिक ज्योतिष में कुंडली के एकादश भाव को लाभ कहा जाता है। इस भाव से जातक को जीवन में प्राप्त होने वाली धन संपदा, लाभ, आय उसके मित्र, बहू, जंवाई, भेट उपहार और विभिन्न तरीकों से होने वाली आय के बारे में पता चलता […]

Rahu in Tenth House in Hindi वैदिक ज्योतिष में जन्मकुंडली के दशम स्थान को कर्मस्थान कहा जाता है। इस भाव से जातक को मिलने वाले पितृसुख, नौकरी व्यवसाय, शासन से लाभ, घुटनों के दर्द, सासु मां और जातक की मान सम्मान का पता चलता है। खुलासा डॉट इन में जानिए […]

Rahu 9th house in birth chart in hindi वैदिक ज्योतिष में जन्मकुंडली के नवम भाव को भाग्यस्थान भी कहा जाता है, इस भाव से जातक की आध्यात्मिक प्रगति, भाग्योदय, जातक की बुद्धिमत्ता, गुरू व परदेश गमन को देखा जाता है। कुंडली का नवम भाव पुस्तक लेखन, तीर्थ यात्रा, भाई की […]

Rahu in Eighth House in Hindi वैदिक ज्योतिष में जन्मकुंडली के अष्टम भाव को मृत्यु स्थान कहा जाता है। इस भाव से जातक के आयु निर्धारण, जातक को प्राप्त होने वाले दुख, उसकी आर्थिक स्थिति, मानसिक क्लेश, जननांगों के विकार और जातक के जीवन में आने वाले अचानक संकटों का […]

Rahu in Seventh House in Birth Chart in hindi वैदिक ज्योतिष में जन्मकुंडली के सप्तम भाव को विवाह स्थान कहा जाता है। इस भाव से किसी जातक के वैवाहिक सुख, शैयया सुख, साझेदारी, जीवनसाथी का स्वभाव, व्यापार और विदेश में प्रवास के योग, कोर्ट कचहरी के मामले को देखा जाता […]

All Post