Maha Shivratri 2020: भगवान शिव, जिन्हें कोई भोले बाबा कहता है तो कोई महादेव, कोई रुद्र कहता है तो कोई नीलकंठ। ये सदा भक्तों पर अपनी कृपा बनाए रखते हैं। महाशिवरात्रि पर शिव (Shiv) के पूजन से भक्तों को विशेष लाभ मिलता है। शिवरात्रि के पर्व पर शिवलिंग पर जल चढ़ाने से व्यक्ति सभी प्रकार के भव बंधनों से मुक्त होकर मोक्ष को प्राप्त होता है। महाशिव रात्रि पर महामृत्युजंय मंत्र (Mahamrtyunjay Mantra ) का जाप भी विशेष फलदायी होता है। इस दिन शिव चालीसा (Shiv Chalisa) और शिव आरती (Shiv aarti) का पाठ करने से भी भक्तों पर महादेव की कृपा बनी रहती है।

 

देवों के देव महादेव भगवान शिव को महाकाल के नाम से भी जाना जाता है । गंगा को शीश पर धारण किये भोले नाथ को यदि पूरे श्रद्धा भाव से पूजा जाए तो भगवान् अपने भक्त के जीवन की सभी समस्याओं को हर लेते हैं । इस वर्ष महाशिवरात्रि का पर्व 21 तारीख को शाम को 5 बजकर 20 मिनट से शुरू होकर 22 फरवरी शनिवार को शाम सात बजकर 2 मिनट तक रहने वाला है । चूँकि वैष्णव संप्रदाय उदियात अर्थात् जो सूर्योदय के समय तिथि हो उसे मानते हैं अत: इस साल महाशिवरात्रि का पर्व पूरी श्रद्धा के साथ 21 फरवरी को मनाया जायेगा।

आपको बता दें कि शैव संप्रदाय के अनुसार निशीथ में चतुर्दशी तिथि व्याप्त होने पर 21 फरवरी को शिवरात्रि का पर्व मनाया जाए रहा है हालाँकि 22 फरवरी को वैष्णवों द्वारा सूर्योदय के समय में चतुर्दशी तिथि के चलते व्रत परायण करना श्रेयस्कर माना जा रहा है। जबकि 23 फरवरी को शिव खप्पर पूजन होगा जो कि अमावस्या की रात है । इस दिन भगवान का रुद्राभिषेक किया जाता है, जिसके चलते भगवान शिव को आसानी से प्रसन्न किया जा सकता है । अगर किसी प्रकार की कोई समस्या न हो तो सुबह नहा धोकर शिवरात्रि के दिन मंदिर जाना चाहिए और वहां ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप करना बेहद जरुरी है ।

इतना ही नही इस दिन शिवलिंग को शहद, पानी और दूध के मिश्रण से स्नान कराने के बाद बेल पत्र, धतूरा, फल और फूल आदि अर्पित करने चाहिए। धूप और दीप जलाकर भगवान शिव की आरती करनी चाहिए। भोले बाबा को बेर अवश्य चढ़ाना चाहिए ऐसा करना बेहद ही शुभ माना जाता है। शिव महापुराण के अनुसार दूध, योगर्ट, शहद,घी, गुड़ और पानी यानी कि इन छह द्रव्यों से भगवान शिव का रुद्राभिषेक करने से वो अपने भक्त पर प्रसन्न हो जाते  हैं। मान्यता है कि जल से रुद्राभिषेक करने से शुद्धी, गु़ड़ से रुद्राभिषेक करने से खुशियां, घी से रुद्राभिषेक करने से जीत, शहद से रुद्राभिषेक करने से मीठी वाणी और योगर्ट से रुद्राभिषेक करने से समृद्धि की प्राप्ति होती है ।

 

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें