दस गुना ज्यादा लाभ मिलता है सावन माह में महामृत्युंजय मंत्र के जप से

Maha Mrityujaya mantra : om tryambakam yajamahe sugandhim pushtivardhanam in hindi

Maha Mrityujaya mantra : om tryambakam yajamahe sugandhim pushtivardhanam in hindi : पुराणों में महामृत्युंजय मंत्र के महात्मय का विस्तार से वर्णन है। चन्द्रमा को महामृत्यंजय मंत्र की कृपा से कोढ़ से मुक्ति मिली थी। महामृत्युंजय मंत्र (Maha mrityunjaya mantra) को मृत्यु को जीतने वाला मंत्र भी कहा जाता है। यजुर्वेद के रूद्र अध्याय में महादेव की अराधना के लिए इसी स्तुति का उपयोग किया गया है। इस मंत्र में आदिदेव महाशिव को मृत्यु पर भी विजय प्राप्त करने वाला बताया गया है। महामृत्युंजय मंत्र सनातन धर्म का सबसे महान मंत्र है। इसे गायत्री मंत्र के समकक्ष माना जाता है।

महामृत्यंजय मंत्र (Maha mrityunjaya mantra) के कई नाम और रूप हैं। इसे शिव के उग्र पहलू की ओर संकेत करते हुए रुद्र मंत्र कहा जाता है; शिव के तीन आँखों की ओर इशारा करते हुए त्रयंबकम मंत्र और इसे कभी कभी मृत-संजीवनी मंत्र के रूप में जाना जाता है क्योंकि यह कठोर तपस्या पूरी करने के बाद पुरातन ऋषि शुक्र को प्रदान की गई “जीवन बहाल” करने वाली विद्या का एक घटक है।


ऋषि-मुनियों ने महा मृत्युंजय मंत्र को वेद का ह्रदय कहा है। चिंतन और ध्यान के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले अनेक मंत्रों में गायत्री मंत्र के साथ इस मंत्र का सर्वोच्च स्थान है।

 

महामृत्युंजय मंत्र (Maha Mrityunjaya Mantra) :

ॐ ह्रौं जूं सः।

ॐ भूः भुवः स्वः।

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्‌।

उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात्‌।

स्वः भुवः भूः ॐ। सः जूं ह्रौं ॐ॥

 

महामृत्युंजय मंत्र (Maha Mrityunjaya) जपने से अकाल मृत्यु को टाला जा सकता है, परन्तु श्रावण मास में महामृत्युंजय मंत्र (Maha mrityunjaya mantra) का जाप 10 गुना अधिक फलदायी हो जाता है । यदि स्नान करते समय इस मंत्र का जप किया जाए तो स्वास्थ्य में लाभ होता है । यौवन की सुरक्षा हेतु दूध को निहारते हुए इस मंत्र का जप करने के बाद वही दूध पीना चाहिये|


ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि किसी महारोग या किसी भी प्रकार की बीमारी से मुक्ति पाने के लिए महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने से आपको रोगों से मुक्ति मिल सकती है। लगातार धन के नुकसान से उभरने के लिए इस मन्त्र का जाप असरदार होता है ।

संतान प्राप्ति के लिए सवा लाख महामृत्युंजय मन्त्र का जाप करवाना लाभप्रद साबित होता है।

Mahamrityunjaya Mantra 108 Times Chanting | Mahamrityunjaya Mantra With Lyrics | Lord Shiva

 


 

 

 


 

Read all Latest Post on धर्म कर्म dharm karam in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें
Title: 

mahamrityunjaya mantra in hindi in Hindi

 | In Category: धर्म कर्म dharm karam

Next Post

सावन माह शिव व शिवलिंग का महत्व

Wed Aug 8 , 2018
आखिर क्यों सावन माह में शिव, सोमवार और शिवलिंग का महत्व बढ़ जाता है ? दरअसल भगवान शिव को सावन मास, सोमवार तथा शिवलिंग ये तीनों अतिप्रिय है। जुलाई या अगस्त के महीने से सावन मास आरम्भ होता है, जिसके चलते इन महीना में अनेक महत्वपूर्ण त्योहार जैसे — ‘हरियाली […]
shivling importance in hindi- Sawan Month 2018

All Post


Leave a Reply