धर्म कर्म - बड़ी खबरें

धर्म कर्म

Navratri 2019: नौ दिनों में होती है मां के अलग अलग रूपों की पूजा

Chaitra Navratri 2019 सनातन धर्म में नवरात्र (Navratri 2019) माता भगवती की पूजा अर्चना करने का श्रेष्ठ समय होता है। पूरे भारत में नवरात्रि (Navratri) विशेष हर्षोल्लास से मनाया जाता है। पुराणों में भी नवरात्र की महिमा का बखान किया गया है। यूं तो वर्ष भर में चार नवरात्रें चैत्र, आषाढ़,
धर्म कर्म

जानिए, क्या है नवरात्रि का अर्थ और महत्व

प्रकृति के साथ हमारी चेतना के अंदर व्याप्त सतोगुण, रजोगुण और तमोगुण के उत्सव को ही नवरात्र कहते हैं। 9 दिनों तक चलने वाले इस उत्सव में पहले तीन दिन तमोगुणी प्रकृति की, दूसरे तीन दिन रजोगुणी और आखरी तीन दिन सतोगुणी प्रकृति की आराधना की जाती है, जिसका अपना ही महत्व है । नवरात्रि […]
धर्म कर्म

भारत के रहस्यमयी मन्दिर, जिनके बारे में जानकर हैरान रह जाएंगे आप

विश्व में भारत आस्था, धर्म और आध्यात्मिकता के लिए जाना जाता है। भारत में कई ऐसे रहस्यमयी मंदिर व धार्मिक स्थल है, जहां भारत से ही नहीं वरन अन्य देशों से भी लाखों लोग दर्शन करने के लिए आते रहते हैं। इन मंदिरों की धार्मिक महत्ता तो है ही, साथ ही साथ कुछ ऐसे रहस्य […]
आरती संग्रह

देवगुरु बृहस्पति देव की आरती

जय बृहस्पति देवा, ऊँ जय बृहस्पति देवा । छि छिन भोग लगाऊँ, कदली फल मेवा ॥ तुम पूरण परमात्मा, तुम अन्तर्यामी । जगतपिता जगदीश्वर, तुम सबके स्वामी ॥ चरणामृत निज निर्मल, सब पातक हर्ता । सकल मनोरथ दायक, कृपा करो भर्ता ॥ तन, मन, धन अर्पण कर, जो जन शरण पड़े । प्रभु प्रकट तब […]
आरती संग्रह

भगवान श्रीकृष्ण की आरती

परमानन्द मुरारी मोहन गिरधारी। जय रस रास बिहारी जय जय गिरधारी। कर कंकन कटि सोहत कानन में बाला। मोर मुकुट पीताम्बर सोहे बनमाला। दीन सुदामा तारे दरिद्रों के दुख टारे। गज के फंद छुड़ाए भवसागर तारे। हिरण्यकश्यप संहारे नरहरि रुप धरे। पाहन से प्रभु प्रगटे जम के बीच परे। केशी कंस विदारे नल कूबर तारे। […]
ज्योतिष

Holi ke totke: जो बना देंगे सारे बिगड़े काम

होलिका पूजन को लाभ की दृष्टि से देखा जाता है अर्थात माना जाता है कि होलिका की पूजा करने से व्यक्ति को शुभ फल की प्राप्ति होती है। साथ ही साथ कुछ ऐसे टोटके भी है जिन्हें अपनाने से नकारात्कमता को दूर कर के  बीमारियों से बचाव या शुभ फलों की प्राप्ति की जा सकती […]
आरती संग्रह

गायत्री माता की आरती

गायत्री माता की आरती जयति जय गायत्री माता, जयति जय गायत्री माता। आदि शक्ति तुम अलख निरंजन जगपालक कत्री। दुख शोक, भय, क्लेश दारिद्र दैन्य हत्री।। जयति जय गायत्री माता, जयति जय गायत्री माता। ब्रह्म रूपिणी, प्रणात पालिन जगत धातृ अम्बे। भव भयहारी, जन-हितकारी, सुखदा जगदम्बे।। जयति जय गायत्री माता, जयति जय गायत्री माता। भय […]
आरती संग्रह

श्री सूर्यदेव की आरती

जय कश्यप नन्दन, ऊँ जय अदिति नन्दन। त्रिभुवन तिमिर निकंदन, भक्त हृदय चन्दन॥ ऊँ जय कश्यप नन्दन। जय सप्त अश्वरथ राजित, एक चक्रधारी। दुखहारी, सुखकारी, मानस मलहारी॥ ऊँ जय कश्यप नन्दन। जय सुर मुनि भूसुर वन्दित, विमल विभवशाली। अघ-दल-दलन दिवाकर, दिव्य किरण माली॥ ऊँ जय कश्यप नन्दन। जय सकल सुकर्म प्रसविता, सविता शुभकारी। विश्व विलोचन […]
आरती संग्रह

माँ दुर्गा जी की आरती

अम्बे तू है जगदम्बे काली जय दुर्गे खप्पर वाली। तेरे ही गुण गायें भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती ॥ तेरे भक्त जनों पर माता, भीड़ पड़ी है भारी। दानव दल पर टूट पड़ों माँ करके सिंह सवारी। सौ-सौ सिंहो से बलशाली, अष्ट भुजाओं वाली, दुष्टो को पल में संहारती। ओ मैया हम […]
धर्म कर्म

यहाँ खेलते है महाश्मशान पर जलती चिताओ के बीच चिता भस्म से होली

भारत में यूं तो कई त्यौहार मनाये जाते हैं, मगर होली की कुछ बात ही अलग है, इस दिन लोग आपस के बैर भुलाकर एकदूसरे को गले लगाते हैं। होली को भारत के अलग अलग हिस्सों में अलग अलग तरह से मनाया जाता है, जैसे उत्तर प्रदेश की लठमार होली, उत्तराखंड की बैठकी होली, पंजाब […]