Lucknow, 15 अक्टूबर (एजेंसी)। सत्तारूढ़ भाजपा ने नितिन अग्रवाल को विधानसभा के डिप्टी स्पीकर के रूप में निर्वाचित कराने का मन बना लिया है, लेकिन उसकी सहयोगी अपना दल (एस) ने इस पद के लिए एक दलित या एक ओबीसी विधायक की मांग की है। उत्तर प्रदेश विधानसभा के डिप्टी स्पीकर का चुनाव 18 अक्टूबर को होना है।

अपना दल के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष और एमएलसी आशीष पटेल ने कहा कि वर्तमान में यूपी विधानसभा के स्पीकर और विधान परिषद के चेयरमैन के पद पर कोई भी ओबीसी और दलित समुदाय से संबंधित नहीं है। उन्होंने कहा, ऐसे में ओबीसी या एससी समुदाय के विधायक को राज्य विधानसभा का डिप्टी स्पीकर बनाया जाना चाहिए। इससे पिछड़ों और दलितों को एक अच्छा संदेश जाएगा।

ये भी पढ़े : शिवपाल की प्राथमिकता अभी भी सपा के साथ गठबंधन करना

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के पति आशीष पटेल ने कहा कि 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों के साथ-साथ केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार को 2017 यूपी विधानसभा चुनाव में सत्ता में लाने में पिछड़े और दलित समुदाय के लोगों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेश पटेल ने कहा कि भाजपा प्रदेश नेतृत्व को अपना दल की मांग पर गंभीरता से विचार करना चाहिए। पटेल ने कहा, हमने इस मुद्दे पर सरकार से अपनी मांग उठाई है। सरकार के पास संख्या है और वह इस मुद्दे पर फैसला करेगी।

इस बीच, सपा के बागी विधायक नितिन अग्रवाल को मैदान में उतारने के भाजपा सरकार के कदम से समाजवादी पार्टी नाखुश हैं और इस पद के लिए पार्टी के विधायक नरेंद्र वर्मा को मैदान में उतारने पर विचार कर रही है। समाजवादी पार्टी के विधायक नितिन अग्रवाल अपने पिता पूर्व सांसद नरेश अग्रवाल के साथ 2018 में भाजपा में शामिल हुए थे। नितिन अग्रवाल को अयोग्य ठहराने की समाजवादी पार्टी की याचिका हाल ही में खारिज कर दी गई थी।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें