• खट्टे फल पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं

  • लोग वजन घटाना चाहते हैं और हाई कैलोरी खाने से बचना चाहते हैं

  • एक कटोरी अंगूर में लगभग 90 कैलोरी होती है

रुटेशियस जीनस से संबंधित पेड़ और पौधों से निकलते हैं। इनकी खास बात ये है कि इनमें साइट्रिक एसिड की मात्रा हाई होती है और आमतौर पर ये रसदार और मांसल गूदा वाले होते हैं। खट्टे फल पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं। जो लोग वजन घटाना चाहते हैं और हाई कैलोरी खाने से बचना चाहते हैं, उनके लिए खट्टे फल बहुत फायदेमंद है। जैसे कि एक मध्यम आकार के नारंगी में लगभग 60 से 80 कैलोरी होती है, जबकि एक कटोरी अंगूर में लगभग 90 कैलोरी होती है। साथ ही इनमें सरल कार्बोहाइड्रेट ग्लूकोज, सुक्रोज और फ्रुक्टोज भी पाए जाते हैं। खट्टे फलों में पाए जाने वाले आहार फाइबर में पेक्टिन होता है जो कोलेस्ट्रॉल से बांधता है और इसे शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है।

संतरा

संतरा विटामिन ए, बी, सी, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, फोस्फोरस और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर है। ये एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं, जो कि इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ शरीर को मौसमी बीमारी से बचाते हैं।

अंगूर

अंगूर भी स्वाद में थोड़े खट्टे होते हैं। ये इम्यूनिटी बूस्टर है और विभिन्न प्रकार के रोगों से आपको बचाता है। दरअसल अंगूर में विटामिन सी की मात्रा पाई जाती है जो कि इम्यूनिटी बढ़ाने का गुण भी रखता है। इसलिए एक स्ट्रांग इम्यून सिस्टम के लिए अपनी डायट में अंगूर को जरूर शामिल करें।

कीनू

कीनू संतरा जैसा होता है पर इसका रंग संतरे से थोड़ा ज्यादा गहरा होता है। साथ ही साइज में भी ये संतरे से थोड़ा छोटा होता है। कीनू शरीर में सूजन को कम करने में सहायक है और फाइन रेडिकल्स के नुकसानों से शरीर को बचाता है। इसके अलावा ये कोशिकाओं के विकास को भी बढ़ावा देते हैं।

मौसंबी

मौसंबी खाना आपने मुंह के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद हैं। दरअसल, ये मसूड़ों की सूजन को कम करने में मदद करते हैं और स्कर्वी जैसे बीमारियों के लक्षणों को कम करते हैं।

चकोतरा

चकतोरा नींबू जैसा ही एक फल होता है, पर खट्टे प्रजातियों के फलों में सबसे कम खट्टा और थोड़ा ज्यादा मीठा होता है। चकोतरा का जूस पीने से शरीर में कैल्शियम, पोटेशियम और फॉस्फोरस की कमी नहीं होती है। ये पाचन संबंधी परेशानियों को कम करता है।

खट्टे फल के फायदे

लो कैलोरी

खट्टे फलों में कैलोरी की मात्रा कम होती है इसलिए कोई भी व्यक्ति इसे खा सकता है। सबसे ज्यादा ये वजन घटाने वाले लोगों के लिए फायदेमंद है। इसलिए अगर आप वजन घटाना चाहते हैं, तो अपने खाने में खट्टे फलों को जरूर शामिल करें।

फाइबर से भरपूर

घुलनशील फाइबर बोवल मूवमेंट को विनियमित करने में मदद करता है। ये पेट को साफ करने और कब्ज जैसी परेशानियों से बचाए रखने में मदद करता है। इसलिए अगर आपको कब्ज की परेशानी है, तो आपको खट्टे फलों को खाना चाहिए।

शरीर का पीएच बैलेंस करता है

खट्टे फल हमारे शरीर के प्रोसेस को तेज करने में मदद करते हैं। ये गुर्दे की पथरी की स्थिति को करने में मदद करते हैं। खट्टे फल या उनका रस गुर्दे की प्रणाली को क्षारीय करने में मदद करता है, जिससे शरीर का पीएच बदलता है और गुर्दे में पथरी की परेशानी को कम करता है।

खट्टे फल एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं

कई रोग या स्वास्थ्य स्थितियां मुक्त कणों के बेअसर न होने के कारण होती हैं। खट्टे फलों में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट शरीर और चेहरे को तनाव से लड़ने में मदद करते हैं और फाइन रेडिकल्स में कमी लाते हैं।

विटामिन से भरपूर होते हैं

खट्टे फल विशेष रूप से विटामिन सी में उच्च होते हैं। ये पोटेशियम और फास्फोरस से भी भरपूर होते हैं, जो कि आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में मदद करते हैं। इसके कारण आप मौसमी बीमारियों से आसानी से लड़ सकते हैं।

कोलेजन बढ़ाता है

विटामिन सी कोलेजन उत्पादन में मदद करता है। कोलेजन हमारे बालों की त्वचा और नाखूनों में सबसे व्यापक रूप से पाया जाने वाला प्रोटीन है। जब हमारी उम्र बढ़ने लगती है, तो शरीर में कोलेजन उत्पादन कम होने लगता है। जिससे बालों और त्वचा में बदलाव आता है। इसलिए विटामिन सी का सेवन बालों और त्वचा आदि को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है।

कैल्शियम से भरपूर है

खट्टे फल अन्य पोषक तत्वों को बेहतर तरीके से शरीर में अवशोषित करने में मदद करते हैं। उदाहरण के लिए  कैल्शियम, कैटेचिन के अवशोषण में विटामिन सी बहुत फायदेमंद हैं। इसके अलावा ये आयरन के अवशोषण में सहायक होते हैं जो हमारे रेड ब्लड सेल्स को बेहतर बनाता है।

खट्टे फल पोटेशियम से भरपूर होते हैं

खट्टे फल पोटेशियम से भरपूर होते हैं, जो कि आपके दिल के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद हैं। पोटेशियम मांसपेशियों के संकुचन, द्रव विनियमन आदि के लिए अच्छा है। साथ पोटेशियम से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करने से स्ट्रोक का खतरा कम होता है।

पानी की कमी से बचाते हैं

खट्टे फल शरीर में हाईड्रेशन की स्थिति को बनाए रखने में मदद करते हैं क्योंकि इनमें  80-90 प्रतिशत तक पानी होता है। आप इसका जूस पिएं या आप इन्हें खाएं, ये शरीर में पानी की कमी नहीं होने देंगे।

पार्किंसंस और अल्जाइमर से बचाते हैं

कुछ अध्ययनों से पता चला है कि खट्टे फलों का सेवन संज्ञानात्मक कार्य को बेहतर बनाने में मदद करता है जिससे, पार्किंसंस और अल्जाइमर जैसे मानसिक रोगों के खतरे को कम होता है। यह क्वैरसेटिन नामक एक फ्लेवनॉइड से भी भरपूर है, जो कि शरीर में पुरानी सूजन को कम करने में फायदेमंद है।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें