Health benefits of plum: 10 reasons to eat more plums : टमाटर की रंगत लिए महरून रंग का फल आलूबुखारा तो आप लोगों ने खूब खाया होगा। गर्मियों के मौसम में लोग इस फल को बड़े चाव से खाते हैं। स्वाद में खट्टा मीठा लगने वाला यह रेशेदार मौसमी फल कई लाभप्रद गुणों से परिपूर्ण होता है। आइए खुलासा डॉट इन में जानते हैं आलूबुखारा के गुणों के बारे में।

जिन लोगों को कब्ज की शिकायत रहती है उन्हें प्रतिदिन आलूबुखारा के सेवन करना चाहिए। आलूबुखारे का रोज सेवन न सिर्फ कब्ज की बीमारी में राहत दिलाता है बल्कि पेट को साफ करने में मदद करता है। प्रोटीन मिनरल और आयरन जैसे पोषक तत्‍वों से भरपूर आलूबुखारा सेहत के साथ साथ त्वचा  के लिए भी फायदेमंद होता है।

आलूबुखारे में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट चेहरे पर मुंहासों के दाग व चेहरे के कालेपन को दूर करने में  में मदद तो करता ही है साथ में चेहरे के ब्‍लड सर्कुलेशन को भी बढाता है जिसके कारण त्‍वचा में ग्‍लो आता है। आलूबुखारे में मौजूद विटामिन सी त्‍वचा को चमकदार व रंगत में निखार लाता है। यदि आप  धूप की खतरनाक किरणों से बचाव करना चाहते है तो प्रोटीन युक्त आलूबुखारे को आहार में जरूर शामिल करे ।

विटामिन्‍स से भरपूर आलूबुखारे के सेवन से चहेरे पर पड़ने वाली असमय झुर्रियां से चेहरे को बचाता है तथा आलूबुखारे के गूदे से चेहरे की मसाज करने पर चेहरे को लंबे समय तक जवां रखा जा सकता है। आलूबुखारे के बीज को पीसकर पानी के मिक्‍स करके बालों की जड़ों में लगाने से डैंड्रफ और डैंड्रफ से होने वाली खुजली हमेशा के लिए खत्म हो जाती है । आलूबुखारे में मौजूद विटामिन और प्रोटीन की ज्‍यादा मात्रा बालों को मजबूत और घना बनाते है।

आलूबुखारे में अन्य फलों की तुलना में काफी कम कैलोरी होती है। इस कारण इसका सेवन वजन को नियंत्रित करने में सहायक होता है। आलूबुखारे में सैच्युरेटेड फैट या संतृप्त वसा बिल्कुल भी नहीं होता,जिससे इसे खाने के बाद आपको पोषक तत्व भी मिलते हैं, और वजन भी नहीं बढ़ता। आलूबुखारा डायट्री फाइबर से भरपूर होता है, जिसमें सार्बिटॉल और आईसेटिन प्रमुख हैं। खासतौर पर यह फाइबर्स, शरीर के अंगों के क्रियान्वयन को सरल बनाते हैं, और पाचन क्रिया को भी दुरूस्त करते हैं।

आलूबुखारे का सेवन रक्त को थक्का बनने से रोकता है,जिससे ब्लडप्रेशर और हृदय रोगों की संभावना कम होती है। इसके साथ ही अल्जाइमर के खतरे को कम करता है। आलूबुखारे का सेवन न सिर्फ मुंह के कैंसर से बचाने में साहयक होता है बल्कि अस्थमा जैसे रोगों को रोकने में मददगार होता है। छिलके के साथ आलूबुखारे का सेवन, ब्रेस्ट कैंसर को रोकने में सहायक होता है। यह कैंसर और ट्यूमर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है।

महिलाओं को भी आलूबुखारे का सेवन काफी फायदा पहुंचाता है। महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने में आलूबुखारा बेहद सहायक है। रजोनिवृत्ति के उपरांत महिलाएं आलूबुखारे का सेवन करें तो वे स्वयं को ओस्टियोपोरेसिस से बचा सकती हैं। प्रतिदिन आलूबुखारा खाने और इसका गूदा चेहरे पर लगाने से चेहरे पर प्राकृतिक चमक आती है, साथ ही त्वचा को सभी पोषक तत्व मिलते हैं, जिससे वह स्वस्थ रहती है ।

आलूबुखारे में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स आपकी त्वचा के साथ ही दिमाग को भी स्वस्थ रखने में सहायता करते हैं। यह आपके तनाव को कम करने में भी अहम भूमिका निभाता है। आलूबुखारे का सेवन बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, और इम्यूनिटी को बढ़ाता है। आलुबुखारे में आयरन की मात्रा होती है जो ब्लड सेल्स के निर्माण में मदद करती है। पोटेशियम की बहुतायत होने से शरीर के सेल्स स्ट्रांग बनते हैं और ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है।

 

 

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें