नेपाल ने भारत से सीमा विवाद के बीच नया मानचित्र बनाते हुए लिपुलेख, कालापानी को किया शामिल

Nepal included Lipulekh, Kalapani to create new map amidst border dispute with India
  • नए मानचित्र में लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा को नेपाली क्षेत्र में दिखाया

  • भारत के साथ सीमा विवाद को सुलझाने के प्रयास जारी

  • शाह ने कहा यह नया कदम नेपाल और भारत के बीच ऐसे समय में अनावश्यक तनाव पैदा करेगा

काठमांडू, 20 मई (एजेंसी)। भारत के साथ चल रहे सीमा विवाद के बीच नेपाल के कैबिनेट ने एक नया राजनीतिक मानत्रिच स्वीकार करते हुए लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा को नेपाली क्षेत्र में दिखाया है। हालाँकि विदेश मंत्री प्रदीप कुमार गयावली ने पहले ही कहा था कि कूटनीतिक पहलों के जरिए भारत के साथ सीमा विवाद को सुलझाने के प्रयास जारी हैं। बता दे कि नेपाल की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के सांसदों ने कालापानी, लिम्पियाधुरा और लिपुलेख को नेपाल की सीमा में लौटाने की मांग करते हुए संसद में विशेष प्रस्ताव भी रखा था।वहीँ नेपाल द्वारा ऐसा कदम उठाये जाने के बाद सत्तारूढ़ पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की स्थायी समिति के सदस्य गणेश शाह ने कहा कि यह नया कदम नेपाल और भारत के बीच ऐसे समय में अनावश्यक तनाव पैदा करेगा जब देश कोरोना वायरस से लड़ रहा है।

लिपुलेख दर्रा नेपाल और भारत के बीच विवादित सीमा, कालापानी के पास एक दूरस्थ पश्चिमी स्थान है। भारत और नेपाल दोनों कालापानी को अपनी सीमा का अभिन्न हिस्सा बताते हैं। भारत उसे उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले का हिस्सा बताता है और नेपाल इसे धारचुला जिले का हिस्सा बताता है। गयावली ने कहा कि भूमि प्रबंधन मंत्रालय जल्द ही नेपाल का आधिकारिक मानचित्र सार्वजनिक करेगा। उन्होंने सोमवार को ट्विटर पर कहा कि मंत्री परिषद ने नेपाल के सात प्रांतों, 77 जिलों और लिमपियाधुरा, लिपुलेख और कालापानी समेत 753 स्थानीय स्तर के प्रशासनिक संभागों में नेपाल का मानचित्र प्रकाशित किया जाने का फैसला लिया है।


गयावली ने भारतीय राजदूत विनय मोहन क्वात्रा को पिछले हफ्ते तलब किया था और उत्तराखंड में धारचुला के साथ लिपुलेख को जोड़ने वाले प्रमुख मार्ग के निर्माण के खिलाफ विरोध जताने के लिए कूटनीतिक नोट सौंपा था। भारत ने कहा था कि उत्तराखंड के पिथौड़ागढ़ जिले में हाल में उद्घाटित सड़क मार्ग पूरी तरह उसकी सीमा के भीतर आता है। नेपाल के वित्त मंत्री एवं सरकार के प्रवक्ता युवराज खाटीवाड़ा ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल ने देश के नये राजनीतिक मानचित्र क स्वीकृत किया है। संस्कृति, पर्यटन एवं नागर विमानन मंत्री योगेश भट्टाराय ने कहा कि कैबिनेट के फैसला स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा।

Read all Latest Post on अंतरराष्ट्रीय international in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें
Title: nepal included lipulekh kalapani to create new map amidst border dispute with india in Hindi  | In Category: अंतरराष्ट्रीय international

Next Post

मजदूरों को लेकर यूपी सरकार और कांग्रेस के बीच खींचतान

Wed May 20 , 2020
मंगलवार की रात कांग्रेसी नेता बसों को ग्रेटर नोएडा के एक्स्पो मार्ट लेकर जा रहे थे पुलिस प्रशासन और एआरटीओ ने महामाया के पास बस को रोका कांग्रेस के उपाध्यक्ष पंकज मलिक समेत 20 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज नोएडा, 20 मई (एजेंसी)। एक तरफ पूरी दुनिया करोना वायरस जैसे […]
Tussle between UP government and Congress over workers

All Post