• ड्रोन द्वारा 10-15 मीटर की दूरी से लोगों की मैपिंग संभव

  • कोरोना फ्रंटलाइन वारियर्स के लिए थर्मल कोरोना कॉम्बैट हेडगियर तैयार किया

  • कोरोना कॉम्बैट हेड गियर कोरोना वरियर्स के लिए वरदान जैसा

नई दिल्ली 06 जुलाई (एजेंसी) इंडियन रोबो स्टोर ग्रुप का हिस्सा इंडियन रोबोटिक्स सॉल्यूशन ने ‘थर्मल कोरोना कॉम्बैट ड्रोन- टीसीसीडी’ नामक एक पेंटा-परफॉर्मर ड्रोन का सफलतापूर्वक और सफल परीक्षण किया है, जो कोविड-19 के दौरान पांच समस्याओं के समाधान का काम करता है जिसमे सैनिटाइजेशन करना, थर्मल स्क्रीनिंग करना, घोषणा करना, दवा पहुंचाना और दिन-रात निगरानी रखना शामिल हैं।

ड्रोन द्वारा 10-15 मीटर की दूरी से लोगों की मैपिंग संभव

इंडियन रोबोटिक्स सॉल्यूशन के फाउंडर सागर गुप्ता नौगरिया के मुताबिक कोरोना जैसी  जानलेवा बीमारी से ग्रस्त व्यक्तियों की पहचान के लिए हमने एक ऐसा ड्रोन बनाया है जो रात में भी लोगों के शरीर का तापमान मापने में सक्षम है। इसके लिए इस ड्रोन में नाइट विजन कैमरा लगाए गए हैं। यह ड्रोन 10-15 मीटर की दूरी से पूरे सटीक तरीके से लोगों की मैपिंग कर सकता है। यह तीन घंटे में लगभग 300 लोगों की थर्मल मैपिंग कर सकता है।

कोरोना फ्रंटलाइन वारियर्स के लिए थर्मल कोरोना कॉम्बैट हेडगियर तैयार किया

एक बार प्रोटोटाइप पूरी तरह से पूरा होने पर तीन घंटे में 600 लोगों तक की थर्मल मैपिंग की जा सकती है। इसके अलावा संदिग्ध व्यक्ति की पहचान के लिए डे विज़न कैमरा का उपयोग किया गया है, संदिग्ध व्यक्ति को दूसरे टेस्ट्स के लिए ले जाने के बाद उस एरिया को सेनेटाईज करने के लिए कीटाणुनाशक टैंक का इस्तेमाल किया गया है, निर्देश देने के लिए लाउडस्पीकर और दवाओं या पोर्टेबल कोविड परीक्षण किट जैसी आवश्यक सामग्री ले जाने के लिए एक मेडिकल बॉक्स भी इस ड्रोन में फिट किया गया है। इस अनोखे ड्रोन के बाद हाल ही में कोरोना फ्रंटलाइन वारियर्स के लिए इंडियन रोबोटिक्स सॉल्यूशन ने थर्मल कोरोना कॉम्बैट हेडगियर को तैयार किया है। इस हेडगियर की मदद से पुलिसकर्मी से लेकर मेडिकल और सिक्योरिटी स्टाफ 3 से 4 मीटर की दूरी से ही लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग करने में सक्षम होंगे। इस हेडगियर से एक दिन में 4 से 5 हजार लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा सकती है।

कोरोना कॉम्बैट हेड गियर कोरोना वरियर्स के लिए वरदान जैसा

लॉकडाउन के खत्म होने के बाद कई चीजों की छूट दी गई है जिसके बाद सड़कों पर आने वाले लोगों की संख्या पहले से काफी बढ़ी है। इस बीच जगह-जगह थर्मल स्क्रीनिंग कर रहे पुलिस वालों या सिक्योरिटी स्टाफ के लिए बार-बार हर व्यक्ति के पास जाकर थर्मल स्क्रीनिंग करने से कोरोना के संक्रमण का खतरा ज्यादा रहता है। ऐसे में इस कोरोना कॉम्बैट हेड गियर हमारे कोरोना वरियर्स के लिए वरदान साबित हो सकता है। सागर गुप्ता नौगरिया ने बताया कि हमें विभिन्न सरकारों और स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा संपर्क किया गया है जिन्होंने बड़े पैमाने पर इसके इस्तेमाल के लिए रूचि दिखाई है।

Amitabh appealed to wear a mask by writing a poem

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें