एडवेंचर टूरिज्म को बढ़ावा देने के मकसद से टूरिज्म डिपार्टमेंट और साइकलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से माउंटेन बाइकिंग प्रतियोगिता 8 अप्रैल 2017 से शुरू होगी जो 16 अप्रैल तक चलेगी। 8 अप्रैल से शुरू होने जा रही द अल्‍टीमेट उत्‍तराखंड हिमालयन एमटीबी चैलेंज के तीसरा संस्‍क्‍रण की प्रतियोगिता […]

नई दिल्ली। घर बैठे पैसे कमाने का सुनहरा मौका ! बिना कुछ करे हर लाइक पर कमाए पांच रुपए! चौंक गए न, जी हां ऐसा ही कुछ लालच देकर नोएडा के एक महाठग अनुभव मित्तल ने लोगों के करीब 37 अरब रुपए ठग लिए और जब ठगी के शिकार लोग […]

आसमान तक ऊंचे रेत के धोरे और रेत की ही सुनहरी चादर में लिपटी जमीन. दूर-दूर तक दिखता रेत का अनंत सैलाब या फिर नीला सूना अंबर जिसके दामन में अक्सर बादल का एक टुकड़ा भी नहीं होता. राजस्थान कहते ही इसके अलावा याद आता है बलिदान, शौर्य और अदम्य […]

पैगन आंदोलन विश्व के शुभ भविष्य का निर्धारक तत्व है। विश्व में सनातन धर्म की पुन: प्रतिष्ठा करेगा। इसके महत्व को समझना भारतीयों यानी हिन्दुओं के लिए अत्याधिक आवश्यक है क्योंकि पूरी दुनिया के पैगन आज उसकी ओर आस लगाए देख रहे हैं। पैगन शब्द का प्रयोग क्रिश्चियन्स ने ग्यारहवी […]

23 साल से गैरकानूनी होने के बावजूद आज भी देश भर में लगभग सात लाख लोग रोजाना अपने सर पर मैला ढोने को मजबूर हैं ‘इस नरक में रहना ही हमारी मजबूरी है. एक बार फैसला किया था कि दोबारा यह गंदा काम नहीं करेंगे. लेकिन हालात ऐसे बन गए […]

पहले  पहल जब सिनेमा बनना  शुरू हुआ तो उसके दिखाने के तरीके भी गढ़े जा रहे थे.1932 में दुनिया का पहला फिल्म फेस्टिवल इटली के वेनिस शहर में आयोजित हुआ। सिनेमा को अकेले अपने लैपटॉप या डेस्कटॉप में घर में गूंजती कई आवाजों के बीच देखना , सिनेमा को एक सही हाल में पर्याप्त अँधेरे और अच्छे प्रोजक्शन […]

यह 2011 साल का सितम्बर महीना था जब जबलपुर से निकलने वाली प्रतिष्ठित हिंदी साहित्यिक पत्रिका ‘पहल’ ने दो दिन की सिनेमा कार्यशाला ‘प्रतिरोध का सिनेमा अभियान’ के साथ मिलकर आयोजित की थी. प्रतिरोध का सिनेमा की तरफ से मैंने और दस्तावेज़ी फ़िल्मकार संजय काक ने पांच सत्रों की कार्यशाला […]

रोहित वेमुला की आत्महत्या के बाद दलित मुद्दे और दलित आबादी एक बार फिर से बहस के केंद्र में आ गयी. हैदराबाद सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी के एस एन कम्युनिकेशन स्कूल द्वारा निर्मित डिप्लोमा फ़िल्म ‘आई एम नागेश्वर राव स्टार’ को देखना अनुभव और यथार्थ के एकदम नए धरातल पर हमें ले […]

लोबसेंग फुन्स्तोक एक पूर्व तिब्बती साधु हैं। उन्होंने पवित्र दलाई लामा के साथ प्रशिक्षण लिया और वर्षों तक पश्चिमी देशों में बौद्ध धर्म और ध्यान की शिक्षा दी। 2006 में वह साधु का चोला उतारकर भारत में अपने जन्म स्थान अरुणाचल प्रदेश लौट आये। यहां आकर उन्होंने हिमालय की तलहटी […]

हिन्दुस्तान के इतने विशाल सिनेमा उद्योग द्वरा हर साल निर्मित की जा रही फीचर फिल्मों के बरक्स दस्तावेज़ी सिनेमा का संसार निर्माण की तुलना में बहुत छोटा है या यह कहना कि दोनों माध्यमों की तुलना ही बेकार है एकदम सटीक बात होगी. लेकिन फिर भी कुछ बात है जिसकी […]

All Post