बैंकों के 9000 करोड़ रुपए लेकर विदेश भागे कारोबारी विजय माल्या को तो अब भगौड़ा भी घोषित किया जा चुका है। सुप्रीम कोर्ट भी विदेशों में माल्या की संपत्ति का उनसे ब्योरा मांग रही है। इसी बीच विजय माल्या के घोड़े ने भी सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय की नाक में दम कर दिया है।

जांच के बाद सामने आए तथ्यों के आधार पर सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय का मानना है कि शायद ये घोड़ा भी आईडीबीआई से लिए गए लोन एक हिस्से से खरीदा गया था। आपको बता दें कि इस घोडे को विजय माल्या ने 9 करोड़ रुपए में खरीदा था।

माल्या के इस घोड़े नाम एयर सपॉर्ट है, जिसे उन्होंने 2014 में अमेरिका से खरीदकर बेंगलुरु के पास स्थिति अपनी फार्म में रखा था। विजय माल्या से वसूली की प्रक्रिया होने पर प्रवर्तन निदेशालय इस घोड़े को जब्त करने के लिए कदम उठाएगा।

पहली बार जिंदा असेट से निपट रही एजेंसी

ऐसा पहली बार है जब एजेंसी किसी लाइव (जिंदा) असेट से निपट रही है। आईडीबीआई के लोन (Loan) से घोड़ा खरीदने की बात से काफी लोग चौंक गए हैं। एक तरफ ठप हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस के कर्मचारियों को उनकी सैलरी नहीं दी गई है, वहीं दूसरी ओर अरबपित माल्या ने घोड़ा खरीदने में 9 करोड़ रुपए लगा दिए।

घोड़े की यह जानकारी सीबीआई (SBI) के हाथ संयोग से लगी है। दरअसल माल्या के खिलाफ सीबीआई की एफआईआर में आईडीबीआई के लोन से 9,07,85,262 रुपए खर्च करके ‘क्लाइंबर एयर सपॉर्ट’ खरीदने की बात थी। यह बात सीबीआई जांच के दौरान हुई रिकवरी में मिले दस्तावेजों से सामने आई। शुरुआत में इस पर किसी ने यह सोचकर ध्यान नहीं दिया कि यह एयरक्राफ्ट का कोई हिस्सा होगा।

जब प्रवर्तन निदेशालय ने जांच की तो पता चला की एयर सपॉर्ट घोड़े का नाम है। इसे अमेरिका के एक हॉर्स ब्रीडर और रेसर अपने फॉर्म के घोड़ों के प्रजनन के लिए खरीदा था।

 

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें