नई दिल्ली, 24 जनवरी (एजेंसी)। तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ करीब दो महीने से आंदोलन कर रहे किसान 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर रैली निकालने वाले हैं। दिल्ली पुलिस ने इसके लिए शर्तों के साथ इजाजत दे दी है। रविवार को दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी दीपेंद्र पाठक ने कहा कि किसान रैली दिल्ली के तीन मुहाने से शुरू होगी।

यह भी पढ़ें : Indian Corona vaccine : पूरी दुनिया में बज रहा मेक इन इंडिया वैक्सीन का डंका, भारत की वैक्सीन मैत्री से पड़ोसी देश गद्गद्

सिंघु बॉर्डर से सिंघु बॉर्डर से 62 किलो मीटर का रूट, टिकरी बॉर्डर से 63 किलो मीटर का रूट और गाजीपुर बॉर्डर से 46 किलो मीटर का रूट है। इस दौरान दिल्ली के अंदर कुछ दूर तक जाने की इजाजत होगी। उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता सुरक्षा देना है और शांतिपूर्ण तरीके से ट्रैक्टर रैली को संपन्न करवाना है। दीपेंद्र पाठक ने यह भी कहा कि पाकिस्तान से कुल 308 ट्विटर हैंडल किसान ट्रैक्टर रैली को प्रभावित करने के लिए काम कर रहे हैं।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी ने कहा कि किसान ट्रैक्टर रैली को लेकर किसान नेताओं और दिल्ली पुलिस के अधिकारियों संग बैठक हुई। हमने संयुक्त किसान मोर्चा के साथ लंबी और कई दौर की बातचीत की। हमने अनुरोध किया कि गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय गौरव का विषय है, इसका ध्यान रखा जाए। उन्होंने बताया कि संयुक्त किसान मोर्चा और अन्य किसान प्रतिनिधियों के साथ अच्छी बातचीत हुई।

दीपेंद्र पाठक ने कहा कि किसानों की इच्छा थी कि गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालें। हमने इसका ध्यान रखते हुए दिल्ली के तीन मुहाने सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर से रैली निकालने की इजाजत दे दी है। उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर रैली को भी सुरक्षा देना हमारी प्राथमिकता है। शांति व्यवस्था के साथ ही सभी को सुरक्षित रखने पर बात हुई।

यह भी पढ़ें : Kisan Andolan : 21 जिलों के किसान नासिक से मुंबई तक रैली निकाली, कल सभा करेंगे

दिल्ली पुलिस स्पेशल सीपी ने कहा कि ट्रैक्टर रैली को भी नुकसान पहुंचाने की इनपुट्स मिली है। अगर सिर्फ 13 से 18 जनवरी तक के सोशल मीडिया रिव्यू को देखें तो 308 ट्विटर हैंडल पाकिस्तान से चल रहे हैं। इनकी कोशिश ट्रैक्टर रैली को प्रभावित करने की है। उन्होंने बताया कि हरियाणा और यूपी पुलिस के साथ ही चर्चा हुई है क्योंकि ट्रैक्टर रैली के कुछ हिस्से इन दोनों राज्यों में भी पड़ेंगे। हम नियम-कानून के साथ सुरक्षा का माहौल देने की कोशिश में हैं। वहीं इससे पहले दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने सभी अफसरों को एक लिखित निर्देश जारी किया है और कहा है कि ट्रैक्टर रैली को लेकर अलर्ट पर रहें।

किसान ट्रैक्टर रैली पर एक निजी चैनल से बात करते हुए योगेंद्र यादव ने कहा कि दिल्ली नहीं, दिल जीतने आ रहे हैं। किसान पांच रूट पर ट्रैक्टर रैली निकालेंगे। पांच रूट पर इजाजत दी गई है। पुलिस ने इसके लिए लिखिल इजाजत दे दी है। यादव ने कहा कि किसान शांति पूर्ण तरीके से रैली निकालेंगे। कोई हथियार नहीं रहेगा। उन्होंने बताया कि कम से कम एक लाख ट्रैक्टर इस रैली में शामिल होंगे। हालांकि दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिर्फ तीन रूट्स की ही जानकारी दी।

यह भी पढ़ें : Whatsapp new policy : सावधान! क्या वाट्सएप बनेगा बेईमान ?

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने एक निजी न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि किसान बिंदुवार चर्चा नहीं कर रहे हैं। कृषि कानून को रद्द करना विकल्प नहीं है। उन्होंने कहा कि किसानों के प्रदर्शन के लिए 365 दिन हैं, किसान चाहें तो किसी और दिन ट्रैक्टर रैली निकाल लें और 26 जनवरी के दिन ऐसा न करें। गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय त्योहार है। तोमर ने कहा कि किसानों को सरकार के प्रस्ताव पर विचार करना चाहिए। सरकार वार्ता के लिए तैयार है और अपने प्रस्ताव पर कामय है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कोई ताकत है जो नहीं चाहती कि किसान आंदोलन खत्म हो।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें