• बासु दा का जन्म 30 जनवरी 1930 को राजस्थान के अजमेर में हुआ

  • बड़े भाई के साथ फिल्मों का ऐसा शौक लगा जो कभी फीका नहीं हुआ

  • मिडिल क्लास फैमिली की गुदगुदाती और रोमांटिक कॉमेडी फिल्मों के निर्देशन के लिए जाने गये बासु

मुंबई 4 जून (एजेंसी)  बासु दा उर्फ़ बासु चटर्जी का जन्म 30 जनवरी 1930 को राजस्थान के अजमेर में हुआ था, परन्तु उनकी परिवरिश मथुरा में हुयी।  बासु दा के परिवार में चार भाई और दो बहनें थीं। बताया जाता है कि उन्हें फिल्मों का शौक भी अपने बड़े भाई के कारण ही लगा । बासु ने तक़रीबन सात साल की उम्र से अपने बड़े भाई के साथ फिल्में देखने जाने लगे थे। उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि उन दिनों मथुरा में एक ही थिएटर हुआ करता था, वहां जितनी भी फिल्में लगती थीं बासु सभी देखते थे । पढ़ने में ठीकठाक परन्तु खेल-कूद और फिल्में देखने में उनका मन बहुत रमता था ।

बासु दा ने एक अन्य इंटरव्यू में बताया कि उनकी रूचि निर्देशन में कभी नहीं थी, वो आम लोगों की तरह सिर्फ फ़िल्में देखने के शौक़ीन थे। उनका मुंबई आना, फिल्म सोसायटी मूवमेंट से जुड़ना और वहां अलग-अलग भाषाओं की अच्छी-अच्छी फिल्में देखने के बाद उनका रुझान  फिल्में बनाने की ओर हुआ । 90 वर्षीय बासु चटजी ने मिडिल क्लास फैमिली की गुदगुदाती और रोमांटिक कॉमेडी फिल्मों से बॉलीवुड को ऐसे सजाया कि जब तक बॉलीवुड रहेंगा उनकी फिल्मों की महक से महकता रहेगा । जितनी बेहतरीन इनकी फ़िल्में रही उतना ही कर्णप्रिय उन फिल्मों का संगीत । उनकी ऐसी ही कुछ खास फ़िल्में हम आपको बताने जा रहे है –

छोटी सी बात

अमोल पालेकर और विद्या सिन्हा अभिनीत फिल्म छोटी सी बात बॉलीवुड की सबसे बेहतरीन रोमांटिक कॉमेडी फिल्मों में मानी जाती है । इस फिल्म का निर्देशन करने के अलावा फिल्म की कहानी भी बासु चटर्जी ने ही लिखी थी जिसके लिए उन्हें बेस्ट स्टोरी के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड से नवाजा भी गया। फिल्म की कहानी एक ऐसे युवक की है जो अपने प्रेम का इजहार नहीं कर पाता, ऐसे में वो एक रिटायर्ड आर्मी ऑफिसर की मदद लेता है । यह फिल्म आज भी देखी जाए तो उतनी ही तरोताजा जितनी 1975 में अपनी रिलीज के दौरान थी ।

हमारी बहू अलका

राकेश रोशन, उत्पल दत्त और बिंदिया गोस्वामी स्टारर हमारी बहु अलका एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है जिसमे उन यंग कपल को दिखाया गया है जो शादी के बाद थोड़ी प्राइवेसी चाहते है, पर ये राह इतनी आसान नहीं होती, और फिल्म में बासु ने इसे बड़े मज्जेदार तरीके से दिखाया है ।

बातों बातों में

अमोल पालेकर और टीना मुनीम अभिनीत फिल्म बातों बातों में ऐसी फिल्म है जिसे विशेषकर युवा वर्ग को ध्याम में रखकर लिखा गया है, फिल्म में दो प्रेमियों की रोजमर्रा की परेशानियों, कमिटमेंट को लेकर डर और पेरेंट्स के हस्तक्षेप जैसे हर प्रेम कहानी में दिखने वाले मुद्दों को बहुत ही बेहतरीन तरीके से दिखाया गया है । फिल्म का गीत संगीत आज भी कर्णप्रिय है, विशेषकर कहिए कहिए सुनिए और न बोले तुम न मैंने कुछ कहा ।

खट्टा-मीठा

फिल्म बातों बातों में के बाद खट्टा मिट्ठा एक ऐसी फिल्म है जिसका यदि ज़िक्र न किया जाए तो बेईमानी सा लगता है । अशोक कुमार, राकेश रोशन, बिन्दिया गोस्वामी, राजू श्रेष्ठ, देवेन वर्मा, प्रीति गाँगुली, रंजीत चौधरी, विमल साहू, पर्ल पदम्सी, प्रदीप कुमार, केष्टो मुखर्जी, डेविड अब्राहम, रूबी मेयरजैसी लम्बी चौड़ी स्टार कास्ट वाली इस फिल्म की कहानी लिखने के साथ साथ निर्देशन भी बासु ने ही किया था ।

फिल्म की कहानी दो अलग अलग परिवार के एक होने की है, पर समस्या ये है कि दोनों परिवार के बुर्जुग एक दूसरे से शादी करना चाहते है और उनके बच्चे इस रिश्ते हो अपना पाते है या नहीं यहीं फिल्म का मनोरंजक भाग है । इस फिल्म की रिलीज के कई साल बाद निर्देशक रोहित शेट्टी ने फिल्म गोलमाल 3 में इसी विषय को लेकर फिल्म बनायीं, हालाँकि खट्टा मिट्ठा के मुकाबले रोहित इस फिल्म 10% भी नहीं बना पाए  ।

चमेली की शादी

अनिल कपूर और अमृता सिंह स्टारर चमेली की शादी की कहानी है एक शौकिया पहलवान चरणदास और एक कोयला गोदाम मालिक की बेटी चमेली की है, जो एक-दूसरे के प्यार में हैं, मगर जब इसकी भनक इन दोनों के परिवार को लगती है, असली कहानी और मज्जेदार पल समेटने में कामयाब होती है ।

इसके अलावा बासु चटर्जी की सारा आकाश, पिया का घर, रजनीगंधा, चितचोर, दिल्लगी, दो लड़के दोनों कड़के, मन पसंद, शौक़ीन, लाखों की बात और एक रुका हुआ फैसला जैसी बेहतरीन फिल्मों का गुलदस्ता बॉलीवुड को दिया है, जिससे बॉलीवुड हमेशा महकता रहेगा   ।

Read all Latest Post on खेल sports in Hindi at Khulasaa.in. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए khulasaa.in को फेसबुक और ट्विटर पर ज्वॉइन करें